......और आंदोलन की राह पर चल पडे़ गजराज, रात भर मचाया उत्पात, कई घरों को किया ध्वस्त

......और आंदोलन की राह पर चल पडे़ गजराज, रात भर मचाया उत्पात, कई घरों को किया ध्वस्त

झारखंड। अपनी मांगों के समर्थन में देश में आंदोलन की परंपरा रही है। उस परंपरा का निर्वहन आज भी हो रहा है। किसान दिल्ली में आंदोलन पर डटे हैं तो उनके समर्थन में जिलों में लोग आंदोलन कर रहे हैं। ऐसे में गजराज चुप कैसे बैठ सकते हैं। अपना घर सबों को प्यारा होता है। यदि लोगों का घर उजाड़ने की कोशिश की जए तो लोग चुप नहीं बैठ सकते हैं। जंगल गजराज अर्थात हाथियों का घर होता है।

इन दिनों झारखंड में जिस गति से जंगलों की कटाई हो रहीं है इससे हाथियों का आक्रोशिकत होना लाजिमी है। इसलिए वे भी आंदोलन की राह पर चल पडे़ हैं। वे झुंड बनाकर जंगल के निकट के गावों में प्रवेश कर जमकर उत्पात मचाते हंैं और कई घरों को ध्वस्त भी कर दते हैं। यह वाकया 10 फरवरी की रात की है। हजारीबाग जिले के चुरचू प्रखंड के सरवाहा और चनारो पंचायत के चीची कला गांव में हाथियों का झुंड जा पहुंचा। यहां हाथियों के झुंड ने रात भर उत्पात मचाया और कई घरों को भी ध्वस्त कर दिया।

मिली जानकारी के अनुसार गजराज के झुंड ने तकरीबन 11 व्यक्तियों के घर को तोड़ फोड़ कर रख दिया। वहीं खेतों में लगी फसलों को भी पूर्ण रूप से बर्बाद कर दिया। इससे स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें काफी नुकसान हुआ। ग्रामीणों ने बताया कि हम खेती पर ही आश्रित रहते हैं ऐसे में हमारी फसलों को जो नुकसान पहुंचा है। मौके पर मौजूद चुरचू उप प्रमुख चौलेश्वर महतो ने चुरचू प्रखंड विकास पदाधिकारी इंदर कुमार, वनपाल गणेश राम से बात करके उचित मुआवजा देने की बात कही है।

बताते चलें की हाथियों का झुंड चरही घाटी के नेशनल हाईवे में भी उतर आया था जिससे घाटी क्षेत्र में लंबी गाड़ियों की कतार लग गई थी। इससे पहले कि कोई अप्रिय बड़ी घटना हो।  ग्रामीणों ने बताया की ऐसी स्थिति में हमें घरो खेतों के अलावा जान का डर भी बना रहता है। वन विभाग को  इस पर त्वरित संज्ञान लेते हुए कोई कदम उठाना चाहिए।


कोरोना पर सुप्रीम कोर्ट सख्त: सरकार को भेजा नोटिस, पूछा...

कोरोना पर सुप्रीम कोर्ट सख्त: सरकार को भेजा नोटिस, पूछा...

ई दिल्ली: देश में कोरोना से हालात हर दिन बिगड़ते जा रहे हैं। अब इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने भारत में कोरोना वायरस के मौजूदा हालात पर स्वत: संज्ञान लिया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने सुनवाई के बाद केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए नेशनल प्लान क्या है।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि देश को ऑक्सीजन की सख्त जरूरत है। सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन की आपूर्ति और आवश्यक दवाओं के मुद्दे पर स्वत: संज्ञान लिया। सीजेआई एसए बोबडे ने कहा कि कि अदालत इस मामले की सुनवाई शुक्रवार को करेगी। कोर्ट ने हरीश साल्वे को एमिकस क्यूरी भी नियुक्त किया है।


Suzuki Hayabusa का नया अवतार इस दिनांक को होगा लॉन्च, मूल्य       Royal Enfield की इस सस्ती बाइक की मार्केट में धूम, बिक्री में पूरे 286 परसेंट की बढ़ोत्तरी       Ola Electric हिंदुस्तान में लगाएगा दुनिया का सबसे बड़ा चार्जिंग सेटअप       दमदार ड्राइविंग रेंज के साथ महज 18 मिनट में होगी चार्ज, Ola इलेक्ट्रिक स्कूटर जुलाई मे होगी लॉन्च       लीक हुई Mi 11X Pro और Mi 11X की कीमत       जानिए कैसा है 48MP कैमरे वाला यह स्मार्टफोन       WhatsApp यूजर्स के लिए चेतावनी! भूलकर भी नहीं करें ये गलतियां       Realme के 6000mAh बैटरी वाले फोन की मूल्य में कटौती       Apple ने हिंदुस्तान में लॉन्च किया iPad Pro, बढ़िया डिस्प्ले और 5G कनेक्टिविटी के साथ मिलेंगे कई खास फीचर्स       कार या बाइक चलाते समय नहीं कटवाना चाहते हैं Challan तो इन ऐप का करें इस्तेमाल       जोड़ों के दर्द या अर्थराइटिस की समस्या से आराम दिलाती है ब्रोकली       सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस के दर्द को दूर करने के कुछ आसान घरेलु उपाय       अगर कमजोर हो गयी है आपकी याददाश्त तो जरूर करें ये उपाय       गर्मियों में स्वस्थ रहने के लिए जरुरी है इन चीजों का सेवन       आखिर प्रेग्नेंसी में क्यों दी जाती है सूखा नारियल खाने की सलाह       क्या आप भी प्लान कर रहे हैं बच्चा तो आज से ही खाना शुरू कर दें ये चीजें       शायद आप नहीं जानते होंगे नाश्ते में अंडे खाने के ये जबरदस्त फायदे       दांतों को कमजोर बना सकती हैं ये चीजें, भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन       गर्मियों में तरबूज का ज्यादा सेवन भी सेहत को पहुंचा सकता है नुकशान       गले के रोग को हल्के में न लें, लापरवाही बन सकती है इस बड़ी बीमारी की वजह