एक बार जरूर घूमने जाएं माउंट आबू

एक बार जरूर घूमने जाएं माउंट आबू

माउंट आबू (Mount Abu) पश्चिमी हिंदुस्तान के राजस्थान व गुजरात सीमा के पास स्थित एक बेहद खूबसूरत सा हिल स्टेशन (Hill Station) है। यह अरावली रेंज में एक ऊंचे पथरीले पठार पर स्थित है व चारों तरफ से जंगल (Forest) से घिरा हुआ है। यहां पर आप शांत जलवायु व खूबसूरत पहाड़ियों के मनोरम दृश्य का लुत्फ उठा सकते हैं। शहर के केन्द्र में घूमने की बहुत सी जगहें हैं जहां लोग प्रकृति (Nature) का भरपूर आनंद उठाते हैं। नक्की लेक में नौका विहार से लेकर जंगलों में जानवर देखने तक पर्यटकों को खूब आकर्षित करता है। यहां बहुत से धार्मिक स्थल भी हैं जिसकी नक्काशी देखते ही बनती है। आइए आपको बताते हैं यहां की मुख्य जगहों के बारे में जो यहां की खूबसूरती को चार चांद लगाते हैं।

दिलवाड़ा मंदिर
दिलवाड़ा मंदिर, माउंट आबू से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ये हरियाली से घिरा हुआ है व इर्द गिर्द के क्षेत्रों से दूर बहुत ज्यादा ऊंचाई पर स्थित है। ये मंदिर संगमरमर के अपने आश्चर्यजनक प्रयोग के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। बहुत से पर्यटक इसे वास्तुशिल्प रूप से श्रेष्ठ मानते हैं। इसके दरवाजों से लेकर छत व खंभों तक सब कुछ बेहद शानदार ढंग से डिजाइन किया गया है।

इसे भी पढ़ेंः 
वाइल्ड जीवन सेंचुरी
माउंट आबू एक खूबसूरत हिल स्टेशन है जो रेगिस्तानों की धरती में वनस्पतियों व जीवों की विविधता से समापन है। यहां की वाइल्ड जीवन सेंचुरी में जानवरों के साथ लुभावनी हरियाली भी उपस्थित है जो पर्यटकों को खूब लुभाती है।

नक्की लेक
खूबसूरत नक्की झील चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरी हुई है व यहां नौका विहार एक आनंददायक अनुभव है। यह हिंदुस्तान की एकमात्र कृत्रिम झील है जिसे समुद्र तल से 1200 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर बनाया गया है।

गुरु शिखर
यह समुद्र तल से लगभग 1,722 मीटर की ऊंचाई वाली अरावली श्रेणी की सबसे ऊंची चोटी है। यहां पहाड़ की चोटी तक की यात्रा एडवेंचरस व मजेदार है। गुरु शिखर का मनमोहक दृश्य पर्यटकों को अपनी व आकर्षित करता है।

इसे भी पढ़ेंः 

गौमुख मंदिर
गौमुख मंदिर में 700 सीढ़ियों की एक पवित्र चढ़ाई है। यह आसपास की घाटी का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। यह सारे वर्ष धार्मिक तीर्थ यात्राओं व मेडिटेशन के लिए मशहूर जगह है। संगमरमर के बैल के मुंह से गिरने वाली रहस्यमयी जलधारा हिंदू पौराणिक कथाओं में भगवान शिव के दिव्य बैल नंदी को समर्पित है।

अचलगढ़ गांव
अचलगढ़ गांव माउंट आबू में एक सुरम्य गांव है जो अचलगढ़ किले व अचलेश्वर मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। यहां का अचलगढ़ किला एक पर्वत शिखर के शीर्ष पर बना हुआ है।