70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत

70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत

नई दिल्‍ली कोविड-19 की दूसरी लहर (Corona Second Wave) का प्रभाव अब धीरे-धीरे कम होने लगा है कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्‍या लगातार पांचवे दिन 1 लाख से कम रही है के बीच बार-बार इस बात को दोहराया जा रहा है कि खतरा अभी भी बरकरार है स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Department) के अनुसार कोविड-19 गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया तो ये आंकड़े फिर से बढ़ सकते हैं पिछले 24 घंटों की बात करें तो देश में कोविड-19 संक्रमण के 84 हजार 332 नए मुद्दे सामने आए, जबकि 4002 मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी खास बात यह है कि देश में 74 दिन बाद कोविड-19 संक्रमण के इतने कम मुद्दे एक दिन में आए हैं कोविड-19 के नए मुद्दे सामने आने के बाद अब देश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्‍या 2 करोड़ 93 लाख 59 हजार 155 हो गई है

, देश में अब तक कोविड-19 से 10 लाख 80 हजार 690 सक्रिय केस हैं, जबकि 2 करोड़ 79 लाख 11 हजार 384 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं देश में अब तक कोविड-19 से 3 लाख 67 हजार 81 लोगों की मृत्यु हो चुकी है महाराष्‍ट्र में कोविड-19 से बड़ी राहत मिलती दिखाई पड़ रही है

जानें कोविड-19 की राज्‍यों में क्‍या है स्थिति

महाराष्ट्र में शुक्रवार को Covid-19 के 11,766 नए मुद्दे सामने आए जबकि कुल मिला कर 2213 लोगों की मृत्यु हो गई स्वास्थ्य विभाग के अनुसार नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 58,87,853 और मृतक संख्या 1,06,367 हो गई है प्रदेश सरकार ने लैब में Covid-19 जाँच और अन्य आंकड़ों की जाँच करने के बाद मृतकों की संख्या में यह वृद्धि किया है. हालांकि बीते 24 घंटे में Covid-19 के 406 मरीजों की मृत्यु हुई है

राजधानी दिल्‍ली में कोविड-19 के 238 नए मुद्दे सामने आए

दिल्ली में शुक्रवार को कोविड-19 वायरस संक्रमण के 238 नए मुद्दे सामने आए जो कि पिछले तीन महीने में रोजाना सामने आने मामलों की सबसे कम संख्या है स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार महामारी से 24 और मरीजों की मृत्यु हो गई तथा संक्रमण की दर घटकर 0.31 फीसदी रह गई है स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में अब तक Covid-19 से 24,772 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है

यूपी में कोविड-19 संक्रमण से 74 और मरीजों की मोत

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को कोविड-19 वायरस संक्रमण के 74 और संक्रमितों की मृत्यु हो गई जबकि 619 नए मरीज मिले हैं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटे में 74 मरीजों की मृत्यु के बाद अब तक संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 21,667 हो गई है प्रदेश में इसी अवधि में 619 नए मरीज मिलने के बाद अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा 17,01,668 पर पहुंच गया है राज्‍य में पिछले 24 घंटे में 1,642 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर गए हैं और अब तक 16,68,874 लोग कोविड-19 संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं


शिव मार्केट में पानी के साथ आया 15 फीट का मगरमच्छ, जान जोखिम में डाल युवा खिंचा रहे फोटो

शिव मार्केट में पानी के साथ आया 15 फीट का मगरमच्छ, जान जोखिम में डाल युवा खिंचा रहे फोटो

मध्य प्रदेश में कई ऐसी नदियां हैं, जहां भारी बारिश के चलते अक्सर जल स्तर बढ़ जाता है। ऐसे में इन नदियों में मगरमच्छों की भरमार भी मिलती है। कभी-कभी तो पानी बहकर शहरों एवं गावों तक पहुंच जाता है। हैरान करने वाली बात यह है कि बुधवार को शिवपुरी की मीट मार्केट में 15 फीट का मगरमच्छ दिखाई दिया। ऐसे में जब युवाओं ने इसे देखा तो उन्होंने वन विभाग को सूचना देने के बजाय खुद की रस्सी से बांधकर उसके साथ सेल्फी लेने लगे।

पिछले सात दिनों में शिवपुरी में अलग-अलग इलाकों में निकल चुके हैं मगरमच्छ

शिवपुरी में पिछले सात दिन में तीन मगरमच्छ अलग-अलग इलाकों में निकल चुके हैं। खास बात यह है कि यहां पर युवा इन मगरमच्छों को खुद पकड़ रहे हैं। स्थानीय निवासी द्वारा इसकी वन विभाग मगरमच्छ की सूचना भी नदीं दे रहे हैं। इतना ही नहीं युवा इन मगरमच्छों के साथ फो खिंचवा रहे हैं। शिवपुरी में जब लोगों ने 15 फीट के मगरमच्छ को देखा तो जोखिम उठाते हुए खुद ही रस्सियों से बांध दिया। इसके बाद उसे कंधों पर उठाकर मस्ती करने लगे।

सेल्फी और वीडियो बनाने में जुटे युवा

इतना ही नहीं लोगों ने उसके साथ सेल्फी, फोटो और वी़डियो बनाई। ऐसे में इन युवाओं की लापरवाही उनको भारी पड़ सकती है! क्योंकि मगरमच्छ कभी-भी युवाओं पर हमला कर सकता है।

खतरनाक प्राणी है मगरमच्छ

बता दें कि मगरमच्छ पानी और धरती पर पाया जाने वाला खतरनाक जीव है। खुरदुरी खाल, उबड़-खाबड़ शरीर और मजबूत जबड़े वाला ये प्राणी ऐसा है कि देखने पर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। ये धरती के प्राचीनतम जीवों में से एक हैं और स्तनधारी और सरीसृप दोनों ही श्रेणियों में शामिल है।


भयानक और भयावह इस जीव की खाल बुलेटप्रूफ मानी जाती है, जिसे बंदूक की गोली द्वारा भी भेदा नहीं जा सकने का दावा किया जाता है, लेकिन इसके बाद भी मानव द्वारा किये जाने वाले शिकार के कारण इसकी कई प्रजातियां विलुप्ति की कगार पर है। इसकी खाल विश्व की सर्वश्रेष्ठ खालों में गिनी जाती है और फैशन इंडस्ट्रीज में बहुत लोकप्रिय है।