सरकार ने मांगी नेवी की मदद, मेघालय की खदान में 12 दिनों से फंसे हैं मजदूर

सरकार ने मांगी नेवी की मदद, मेघालय की खदान में 12 दिनों से फंसे हैं मजदूर

शिलांग मेघालय (Meghalaya) के पूर्वी जयंतिया हिल्‍स जिले की एक खदान (Mine) में पिछले 12 दिनों से पांच श्रमिक फंसे हुए हैं खदान में डायनामाइट विस्‍फोट के बाद पानी भर गया था श्रमिकों को बचाने के लिए ने अब नोसैना की सहायता मांगी है मेघालय सरकार की ओर से रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) को एक पत्र लिखा गया है, जिसमें श्रमिकों को खदान से सुरक्षित बाहर निकालने के लिए नौसेना के गोताखोरों को उपलब्‍ध कराने की मांग की गई है सीएम कोनराड के संगमा (Conrad Sangma) ने बोला कि सरकार श्रमिकों को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है

मुख्यमंत्री कोनराड ने बोला कि श्रमिकों को खदान से सुरक्षित बाहर निकालने के लिए जिला प्रशासन के साथ ही एनडीआरएफ से भी सहायता ली जा रही है, लेकिन अभी तक कोई सकारात्‍मक रिज़ल्ट सामने नहीं आए हैं एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम जलस्‍तर के नीचे आने का इन्तजार कर रही है राहत और बचाव काम में 100 से ज्‍यादा एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के कर्मचारियों को लगाया गया है

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने 2014 में मेघालय में रैट-होल कोयला खनन पर पूरी तरह से रोक लगा दी थी लेकिन अभी भी राज्‍य में आदेश का उल्‍लंघन करते हुए गैर कानूनी खनन किया जा रहा है खदान में श्रमिकों के केस सामने आने के बाद पुलिस ने इस मुद्दे में कोयला खदान के मालिक को अरैस्ट कर लिया है बता दें कि मेघालय में लगभग 560 मिलियन टन कोयले का भंडार होने का अनुमान है


हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र

हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र

कोडरमा अंचल कार्यालय में पिछले कुछ महीनों से आम आदमी का कोई काम नहीं हो रहा है। यहां तक की रसीद कटवाने में भी लोगों के पसीने छूट रहे हैं। कार्यालय में फिलवक्त म्यूटेशन का भी कोई काम नहीं हो रहा है। इससे लोगों को काई कठिनाई हो रही है। छोटे-मोटे कामों के लिए लोग रोज ही कार्यालय क चक्कर लगा रहे हैं। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खास लोगों के काम साहब के आवास पर ही निबटा दिए जाते हैं। सूत्रों से पिछली रात कुछ खास लोगों के लगभग तीस म्यूटेशन एक ही रात में करके अंचल रसीद निर्गत किए जाने की जानकारी मिली है। सूत्रों से बताया कि आवास ही सीओ साहब का मीनी कार्यालय है। 
सीएम को लिखा पत्र: आरटीआई कार्यकर्ता अजय पांडेय ने इस मामले को लेकर सीएम हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने कोडरमा अंचल कार्यालय की बदहाली की चर्चा की है और कहा है कि यहां आम लोगों को रसीद कटवाने के लिए भी कई दिनों तक कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ रहा है। जबकि पैरवी और रसूख रखनेवालों का काम आसान से हो रहा है। उन्होंने इस मामले की जांच कराकर अपेक्षित कार्रवाई की मांग की है ताकि आम आदमी को काम के लिए ऑफिस का चक्कर लगाना न पडे़।
सीओ नहीं उठाते फोन: इस मामले पर बात करने के लिए जब कोडरमा सीओ अनिल कुमार को जब फोन किया गया तो मोबाइल की घंटी लगातार बजती रही पर उन्होंने फोन नहीं उठाया। वहीं टेक्स्ट और व्हाट्सएप मैसेज कर जानकारी चाही तो मैसेज को देखने के बाद भी कोई जवाब नहीं दिया गया। 


इन इलाकों में होगी भारी बारिश, समय से पहले पहुंचा मानसून       यूपी में आज से रेहड़ी-पटरी दुकानदारों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान       महंगाई को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर भड़की मायावती, बोलीं...       सीएम योगी का निर्देश, कोरोना संक्रमण को लेकर अभी भी रहें गंभीर       हाल कोडरमा अंचल कार्यालय का, आम आदमी का नहीं हो रहा है कोई काम,आरटीआई कार्यकर्ता ने एसीम को लिखा पत्र       युद्ध के लिए हम तैयार हैं, चीन की सेना PLA ने ताइवान को दी धमकी       धरती पर हैं चार नहीं, पांच महासागर? अंटार्कटिका के पास है कुछ सबसे अनोखा       OMG! इस प्रदेश में कुत्तों से अधिक खूंखार बिल्लियां, अभी तक इतने लोग हुए शिकार       पौष्टिक आहार, पढ़ाई और प्यार, बच्चों के लिए अत्यंत अनिवार्य: शालिनी गुप्ता,  बाल श्रम उन्मूलन दिवस पर पारहो में फूड न्यूट्रिशन किट का किया वितरण        Muslim Lawmaker Ilhan Omar ने US और Israel की तुलना तालिबान से कर डाली       दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात की तैयारियां पूरीं       अमेरिका में फेडरल जज बनने वाले पहले मुस्लिम बने जाहिद कुरैशी       70 दिन बाद कोविड-19 के सबसे कम केस, 24 घंटे में आए 84 हजार मामले, 4002 की मौत       कैसे डोनाल्ड ट्रंप को दी गई दवा कोविड-19 के मरीजों में जगा रही है उम्मीद?       PM मोदी से मुलाकात कर बहुत खुश हुए सीएम योगी, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात       राजनाथ सिंह ने किया 'खामोश महामारी' का जिक्र, बोले...       अखिलेश यादव ने कहा कि बंदरबांट में उलझी बीजेपी सरकार से जनता को कोई आशा नहीं       रेलवे प्लेटफॉर्म के समीप कार्य कर रहे थे मजदूर, तभी गिरी जोरदार बिजली       प्रियंका गांधी ने कहा कि महंगाई आम जनमानस की तोड़ रही है कमर       रिहाई के बाद के 6 वर्ष तक लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाएगे लालू प्रसाद यादव