भारत के साथ रक्षा व विदेश मंत्री स्तरीय बातचीत के एक दिन बाद जापान ने उम्मीद जताई

भारत के साथ रक्षा व विदेश मंत्री स्तरीय बातचीत के एक दिन बाद जापान ने उम्मीद जताई

भारत के साथ अपनी पहली रक्षा व विदेश मंत्री स्तरीय बातचीत के एक दिन बाद रविवार (1 दिसंबर) को जापान ने उम्मीद जताई कि कश्मीर मामले का एक शांतिपूर्ण निवारण निकाला जाएगा.

जापान के विदेश मंत्रालय के उप प्रेस सचिव अत्सुशी कैफु ने बोला कि उनकी सरकार ने कश्मीर की स्थिति को बहुत ध्यान से देखा है व उसे इस मामले पर लंबे समय से चल रहे मतभेदों के बारे में पता है.

कैफु से जब यह पूछा गया कि क्या बातचीत के दौरान कश्मीर मामले पर भी वार्ता हुई, तो उन्होंने कहा, "मुझे याद नहीं कि मंत्रियों ने किसी विशिष्ट मामले पर विस्तृत चर्चा की हो."

उन्होंने कहा, "फिलहाल, मैं यही कह सकता हूं कि हम वहां की स्थिति को बहुत ध्यान से देख रहे हैं. हम कश्मीर के विषय में लंबे समय से चले आ रहे मतभेदों से अवगत हैं. हमें उम्मीद है कि वार्ता के माध्यम से शांतिपूर्ण निवारण निकाला जाएगा."

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक सहभागिता (आरसीईपी) में शामिल नहीं होने के हिंदुस्तान के निर्णय पर प्रवक्ता ने बोला कि समूह के देश हिंदुस्तान की चिंताओं को दूर करने की प्रयास कर रहे थे जैसा कि पिछले महीने बैंकाक में हुई मीटिंग में तय किया गया था.