राष्ट्रीय

ईडी ने पुलिस के नारे लगा रहे केजरीवाल के कई समर्थकों को लिया हिरासत में…

नई दिल्ली: दिल्ली शराब नीति मुद्दे में प्रवर्तन निदेशालय ने 21 मार्च (गुरुवार) को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अरैस्ट कर लिया है आज ही दिल्ली उच्च न्यायालय ने केजरीवाल को गिरफ्तारी को लेकर सुरक्षा देने से इनकार कर दिया था जिसके बाद गुरुवार शाम 7 बजे प्रवर्तन निदेशालय की टीम केजरीवाल के घर पहुंची टीम के पास सर्च वारंट था जांच एजेंसी ने दो घंटे तक मुख्यमंत्री आवास की तलाशी ली फिर केजरीवाल से करीब 2 घंटे तक पूछताछ की गई इसके बाद रात 9 बजे प्रवर्तन निदेशालय ने अरविंद केजरीवाल को अरैस्ट कर लिया पुलिस ने नारे लगा रहे केजरीवाल के कई समर्थकों को भी हिरासत में ले लिया है वहीं, आम आदमी पार्टी नेता और मंत्री आतिशी ने बोला कि अरैस्ट होने के बाद भी अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने रहेंगे

सूत्रों के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ऑफिसरों ने अरविंद केजरीवाल और उनके परिवार के सदस्यों के मोबाइल टेलीफोन और अन्य गैजेट बरामद कर लिए थे. मुख्यमंत्री हाउस के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया केजरीवाल के घर के बाहर धारा 144 भी लगा दी गई सूत्रों के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय ने शराब नीति मुद्दे में अरविंद केजरीवाल को मास्टरमाइंड कहा है

दिल्ली की शराब नीति मुद्दे में प्रवर्तन निदेशालय अब तक अरविंद केजरीवाल को 9 बार समन भेज चुकी है, लेकिन वह एक बार भी प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश नहीं हुए हैं केजरीवाल ने 9वें समन को दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी और गिरफ्तारी से सुरक्षा मांगी थी जिसे खारिज कर दिया गया जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय मुख्यमंत्री के घर पहुंची है

केजरीवाल ने न्यायालय से बोला था कि वह प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होने को तैयार हैं, लेकिन उन्हें आश्वस्त किया जाना चाहिए कि जांच एजेंसी उन्हें अरैस्ट नहीं करेगी इस मुद्दे में दिल्ली उच्च न्यायालय ने प्रवर्तन निदेशालय को भी उत्तर देने और नयी अंतरिम याचिका दाखिल करने को बोला है इस मुद्दे की अगली सुनवाई 22 अप्रैल को होगी

केजरीवाल को कब जारी हुए समन?

शराब नीति मुद्दे में प्रवर्तन निदेशालय ने इसी वर्ष 17 मार्च को अरविंद केजरीवाल को नौवां समन भेजा था इससे पहले दिल्ली मुख्यमंत्री को आठवां समन 27 फरवरी को, सातवां समन 26 फरवरी को, छठा समन 22 फरवरी को, पांचवां समन 2 फरवरी को, चौथा समन 17 जनवरी को और तीसरा समन 3 जनवरी को जारी किया गया था जबकि 2023 में दूसरा समन 21 दिसंबर को और पहला समन 2 नवंबर को जारी किया गया था

सुबह उच्चतम न्यायालय में होगी सुनवाई

इस बीच प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई के विरुद्ध अरविंद केजरीवाल की कानूनी टीम उच्चतम न्यायालय पहुंच गई है टीम ने ई-फाइलिंग के जरिए अर्जी दाखिल की और मुद्दे की तुरन्त सुनवाई के लिए अर्जेंट लिस्टिंग की मांग की हालांकि, उच्चतम न्यायालय ने मुद्दे की तुरंत सुनवाई से इनकार कर दिया केजरीवाल की अर्जी पर न्यायालय शुक्रवार सुबह सुनवाई करेगी कांग्रेस पार्टी नेता और प्रसिद्ध वकील अभिषेक मनु सिंघवी न्यायालय में केजरीवाल का पक्ष रख रहे हैं केजरीवाल की कानूनी टीम उच्चतम न्यायालय रजिस्ट्री से संपर्क कर रही है लीगल टीम ने मुद्दे की जानकारी चीफ जस्टिस को देने की मांग की है

Related Articles

Back to top button