रहस्य राम सेतु का, अब बाहर आएगी सच्चाई

रहस्य राम सेतु का, अब बाहर आएगी सच्चाई

नई दिल्ली: अगर आपने रामायण देखी या पढ़ी है तो आपको ये पता ही होगा कि जब भगवान श्रीराम को सीता माता को रावण के चंगुल से छुड़ाने के लिए लंका (श्रीलंका) जाना था तो वानर सेना ने समुद्र में राम सेतु (Ram Setu) का निर्माण किया था। भारत और श्रीलंका के बीच समुद्र में मौजूद राम सेतु को कब और कैसे बनाया गया, अब इन सवालों को जानने के लिए भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण (ASI) ने खास रिसर्च शुरू की है।

राम सेतु के रहस्य को जानने के लिए रिसर्च
अब इस राम सेतु के रहस्य को जानने के लिए ASI एक रिसर्च कर रहा है। जिसके तहत इस साल समुद्र के पानी के नीचे एक प्रोजेक्‍ट चलाया जाना है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे रामायण काल के बारे में भी जानकारी हाथ लग सकती है। ASI के सेंट्रल एडवायजरी बोर्ड ने सीएसआईआर-नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ ओशनोग्राफी (NIO) के एक प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है। ऐसे में अब इस इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिक राम सेतु पर रिसर्च कर पाएंगे।

रिसर्च से ये जानकारियां आएंगी सामने
इस परियोजना से जुड़े वैज्ञानिकों का कहना है कि इस रिसर्च से राम सेतु की आयु के साथ-साथ रामायण काल के बारे में भी जानकारी मिल सकती है। इस रिसर्च के लिए NIO द्वारा सिंधु संकल्‍प या सिंधु साधना नाम के समुद्री जहाजों का इस्‍तेमाल किया जाएगा। बता दें कि इन जहाजों के बारे में खास बात यह है कि यह पानी की सतह के 35-40 मीटर नीचे से आसानी से नमूने एकत्र कर सकते हैं।

धार्मिक और राजनीतिक महत्व
इस रिसर्च में ना केवल राम सेतु के बारे में पता लगाया जाएगा, बल्कि यह भी जानने की कोशिश की जाएगी कि क्या राम सेतु के आसपास कोई बस्ती भी थी। जानकारी के मुताबिक, रिसर्च के दौरान रेडियोमेट्रिक और थर्मोल्‍यूमिनेसेंस (TL) डेटिंग जैसी तकनीकों का इस्‍तेमाल किया जाएगा। साथ ही शैवालों की भी जांच की जाएगी, जिससे राम सेतु की उम्र जानने में मदद मिलेगी। यह प्रोजेक्ट धार्मिक और राजनीतिक महत्व भी रखता है।

रामायण में राम सेतु का जिक्र मिलता है। यह सेतु वानर सेना ने भगवान श्री राम को लंका पार कराने और माता सीता को बचाने के लिए बनाई थी। यह करीब 48 किमी लंबा है।


किसान आंदोलन: किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव, सरकार ने कहा...

किसान आंदोलन: किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव, सरकार ने कहा...

नई दिल्ली: किसान बिल के विरोध में दिल्ली चलो के नारे के साथ शुरू किसानों का आंदोलन आज 58 वें दिन में प्रवेश कर गया है। किसान यूनियनों के नेताओं और केंद्र सरकार से आज बातचीत का 11वां दौर है। इसीके साथ किसान 26 जनवरी को दिल्ली के व्यस्त आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर रैली निकालने की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं, जबकि इस दिन दिल्ली में बड़े स्तर पर गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम होते हैं।

किसान दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं
हजारों किसान, खास कर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का यह विरोध प्रदर्शन 26 नवंबर से शुरू हुआ था। किसान नए कृषि सुधार कानूनों की वापसी और समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी की मांग कर रहे हैं। किसानों के आंदोलन और गणतंत्र दिवस पर उनकी ट्रैक्टर रैली की योजना के मद्देनजर, हरियाणा पुलिस ने कल अपने कर्मियों की छुट्टी अगले आदेश तक रद्द करने का फैसला किया है

किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव, सरकार ने कहा- एक बार फिर करें विचार
किसानों और सरकार के बीच बैठक लगातार चल रही है। किसान संगठनों ने एक बार फिर सरकार के कानून टालने वाले प्रस्ताव को ठुकरा दिया है और तीनों कानून की वापसी की मांग कर रहे हैं।

सरकार ने किसानों से फिर विचार करने को कहा
किसानों के साथ बैठक में सरकार ने अपील की है कि संगठन एक बार फिर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा करें। अभी बैठक में ब्रेक हुआ है, ऐसे में किसान संगठन इस प्रस्ताव पर फिर चर्चा करने में जुटे हैं। किसानों ने इस दौरान विज्ञान भवन में ही लंच किया।

किसान संगठनों और सरकार में बातचीत शुरू
कृषि कानून के मसले पर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच 11वें दौर की बातचीत शुरू हो गई है। विज्ञान भवन में ये वार्ता हो रही है। सरकार की ओर से कानून टालने का प्रस्ताव रखा गया है, जिसे किसानों ने ठुकरा दिया है। किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान ट्रैक्टर रैली जरूर निकालेंगे, हम तिरंगे के साथ रैली निकाल रहे हैं ऐसे में इसपर इजाजत क्यों नहीं दी जा रही है।


अब नेताओं-अफसरों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना पड़ेगा भारी       किसान आंदोलन: किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव, सरकार ने कहा...       नेताओं-अधिकारियों को जनता पीटे तो हैरानी नहीं       राम भक्त मुस्लिम दंपति, मंदिर के लिए दिया योगदान       दिल्ली में आतंकी हमला, अटैक को लेकर अलर्ट जारी       कोरोना वॉरियर्स से मोदी का संवाद, बोले...       विमान से कांपा पाकिस्तान, सीमा पर भारत ने मारी दहाड़       निर्धारित दर पर ही किराया लेः एसडीएम, अनुमंडल पदाधिकारी ने टेंपो एसोसिएशन के साथ बैठक कर दिया निदेश       किसान आंदोलन के साथ आंगनबाड़ी कर्मियों ने किया एकजुटता प्रदर्शन, बकाया मानदेय, पोषाहार राशि भुगतान के लिए उठी आवाज       धमाके से दहला J&K, जवानों पर हुआ भयानक हमला       भयानक विस्फोट से दहला कर्नाटक, धमाके से टूट गई सड़कें       अभी ठंड से नहीं मिलेगी राहत, इस राज्यों में होगी भारी बारिश       छत्तीसगढ़: कबड्डी मैच के दौरान खिलाड़ी की मौत       टूटे सभी रिकॉर्ड, पेट्रोल-डीजल के दामों में तेजी से बढ़ोत्तरी       MP पुलिस ने शव के साथ किया ऐसा, हाथरस कांड की याद हुई ताजा       Flipkart Big Saving Days शुरू, सस्ते में खरीदें ये स्मार्टफोन       Reliance Jio का ऑफर, 250 रुपये में हर दिन 2 जीबी डेटा       सस्ती फैमिली कार, ऑटो मोबाइल कंपनियों ने किया लॉन्च       इंडिया में लांच हुआ Vivo Y31, मिल रहे बेहतरीन फीचर       Google में बड़े बदलाव,अब हैकिंग पर लगेगी रोक