यहां जाने मोटापे का सेक्स जीवन पर असर

यहां जाने मोटापे का सेक्स जीवन पर असर

वैवाहिक जीवन की सफलता और यौनसंतुष्टि के बीच गहरा रिश्ता है. कई सर्वेक्षणों के अनुसार पता चला है कि भारत में होने वाले तलाक के मामलों में से 50 प्रतिशत के पीछे यौनसंतुष्टि का अभाव मुख्य कारण रहा था.

यौन संबंध को  को बनाने की सीधा संबंध व्यक्ति में उत्पन्न होने वाली कामेच्छा से है. कामेच्छा उत्पन्न होने के बाद ही व्यक्ति अपने साथी से शारीरिक संबंध बनाता है. लेकिन आज दूषित वातावरण में रहने के कारण सभी लोग तेजी से बीमारियों की चपेट में आने लगे हैं और यही बीमारियां कामेच्छा में कमी का मुख्य आधार है. तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में कामेच्छा में कमी करती है.

मोटापे का सेक्स जीवन पर असर- हमारे देश में भी मोटापे के शिकार लोगों की तादाद तेजी से बढ़ने लगी है. मोटापे के शिकार लोगों को भावनात्मक, शारीरिक व मानसिक समस्याओं के साथ ही सेकसुअल जीवन से भी जुड़ी कई समस्याओं से परेशान होना पड़ता है. सेकसुअल जीवन के खराब होने व साथी को पूर्ण संतुष्टी न देने पाने के पीछे भी मोटापा एक बड़ी वजह हो सकता है. 

मोटे लोगों के लिए साथी में आकर्षण नहीं होता. आकर्षष न होने के कारण कामेच्छा भी उत्पन्न नहीं हो पाती है. ज्यादा मोटे और बेडौल शरीर वाले व्यक्ति चाहे कितने ही अच्छे व्यक्तित्व का क्यों न हो, लोग उनके साथ यौन क्रियाओं के लिए इच्छा नहीं जताते हैं. इस कारण भी मोटे लोगों में हीन भावना आने लगती है. 

मोटे शरीर के कारण साथी या अन्य लोगों की उपेक्षा को झलने की वजह से यह लोग भी सेक्स से दूर होने लगते हैं. हीन भावना से ग्रसित होने के कारण मोटे लोगों में सेक्स का मन ही नहीं करता. इस तरह से उनके साथी को भी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसके अलावा मोटापा सेक्सुअल जिदंगी के साथ ही जोड़ो में दर्द, कमजोरी व कमर दर्द जैसी समस्याओं को भी साथ में ही लेकर आता है. मोटे व्यक्ति को यौनक्रियाओं के दौरान जल्द ही थकान महसूस होती है और वह अन्य कार्यों को बेहद ही धीमी गति से पूरा करते हैं. वहीं दोनों साथी मोटे हो तो वह सेक्स का आनंद नहीं ले पाते हैं.