लाइफ स्टाइल

तुलसी विवाह के आयोजन के साथ किए जाते हैं कई विशेष उपाय, जानें

 हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को प्रदोष काल में तुलसी शादी मनाया जाता है इस दिन सूर्यास्त के बाद तुलसी जी का शालिग्राम जी से शादी कराया जाता है धार्मिक मान्यता है कि जो आदमी विधिविधान से तुलसी शादी का आयोजन करता है, उसके वैवाहिक जीवन की दिक्कतें दूर होती है और रिश्तों में प्यार और मिठास बढ़ता है इस वर्ष 24 नवंबर 2023 को तुलसी शादी मनाया जा रहा है तुलसी शादी के दिन अमृत सिद्धि योग समेत 3 अद्भुत संयोग बन रहे हैं इस शुभ दिन पर वैवाहिक जीवन में खुशहाली के लिए तुलसी शादी के आयोजन के साथ कई विशेष तरीका भी किए जाते हैं आइए जानते हैं तुलसी शादी का शुभ मुहूर्त और विशेष उपाय…

तुलसी शादी का शुभ मुहूर्त: पंचांग के अनुसार, इस वर्ष कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि की आरंभ 23 नवंबर को रात में करीब 9 बजकर 2 मिनट से होगी और 24 नवंबर को शाम 07 बजतक 05 मिनट पर खत्म होगी ऐसे में उदया तिथि के अनुसार, 24 नवंबर को तुलसी शादी मनाया जाएगा

तुलसी शादी का शुभ समय: तुलसी शादी का आयोजन प्रदोष काल में किया जाता है इस तुलसी शादी के दिन प्रदोष काल का शुरुआत शाम को 5 बजकर 25 मिनट से हो रहा है

तुलसी शादी पर बन रहें हैं शुभ संयोग

अमृत सिद्धि योग: तुलसी शादी के दिन सुबह 6 बजकर 51 मिनट से अमृत सिद्धि योग का निर्माण हो रहा है, जिसकी समापन शाम को करीब 4 बजे होगी

सर्वार्थ सिद्धि योग: इस वर्ष तुलसी शादी के मौके पर दिन भर सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है इस योग में किए गए धर्म कर्म के कार्य बहुत शुभ माने जाते हैं

सिद्धि योग: वर्ष 2023 में कार्तिक माह की द्वादशी तिथि को सिद्धि योग भी बन रहा है यह 24 नवंबर को सुबह 9 बजकर 5 मिनट पर खत्म होगा

वैवाहिक जीवन में खुशहाली के उपाय:

जीवनसाथी के साथ करें तुलसी विवाह: यदि आपको लंबे समय से मैरिड लाइफ में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो तुलसी शादी के दिन अपने पति के तुलसी माता और विष्णुजी के अवतार शालिग्राम की वकायदा पूजा करें इसके बाद तुलसी मंगलाष्टक का पाठ करें मान्यता है कि इस तरीका से वैवाहिक जीवन की बड़ी से बड़ी मुश्किलों से छुटकारा मिलता है और साथी संग रिश्ता मजबूत होता है

घी का दीपक जलाएं: मान्यता है कि तुलसी शादी के दिन तुलसी के पौधे के सामने घी का दीपक प्रज्ज्वलित करना चाहिए इस तरीका से गृह-क्लेश से मुक्ति मिलती है और वैवाहिक जीवन में खुशहाली आती है

तुलसी माता को सोलह श्रृंगार चढ़ाएं: तुलसी शादी के दौरान तुलसी माता को सोलह श्रृंगार की सामग्री अर्पित करें मान्यता है कि इससे दांपत्य जीवन में प्यार बढ़ता है और कुंवारी कन्याओं की शादी में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं और शीघ्र शादी के योग बनते हैं

Related Articles

Back to top button