रात में खट्टे फलों का सेवन करने से हो सकते है यह बड़े नुकसान

रात में खट्टे फलों का सेवन करने से हो सकते है यह बड़े नुकसान

फलों (Fruits) का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक लाभकारी होता है। दरअसल फलों में ढेर सारे विटामिन्स (Vitamins), मिनरल्स (Minerals) व पौष्टिक तत्व होते हैं, जो शरीर को तंदरुस्त व सेहतमंत बनाए रखने में मदद करते हैं।

 लेकिन क्या आप जानते हैं कि फलों को ठीक समय पर खाना बॉडी (Body) के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। किसी भी वक्त फलों को सेवन करने से ये शरीर को गंभीर रूप से नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। बेवक्त खाई गई वस्तु शरीर पर उल्टा प्रभाव करती है। इसका मतलब ये है कि असमय खाया गया फल शरीर को लाभ नहीं बल्कि नुकसान पहुंचाता है। आइए आपको बताते हैं कि किन फलों को आपको रात में बिल्कुल नहीं खाना चाहिए नहीं तो ये आपके लिए नुकसानदायक हो सकते हैं।

Tophealthnews की समाचार के अनुसार रात में विटामिन सी युक्त खट्टे फलों का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। खट्टे फल यानी कि सिट्रस फ्रूट। दरअसल नींबू, संतरा, मौसमी सहित ये सिट्रस फल अम्‍लीय (एसिडिक) होते हैं। रात में सोने से पहले खट्टे फलों का सेवन करने से किसी भी आदमी को एसिडिटी की समस्या हो सकती है व जिस आदमी को गैस और पेट से जुड़ी समस्याएं रहती हैं उसे तो बिल्कुल भी रात को खट्टी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः  रात में खट्टे फलों का सेवन करने से होने वाले नुकसान



रात में खट्टे फलों का सेवन करने से खांसी व गले में दर्द जैसी समस्या हो सकती है।

रात में सिट्रस फूड के सेवन से खांसी व कफ भी बन सकता है।

सोने से अच्छा पहले विटामिन सी का सेवन नींद में कमी पैदा कर सकता है।

रात में सिट्रस फूड का सेवन करने से वजन कम करने में भी कठिन होती है।

रात को सिट्रस फूड का सेवन करने से शरीर में पानी की मात्रा बढ़ती है जिसके कारण बार-बार टॉयलेट जाना पड़ सकता है।

आयुर्वेद के अनुसार रात को खट्टे फलों के सेवन से वात गुनाह बढ़ता है।

इसे भी पढ़ेंः 

खट्टे फल अम्लीय होते हैं। इसका मतलब है कि ये आपके सीने में जलन पैदा कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त बहुत से लोग इस बात को नहीं जानते होंगे कि सिट्रस फूड को खाने के दस मिनट बाद उन्हें अपने दांतों को ध्यान से ब्रश करना चाहिए क्योंकि ये दांतों को सड़ा भी सकते हैं। दांतों को नष्ट करने वाला प्राथमिक पदार्थ बैक्टीरिया द्वारा उत्पादित एसिड होता है लेकिन बैक्टीरिया को एसिड में किण्वित करने के लिए बैक्टीरिया को थोड़ा समय लगता है।