राष्ट्रीय

जगन्नाथपुरी मंदिर के सभी चार द्वार खुलेंगे आज

आज से श्री जगन्नाथ मंदिर के सभी चारों द्वार फिर से खोले जाएंगे. साथ ही मंदिर की मौजूदा सभी जरूरतों के लिए कॉपर्स फंड स्थापित करने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति मिल गई है. ओडिशा की नयी बीजेपी गवर्नमेंट ने अपनी पहली कैबिनेट में ये प्रस्ताव मंजूर किया है.

मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी ने राज्य सचिवालय लोक सेवा भवन में अपने मंत्रियों के साथ बैठक की अध्यक्षता करने के बाद यह जानकारी बुधवार को दी है.

‘मंदिर के द्वार खोलना बीजेपी के चुनावी घोषणा पत्र में था’

माझी ने बताया, ‘राज्य गवर्नमेंट ने सभी मंत्रियों की उपस्थिति में जगन्नाथ पुरी के सभी चारों द्वार खोलने का निर्णय लिया गया है. इससे भक्तों को चारों द्वारों से मंदिर तक पहुंचने को मिलेगा.

माझी ने आगे बोला कि सभी मंदिरों के द्वार खोलना बीजेपी के चुनावी घोषणा पत्र के वादों में से एक था. द्वार बंद होने के कारण भक्तों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

कोरोना काल से ही मंदिर के द्वार बंद थे

पिछली बीजू जनता दल गवर्नमेंट ने कोविड-19 महामारी के बाद से ही मंदिर के चारों द्वार बंद कर दिए थे और श्रद्धालु एक ही द्वार से प्रवेश कर सकते हैं. काफी समय से ही भक्तों की मांग थी कि सभी द्वार खोले जाएं.

मंदिर की देखरेख के लिए 500 करोड़ आवंटित होंगे

माझी ने जानकारी देते हए कहा कि मंदिर के संरक्षण और देखरेख के लिए मंत्रिमंडल ने 500 करोड़ रुपये का एक कोष गठित करने का निर्णय लिया है. सीएम ने बोला कि सभी मंत्री बुधवार रात तीर्थनगरी पुरी में ही रुके थे और चारों द्वार खोलने के समय सभी वहां मंदिर में मौजूद रहेंगे.

‘धान का MSP बढ़कर 3100 रुपये प्रति कुंतल होगा’

माझी ने बोला कि राज्य गवर्नमेंट धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाकर 3100 रुपये प्रति क्विंटल करने के लिए भी कदम उठाएगी और संबंधित विभाग को इसके लिए निवारण निकालने के लिए बोला गया है. इसके अतिरिक्त एमएसपी सहित किसानों की समस्याओं से निपटने के लिए एक विशेष नीति “समृद्ध कृषक नीति योजना” बनाई जाएगी.

Related Articles

Back to top button