नये कोरोना वैरियंट के खिलाफ असरदार होगी भारतीय वैक्सीन, आखिरी ट्रायल के नतीजों में दिखे संकेत

नये कोरोना वैरियंट के खिलाफ असरदार होगी भारतीय वैक्सीन, आखिरी ट्रायल के नतीजों में दिखे संकेत

देश में कोरोना टीकाकरण काफी तेज रफ्तार से चल रहा है। देश में अब तक 1 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। इस बीच, भारत की कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है। स्वदेशी कोरोना वैक्सीन(कोवैक्सीन) के क्लीनिकल ट्रायल में इस बात के संकेत मिले हैं कि ये वैक्सीन, कोरोना के नए वैरियंट के खिलाफ प्रभावी रहेगी। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने बताया है कि आखिरी क्लीनिकल ट्रायल के नतीजो ने ये संकेत दिया है कि यूनाइटेड किंगडम, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से रिपोर्ट किए गए नए कोरोना वैरियंट के खिलाफ स्वदेशी COVID-19 टीके प्रभावी होंगे।

केरल सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग द्वारा आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार 'केरल हेल्थ: मेकिंग द एसडीजी ए रियलिटी' को संबोधित करते हुए आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि कोरोना वायरस के यूके वैरियंट के खिलाफ कोवैक्सीन की प्रभावकारिचा को लेकर एक शोध प्रकाशित करने को अनुमति दे दी गई है। 


उन्होंने बताया कि दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील के कोरोना वैरिएंट के मामले में इन दोनों देशों से आए यात्रियों से एकत्र किए गए नमूनों से वायरस के नए वैरियंट को अलग करने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने बताया कि कोवाक्सिन का तीसरा क्लीनिकल ट्रायल पूरा हो गया है। ट्रायल में शामिल सभी 25,800 स्वयंसेवकों को वैक्सीन की दोनों खुराक दी गई है। वैक्सीन को लेकर एक सप्ताह में अंतरिम विश्लेषण रिपोर्ट बाहर आने की संभावना है।

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि महामारी के लिए वैक्सीन विकसित करने के प्रयासों के तहत कोरोना वायरस को अलग करने वाला भारत दुनिया का पांचवा देश है। उन्होंने कहा कि भारत शुरू से ही ब्रिटेन और इटली सहित कई यूरोपीय देशों के विपरीत कोरोना वायरस के प्रति ज्यादा सख्त रहा। भारत का ये फैसला सही रहा क्योंकि पश्चिमी देशों में जो हुआ उससे वहां महामारी फैल गई।

कोवैक्सीन पूर्ण रूप से स्वदेश तौर पर विकसित वैक्सीन है, जिसे भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के साथ मिलकर बनाया है। भारत में दो कोरोना वैक्सीन(कोवैक्सीन और कोविशील्ड) को आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है। जिसके बाद देश भर में टीकाकरण जारी है। कोवैक्सीन के आखिरी ट्रायल के नतीजे अभी तक सामने नहीं आए हैं। जिस कारण इस वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में संदेह है। यदि कोवैक्सीन के ट्रायल के परिणाम सकारात्मक आते हैं तो देश में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में तेजी लाई जा सकती है।


कोरोना पर सुप्रीम कोर्ट सख्त: सरकार को भेजा नोटिस, पूछा...

कोरोना पर सुप्रीम कोर्ट सख्त: सरकार को भेजा नोटिस, पूछा...

ई दिल्ली: देश में कोरोना से हालात हर दिन बिगड़ते जा रहे हैं। अब इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने भारत में कोरोना वायरस के मौजूदा हालात पर स्वत: संज्ञान लिया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने सुनवाई के बाद केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए नेशनल प्लान क्या है।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि देश को ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है। सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन की आपूर्ति और आवश्यक दवाओं के मुद्दे पर स्वत: संज्ञान लिया। सीजेआई एसए बोबडे ने कहा कि कि अदालत इस मामले की सुनवाई शुक्रवार को करेगी। कोर्ट ने हरीश साल्वे को एमिकस क्यूरी भी नियुक्त किया है।


Suzuki Hayabusa का नया अवतार इस दिनांक को होगा लॉन्च, मूल्य       Royal Enfield की इस सस्ती बाइक की मार्केट में धूम, बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी       Ola Electric हिंदुस्तान में लगाएगा दुनिया का सबसे बड़ा चार्जिंग सेटअप       दमदार ड्राइविंग रेंज के साथ महज 18 मिनट में होगी चार्ज, Ola इलेक्ट्रिक स्कूटर जुलाई मे होगी लॉन्च       लीक हुई Mi 11X Pro और Mi 11X की कीमत       जानिए कैसा है 48MP कैमरे वाला यह स्मार्टफोन       WhatsApp यूजर्स के लिए चेतावनी! भूलकर भी नहीं करें ये गलतियां       Realme के 6000mAh बैटरी वाले फोन की मूल्य में कटौती       Apple ने हिंदुस्तान में लॉन्च किया iPad Pro, बढ़िया डिस्प्ले और 5G कनेक्टिविटी के साथ मिलेंगे कई खास फीचर्स       कार या बाइक चलाते समय नहीं कटवाना चाहते हैं Challan तो इन ऐप का करें इस्तेमाल       जोड़ों के दर्द या अर्थराइटिस की समस्या से आराम दिलाती है ब्रोकली       सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस के दर्द को दूर करने के कुछ आसान घरेलु उपाय       अगर कमजोर हो गयी है आपकी याददाश्त तो जरूर करें ये उपाय       गर्मियों में स्वस्थ रहने के लिए जरुरी है इन चीजों का सेवन       आखिर प्रेग्नेंसी में क्यों दी जाती है सूखा नारियल खाने की सलाह       क्या आप भी प्लान कर रहे हैं बच्चा तो आज से ही खाना शुरू कर दें ये चीजें       शायद आप नहीं जानते होंगे नाश्ते में अंडे खाने के ये जबरदस्त फायदे       दांतों को कमजोर बना सकती हैं ये चीजें, भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन       गर्मियों में तरबूज का ज्यादा सेवन भी सेहत को पहुंचा सकता है नुकशान       गले के रोग को हल्के में न लें, लापरवाही बन सकती है इस बड़ी बीमारी की वजह