उत्तर हिंदुस्तान का एक भी रेजिडेंशियल कॉलेज स्वच्छता रैंकिंग 2019 में स्थान बनाने में रहा नाकाम

उत्तर हिंदुस्तान का एक भी रेजिडेंशियल कॉलेज स्वच्छता रैंकिंग 2019 में स्थान बनाने में रहा नाकाम

उत्तर हिंदुस्तान का एक भी रेजिडेंशियल कॉलेज स्वच्छता रैंकिंग 2019 में स्थान बनाने में नाकाम रहा है. दक्षिण हिंदुस्तान के कॉलेजों को स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन का खिताब मिला है. एआईसीटीई के नॉन रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी वर्ग में डाक्टर एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी लखनऊ एकमात्र विजेता बना है.

खास बात यह है कि रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी वर्ग में यूजीसी का कोनेरू लक्ष्मैया शिक्षा फाउंडेशन गुंटूर व एआईसीटीई का एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी चेन्नई को रैंकिंग में पहला जगह मिला है.

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को स्वच्छ कैंपस की स्वच्छता रैंकिंग 2019 जारी की. रैंकिंग में यूजीसी व एआईसीटीई के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के चार वर्ग व एक सरकारी आवासीय विश्वविद्यालय वर्ग भी शामिल है.

यूजीसी के नॉन रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी वर्ग में इग्नू को दूसरा, गुरुग्राम की नॉर्थकैंप यूनिवर्सिटी को पांचवां जगह मिला है. जबकि नॉन रेजिडेंशियल कॉलेज वर्ग में एसएल शिक्षा इंस्टीट्यूट मुरादाबाद यूपी रैंकिंग में तीसरे जगह पर रहा है. वहीं सरकारी आवासीय विश्वविद्यालय वर्ग में राजीव गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ पटियाला पहले, गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर दूसरे, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली तीसरे जगह पर रही है.

यूजीसी: टॉप दस रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी

  • कोनेरु लक्ष्मैया शिक्षा फाउंडेशन गुंटूर
  • ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी सोनीपत
  • सिंबिओसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी पुणे
  • मनिपाल यूनिवर्सिटी जयपुर
  • शिक्षा व अनुसंधान ओडिशा
  • ओपी जिंदल यूनिवर्सिटी छत्तीसगढ़
  • चितकारा यूनिवर्सिटी सोलन
  • ज्योति विद्यापीठ वूमन यूनिवर्सिटी जयपुर
  • डाक्टर डीवाई पाटिल विद्यापीठ पुणे
  • रिवा यूनिवर्सिटी बंगलूरू

एआईसीटीई: टॉप छह रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटी

  • एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी चैन्नई
  • वेल्लोरे इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी तमिलनाडु
  • आईआईटी गुवाहाटी
  • आईआईटी गांधीनगर
  • बीएस अब्दुर रहमान इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी तमिलनाडु
  • आईआईटी तिरुपति