3 इडियट्स वाले 'वांगडू' ने बनाया जवानों के लिए सोलर टेंट

3 इडियट्स वाले 'वांगडू' ने बनाया जवानों के लिए सोलर टेंट

लद्दाख के इंजीनियर (Ladakhi Engineer), शिक्षाविद और इनोवेटर सोनम वांगचुक ने ट्विटर पर ऐलान किया कि उनकी टीम ने एक ऐसा सोलर हीट वाला टेंट (High Altitude Solar Tent) तैयार किया है, जो लद्दाख के बहुत ठंडे मौसम (Cold Weather) और हाई अल्टिट्यूड इलाकों में तैनात आर्मी जवानों के लिए प्रभावी साबित होगा। सोनम ने यह भी ट्वीट में बताया कि जब जाड़े की रात में बाहर तापमान -14 डिग्री सेल्सियस होगा, तो टेंट के भीतर 15 डिग्री मेंटेन रहेगा। यही नहीं, सोनम के अनुसार इस टेंट के लिए केरोसिन नहीं चाहिए और यह पूरी तरह पर्यावरण के अनुकूल (Eco Friendly Innovation) है।

यह इस प्रजाति का दूसरा टेंट है, जो पहले का और विकसित रूप है, जिसे सोनम ने करीब 10 वर्ष पहले विकसित किया था। ठंडे इलाकों के चरवाहों के लिए सोनम ने बरसों पहले सोलर हीट वाला एक प्रोटोटाइप तैयार किया था। सोनम ने बोला हालांकि सरकार ने इसकी स्थान कॉटन टेंट ही बांटना जारी रखा, जिसे वो गलत निर्णय ठहराते रहे। अब सोनम के नए टेंट के बारे में जानिए, जिसे खास तौर से आर्मी के लिए विकसित किया गया है।

क्यों पड़ी इस इनोवेशन की आवश्यकता ?
पिछले वर्ष से चूंकि चाइना के साथ सीमा पर तनाव बढ़ा तो हिंदुस्तान ने लद्दाख के बॉर्डर पर भारी संख्या में जवानों और सुरक्षा बलों की तैनाती की। हुआ यह कि सर्दियों के मौसम में यहां स्वयं को गर्म रखने के लिए सैनिकों को केरोसिन जलाना पड़ता है, जिससे पहले तो प्रदेश पर खर्च बढ़ता है, दूसरे पर्यावरण को नुकसान होता है, तीसरे सैनिकों की स्वास्थ्य को खतरा और चौथे आग लगने की दुर्घटनाओं की आशंका। इन सभी फैक्टरों के चलते सोनम ने बेहतर आइडिया पर कार्य किया।

टेंट का चित्र सोनम वांगचुक के ट्विटर से साभार।

टेंट की तकनीक क्या है?
इस सोलर हीटेड टेंट की खास बात यही है कि यह पोर्टेबल है और इसे आप किसी भी स्थान पर खोलकर तान सकते हैं। द बेटर इंडिया पोर्टल को दिए एक साक्षात्कार में पूरे विश्व में प्रसिद्ध लद्दाखी इनोवेटर सोनम ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि टेंट को बनाने में उन्होंने किस मटेरियल का इस्तेमाल किया क्योंकि इसके लिए उन्होंने पेटेंट का दावा किया हुआ है। लेकिन यह अवश्य बोला कि जिस तरह से सोलर मकान बनते हैं, उन्हीं वैज्ञानिक सिद्धांतों पर यह टेंट आधारित है।

कैसे कार्य करता है टेंट?
सोनम ने इस साक्षात्कार में बताया कि धूप से गर्मी को स्टोर करने के लिए टेंट में बहुत ही सामान्य डिज़ाइन है। पानी के ज़रिये धूप की गर्मी को स्टोर कर लिया जाता है, जो रात के ठंडे तापमान में कार्य आती है।

