एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने “गलवान” पर कहे 3 ऐसे शब्द, जिससे जमकर मच रहा बवाल

एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने “गलवान” पर कहे 3 ऐसे शब्द, जिससे जमकर मच रहा बवाल

बॉलीवुड अदाकारा ऋचा चड्ढा सोशल मीडिया पर जमकर लोगों के निशाने पर आ रही हैं. उन्होंने इंडियन आर्मी को लेकर जो कुछ भी कहा, उससे लोगों में भारी गुस्सा है. इसके साथ ही अदाकारा के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है. इतना हंगामा मचता देख ऋचा चड्ढा को अपने बयान के लिए माफी मांगनी पड़ी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, “मेरा ये इरादा कभी नहीं हो सकता, फिर भी विवादों में घसीटे गए मेरे 3 शब्दों के ने यदि किसी को दुख पहुंचाया हो, तो मैं माफी मांगती हूं और ये भी कहूंगी कि मेरे शब्दों ने यदि गैर इरादतन भी फौज के मेरे भाईयों के अंदर ये भावना पैदा की हो तो मुझे बहुत दुख होगा.” 

उन्होंने आगे लिखा है, “इस फौज में मेरे नानाजी ने अहम भऊमिका निभाई थी. लेफ्टिनेंट कर्नल रहते हुए उन्होंने 1960 में अपने पैर में गोली खाई. मेरे मामाजी एक पैराट्रूपर थे. ये मेरे खून में है. जब एक बेटा इस राष्ट्र की सुरक्षा करते हुए शहीद होता है या घायल भी होता है, तो मेरे पूरे परिवार पर इसका असर पड़ता है और मैं निजी तौर पर जानती हूं कि कैसा महसूस होता है. ये मेरे लिए भी एक भावुक समस्या है.

ऋचा ने कौन से 3 शब्द कहे थे?

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने इंडियन आर्मी के एक अधिकारी के बयान पर टिप्पणी की थी. दरअसल इंडियन आर्मी के अधिकारी उत्तरी कमांड के कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्वेदी ने पाक प्रशासित कश्मीर को लेकर बयान दिया था. उन्होंने बोला था कि जब भी हिंदुस्तान गवर्नमेंट आदेश देगी, सेना “पीओके” पर कार्रवाई करने के लिए तैयार है. सेना अधिकारी के इसी बयान पर एक बाबा बनारस नाम के ट्विटर यूजर ने ट्वीट किया. इसे ऋचा चड्ढा ने रीट्वीट करते हुए कहा, “गलवान सेज हाय (गलवान याद करें).” इसके बाद उन पर आरोप लगा कि वह गलवान घाटी वाली घटना की याद दिलाकर सेना की क्षमता पर प्रश्न उठा रही हैं. 

किसने दर्ज की एफआईआर?

अभिनेत्री के विरूद्ध फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने मुंबई में एफआईआर दर्ज कवाने की मांग की है. उन्होंने कहा, “हमारे सुरक्षा बलों के जवानों ने गलवान घाटी में जो बलिदान दिया था, उसका ऋचा चड्ढा ने जिस तरह मजाक उड़ाया है, उससे राष्ट्र के काफी लोगों को तकलीफ हुई है. मैंने पुलिस स्टेशन आकर एक पत्र दिया है कि इसके विरूद्ध एक FIR दर्ज की जानी चाहिए.” अशोक पंडित ने ये बात मुंबई के जुहू पुलिस स्टेशन में कही है.