इन कारणों की वजह से आपको हो सकते है वायरल इंफेक्शन, जाने इम्यूनिटी बढ़ाने का तरीका

इन कारणों की वजह से आपको हो सकते है वायरल इंफेक्शन, जाने इम्यूनिटी बढ़ाने का तरीका

कोरोना वायरस ने पूरी संसार में अपना प्रकोप फैला रखा है। इस वायरस ने अब तक 50,000 से भी ज्यादा लोगों की जान ले ली है व 10 लाख से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर चुका है।

 डॉक्टरों की मानें तो ये वायरस किसी भी आयु के इंसान को होने कि सम्भावना है, लेकिन इसके कारण होने वाली मृत्यु का खतरा सबसे ज्यादा उन्हें है, जिन्हें पहले से कोई रोग है या जिनकी इम्यूनिटी निर्बल है। अब महत्वपूर्ण ये है कि कैसे पता लगाया जाए कि आपकी इम्यूनिटी निर्बल है या मजबूत।

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि शरीर में दिखने वाले कुछ इशारा ये बताते हैं कि आदमी निर्बल इम्यूनिटी वाला है या नहीं। दरअसल इम्यून सिस्टम निर्बल होने से किसी भी प्रकार के वायरल इंफेक्शन का खतरा बना रहता है। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही 5 संकेतों के बारे में जो निर्बल इम्यूनिटी को साफ दर्शाते हैं। अगर आपमें भी ये इशारा अक्सर दिखते हैं, तो आपको ज्यादा सतर्क व सुरक्षित रहने की आवश्यकता है।

बार-बार सर्दी-जुकाम होना
सर्दी-जुकाम बेहद आम समस्या है, जो हर किसी को होती रहती है। लेकिन अगर आपको कॉमन कोल्ड बहुत जल्दी-जल्दी होता है, तो ये इस बात का इशारा है कि आपकी इम्यूनिटी निर्बल है। अगर आपको कम समय की अवधि में बार-बार सर्दी-जुकाम होता है तो ये साफ बताता है कि आपका इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग नहीं है। अगर आपको ज्यादा बार जुकाम होता है या लंबे समय तक अच्छा नहीं होता है तो आपकी इम्यूनिटी निर्बल है।



बार-बार इंफेक्शन होना
इंफेक्शन यानी संक्रमण कई तरह के होते हैं। यौन संक्रमण (यूटीआई), स्किन इंफेक्शन (खुजली व दाद), फेफड़ों का संक्रमण (खांसी, नाक बहना, सांस में तकलीफ)। ऐसे ही बहुत सारे इंफेक्शन हैं, जिनका लोग कई बार शिकार होते रहते हैं। अगर आपको कोई एक या भिन्न-भिन्न संक्रमण जल्दी-जल्दी हो रहे हैं, तो ये भी इस बात का इशारा है कि आपकी इम्यूनिटी निर्बल है। दरअसल अगर आदमी की इम्यूनिटी अच्छी हो तो बाहर से प्रवेश करने वाले वायरस व बैक्टीरिया को शरीर के अंदर उपस्थित अच्छे बैक्टीरिया खुद ही मार देते हैं। मगर निर्बल इम्यूनिटी में ये बैक्टीरिया शरीर पर हावी हो जाते हैं व इंफेक्शन पैदा करते हैं।

घाव भरने में ज्यादा समय लगना
छोटे मोटे कट व घाव शरीर में लगते ही रहते हैं। ये घाव अपने आप भर जाते हैं व स्किन अपने आप पहले जैसी हो जाती है। लेकिन अगर किसी आदमी की इम्यूनिटी निर्बल है, तो उसके घाव भरने में समय लगता है। अगर आपके शरीर में कटने पर या घाव लगने पर उसे भरने में ज्यादा समय लग रहा है, तो इसका मतलब है कि आपकी इम्यूनिटी निर्बल है। वैसे कई बार घाव जल्दी न भरना डायबिटीज का भी इशारा होने कि सम्भावना है, हालांकि डायबिटीज भी निर्बल इम्यूनिटी से ही जुड़ी हुई बीमारी है।

हर समय थकावट महसूस करना
अगर प्रतिदिन हेल्दी खाना पेट भर खाने व रात में अच्छे से नींद लेने के बाद भी आपके शरीर में थकान बनी रहती है व थोड़ा सा कार्य करते ही आप थक जाते हैं तो ये भी इस बात का इशारा होने कि सम्भावना है कि आपकी इम्यूनिटी निर्बल है व इसे मजबूत बनाने की आवश्यकता है। हालांकि थकान अकेले इम्यूनिटी निर्बल होने का नहीं, बल्कि डायिबटीज, थायरॉइड, एनीमिया जैसी कई बीमारियों का इशारा भी होने कि सम्भावना है।