कितना भारी है यह टेंट?
इस टेंट को पूरी तरह डिसमेंटल किया जा सकता है और एक एक पुर्ज़ा वापस जोड़कर इसे किसी भी स्थान फिर लगाया जा सकता है। कुल मिलाकर इस टेंट का वज़न आकार के अनुसार 30 किलोग्राम के भीतर है। यानी इसे लोकल पोर्टर या जवान अपनी पीठ या कंधे पर कैरी कर सकते हैं।

कितने जवानों के लिए है एक टेंट?
इस टेंट को कस्टमाइज़ किया जा सकता है यानी आवश्यकता के अनुसार इसे 10 या 5 जवानों के हिसाब से बनाया जा सकता है या फिर किसी एक अधिकारी के लिए। यदि 10 जवानों के लिए टेंट बनाना हो तो इसके 40 पीस की आवश्यकता होगी।

टेंट की डिज़ाइन का चित्र सोनम वांगचुक के ट्विटर से साभार।


कितनी है कीमत?
इस सोलर हीटेड टेंट प्रोटोटाइप की मूल्य 5 लाख रुपए बताई गई है। वहीं सोनम ने यह भी बोला कि इसके और बेहतर वर्जन की मूल्य 9 से 10 लाख रुपये तक भी हो सकती है। सोनम का दावा है कि उनके टेंट तकरीबन आधी मूल्य में करीब दोगुना स्पेस के साथ ही सरल ढुलाई की सुविधा देते हैं।

क्या यह केवल सेना के लिए है?
नहीं, सोनम का मकसद इन टेंटों को पर्यटन के उद्देश्य को भी पूरा करना है। लद्दाख के ठंडे इलाकों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए क्विक और मूवेबल स्थान के लिए इन टेंटों का इस्तेमाल संभव है। इसके अलावा, इन इलाकों में बॉर्डर रोड जैसे निर्माण कार्यों में लगे मज़दूरों के लिए भी टेंटों की उपयोगिता है।

क्या आर्मी की दिलचस्पी है?
बोला गया है कि सोनम वैसे भारतीय आर्मी के साथ इन टेंटों को लेकर वार्ता कर रहे हैं। आर्मी इन टेंटों को पैंगोंग झील के रास्ते में चांग ला पास पर टेस्ट कर सकती है। तेज़ हवाओं और मुश्किल मौसम के इलाके में टेस्ट के बाद आर्मी मंज़ूरी देती है तब इसके उत्पादन के बारे में निर्णय होगा।

टेंट का चित्र सोनम वांगचुक के ट्विटर से साभार।


कहां बना यह टेंट?
सोनम ने हिमालयन इंस्‍टीट्यूट ऑफ अल्‍टरनेटिव्‍स की शुरूआत की। उच्च एजुकेशन से जुड़े इसी इंस्‍टीट्यूट में सोनम की टीम ने यह प्रभावी टेंट बनाया है। यह भी बताया गया है कि इस पहल में सोनम और उनकी टीम को चार हफ्तों का समय लगा।

कौन हैं वांगचुक?
आपने थ्री इडियट्स फिल्म देखी है, तो उसमें आमिर खान की किरदार सोनम वांगचुक के भूमिका से ही प्रेरित थी। इस भूमिका का नाम रैंचो उर्फ फुंशुक वांगड़ू था। सोनम अपने आइस स्‍तूप के लिए प्रसिद्ध रहे हैं। लद्दाख के लिए सबसे बेहतरीन पहल माने जाने वाले इस आविष्‍कार को स्‍टूडेंट्स एजुकेशनल एंड कल्‍चरल मूवमेंट्स ऑफ लद्दाख का केन्द्र बिंदु बोला जाता है।


चलते ट्रक का टायर फटा, अनियंत्रित होकर पिकअप को मारी टक्कर

चलते ट्रक का टायर फटा, अनियंत्रित होकर पिकअप को मारी टक्कर

जिले के भालेरी थाना इलाके में हुए भीषण सड़क एक्सीडेंट (Severe road accident) में दो स्त्रियों समेत 4 लोगों की मृत्यु हो गई और 17 लोग घायल हैं हादसे में मारे गये सभी चारों लोग हरियाणा के रहने वाले थे पुलिस ने शवों को लोकल हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया है सोमवार को उनका पोस्टमार्टम करवाया जायेगा एक्सीडेंट चलते ट्रक का टायर फटने से हुआ

