शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करे इन स्पेशल ड्रिंक्स व फूड का सेवन

शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए करे इन स्पेशल ड्रिंक्स व फूड का सेवन

अक्सर बीमार पड़ने के पीछे निर्बल इम्यूनिटी एक बहुत बड़ा कारण होता है। इम्यूनिटी निर्बल होने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। इम्यूनिटी निर्बल होना कोई बीमारी नहीं है बल्कि एक समस्या है, जो कई बीमारियों का कारण बन सकती है। 

इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए कई प्रकार के फूड्स का सेवन करना चाहिए। सिर्फ इतना ही नहीं शरीर को बीमारियों से मुक्त रखने के लिए बहुत अधिक मात्रा में पानी पीना भी महत्वपूर्ण होता है। इसके अतिरिक्त कुछ खास ड्रिंक्स भी आपकी इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं। आपके घर में रखीं कुछ चीजों का प्रयोग करके आप सरलता से ये स्पेशल ड्रिंक्स व अचार बना सकते हैं व अपनी इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकते हैं।

अदरक, हल्दी व गाजर का ड्रिंक 
इसे बनाने के लिए सभी सब्जियों को सबसे पहले धो लें। अजवाइन, गाजर, नींबू, खीरा, अदरक व हल्दी को पीस लें। अब इसमें एक चुटकी काली मिर्च डालें। सभी को अच्छे से मिलाएं व पी लें। हल्दी एक हाई एंटीऑक्सिडेंट मसाला है क्योंकि इसमें कर्क्यूमिन होता है। वहीं काली मिर्च में पेपरिन होती है, जो कर्क्यूमिन के अवशोषण को बढ़ाती है। इसके अतिरिक्त अदरक सूखी खांसी को रोकने में मदद करता है व इसका रस खाने को पचाने में भी मदद करता है। नींबू विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत है, जो एक एंटीऑक्सिडेंट व इम्यूनिटी बूस्टर भी है। इस वेजीटेबल जूस को जरूर पिएं।

गाजर व चुकंदर से बनी कांजी
गाजर, चुकंदर, पिसी हुई सरसों का पाउडर, कश्मीरी मिर्च पाउडर व पानी लें। इन सभी को एक बड़े जार में डालें व अच्छी तरह से मिक्स कर लें। इस जार का ढक्कन टाइट से बंद कर दें व किसी गर्म जगह पर कम से कम 3 दिन तक के लिए छोड़ दें। इसके अतिरिक्त आप इसे सारे दिन के लिए भी धूप में छोड़ सकते हैं। इसका स्वाद खट्टा होता है व ये 4 से 5 दिन तक पिया जा सकता है। कांजी एक उत्कृष्ट प्रोबायोटिक है। ये आपके आंतों के लिए बहुत अच्छा होता है। अगर आपकी आंतों का स्वास्थ्य अच्छा होगा तो आपकी इम्यूनिटी भी बेहतर होगी।

ताजी हल्दी का आचार
इसे बनाने के लिए ताजा हल्दी, अदरक, नमक, नींबू, सरसों का तेल, सरसों के दानें व काली मिर्च लें। हल्दी व अदरक को अच्छे से धो लें व लंबा-लंबा काट लें। एक पैन में सरसों का ऑयल गर्म करें। जब ऑयल गर्म हो जाए तो इसे एक तरफ रख दें। अब एक बाउल में नींबू का रस निकाल लें। पैन में सरसों के बीज डालें। जब ये पक जाएं तो इन्हें अलग रख दें। सरसों का ऑयल थोड़ा ठंडा हो जाने पर उसमें सरसों, हल्दी व अदरक डाल दें। हल्दी व अदरक के मिलावट में नींबू का रस, नमक व काली मिर्च मिला दें। इसे ऐसे डिब्बे में रखें, जिसमें हवा भी न जा सके व जब दिल करें तब खाएं। हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह विभिन्न प्रकार के रोगों से बचाता है व इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में भी मदद करता है।