पुलिस के अनुसार, एक्सीडेंट रविवार देर शाम तारानगर-सरदारशहर रोड पर बुचावास गांव के पास हुआ चलते हुए ट्रक का टायर आकस्मित से फट गया इससे वह अनियंत्रित हो गया और सामने से आ रही पिकअप को गलत साइड में जाकर टक्कर मार दी हादसे में पिकअप में सवार दो स्त्रियों सहित चार लोगों की मृत्यु हो गई वहीं 17 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये पिकअप में राजस्थान के 4 लोगों के अतिरिक्त अन्य सभी हरियाणा प्रदेश के बताये जा रहे हैं

पिकअप सवार लोग ददरेवा से रूपलीसर जा रहे थे
पिकअप में सवार लोग चूरू के ददरेवा से रूपलीसर जा रहे थे इनमें चार ददरेवा और शेष सभी लोग हरियाणा के थे सूचना मिलने पर भालेरी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को एम्बुलेंस तथा निजी वाहनों की सहायता से पहले लोकल हॉस्पिटल पहुंचाया बाद में वहां से कई घायलों को प्राथमिक इलाज के बाद चूरू जिला मुख्यायल के राजकीय भरतिया हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया हादसे में दो जनों की मौके पर मृत्यु हो गई थी, जबकि 12 वर्ष के एक बालक और एक अन्य घायल ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया
कलेक्टर और एसपी पहुंचे हॉस्पिटल
घटना की जानकारी मिलने पर जिला कलेक्टर सांवरमल वर्मा और एसपी नारायण टोगस समेत पीएमओ डाक्टर एफएच गौरी और पुलिस उपाधीक्षक चूरू शहर ममता सारस्वत हॉस्पिटल पहुंचे मृतकों की पहचान हरियाणा की कलावती, भतेरी, मोनू एवं रामनारायण के रूप में हुई है


दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम       खेल दी 152 रन की पारी और लगाए 5 छक्के 14 चौके, विराट की टीम के ओपनर बल्लेबाज ने मचाया हड़कंप       क्या है India vs England के बीच खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट की टाइमिंग       नेशनल ड्यूटी के लिए IPL को भी छोड़ सकता है ये खिलाड़ी       रॉबिन उथप्पा व विष्णु विनोद के शतक से सचिन बेबी की टीम को मिली जीत       Happy Birthday Divya Bharti: एक्टिंग के लिए इस एक्ट्रेस ने 16 साल की उम्र में छोड़ दी थी पढ़ाई       Shilpa Shetty In Maldives: इस एक्ट्रेस ने पति संग मालदीव्स में की Pawri       OMG! Aamir Khan के भांजे इमरान ने कजिन जाएन मेरी की कराई शादी       टीज़र देख क्या बोले अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा और करण जौहर       जॉन अब्राहम और इमरान हाशमी के बीच कांटे की टक्कर       क्या आपको भी सपने में दिखती हैं ये चीजें तो...       मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न       रवि योग में जया एकादशी आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल       आज है प्रदोष व्रत, जानें किस मुहूर्त में करें पूजा और इसका धार्मिक मान्यता       महानंदा नवमी आज, पढ़ें 21 फरवरी 2021 का पंचांग, जानें       मैं दूसरों को हंसाता हूं, स्वयं दुखी रहता हूं, फैन्स ने भेजा अभिनेता को प्यार : धर्मेंद्र       अभिषेक बच्चन और बेटी आराध्या संग कजिन की विवाह में शामिल हुईं ऐश्वर्या राय बच्चन       सोनू सूद खोलने जा रहे हैं नींबू पानी की दुकान       डिलीवरी के बाद करीना कपूर ने किया पहला इंस्टाग्राम पोस्ट       अभिनव शुक्ला ने अब जाकर किया खुलासा, क्यों हुई थी रुबीना दिलैक से तलाक की बात?