लाइफ स्टाइल

तनाव और डिप्रेशन से जूझ रहे पुरुषों की परेशानी का कैसे करें पहचान…

मानसिक स्वास्थ्य का मामला केवल स्त्रियों से जुड़ा हुआ नहीं है पुरुष भी मानसिक स्वास्थ्य से जुडी परेशानियों का सामना करते हैं एक रिपोर्ट के अनुसार, पूरे विश्व के लगभग 40 फीसदी पुरुष इस समय डिप्रेशन, एंग्जायटी और स्ट्रेस जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को झेल रहे हैं ये आंकड़ा चौकाने वाला है मानसिक स्वास्थ्य के मामले पर सोसायटी में खुलकर चर्चा होने के बावजूद आज भी पुरुष अपने संघर्ष और भावनाओं को छुपाने के दबाव महसूस करते हैं पुरुष अपनी भावनाओं को क्यों छुपाते हैं? किस प्रकार से उनकी कठिनाई को पहचाना जा सकता है? मर्दों के मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने के क्या किया जा सकता है? चलिए जानते हैं-

<img class="alignnone wp-image-540269″ src=”https://www.newsexpress24.com/wp-content/uploads/2024/02/newsexpress24.com-mens-mental-health-40-download-2024-02-26t194136.214.jpg” alt=”” width=”1334″ height=”783″ />

पुरुष अपनी भावनाएँ क्यों छिपाते हैं?

सामाजिक उम्मीदें- पारंपरिक मर्दाना मानदंड कहते हैं कि पुरुष रोते नहीं हैं मर्दों को सख्त और मजबूत होना चाहिए सोसायटी के इन पारंपरिक मर्दाना मानदंडों ने मर्दों की मानसिक स्थिति खराब कर रखी है इनकी वजह से पुरुष अपनी भावनाओं को खुलकर किसी के सामने कह नहीं पाते हैं

कमजोर दिखने का डर- ज्यादातर मर्दों को लगता है कि यदि वह अपने मानसिक स्वास्थ्य के बारे में खुलकर बार करेंगे तो सोसायटी उन्हें कमजोर और असमर्थ समझेगी इस डर से बहुत से पुरुष अपनी भावनाओं को छुपाते हैं और अंदर ही अंदर घुटते रहते हैं मानसिक स्वास्थ्य को लेकर सामाजिक कलंक के कारण भी बहुत से पुरुष सहायता मांगने से परहेज करते हैं

फीलिंग जाहिर करने के लिए शब्द नहीं है- ये एक कड़वी सच्चाई है कि बहुत से मर्दों को पता ही नहीं होता है कि उन्हें अपने मानसिक स्वास्थ्य पर लोगों से कैसे बात करनी है मानसिक स्वास्थ्य मुद्दों पर बात हो रही है, लेकिन इस मामले पर चर्चा कैसे करनी है, कहाँ से आरंभ करनी है, शायद ही कोई मर्दों को बताता है

पुरुषों में लक्षणों की पहचान कैसे करें?

सामाजिक गतिविधियों से दूरी- मानसिक कठिनाई का अनुभव कर रहे पुरुष सामाजिक गतिविधियों से दूरी बनाने लगते हैं ऐसे लोग दोस्तों के साथ पार्टी करना छोड़ देते हैं, परिवार के साथ समय बिताने के बजाय अकेले रहने लगते हैं

व्यवहार में परिवर्तन- यदि कोई पुरुष मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहा है तो उनके व्यवहार में अचानक बदलाव आ सकता है शांत रहने वाला आदमी अचानक चिड़चिड़ा हो सकता है, हर बात पर उसे गुस्सा आ सकता है, मूड स्विंग्स अनुभव हो सकते हैं, शराब का अधिक सेवन करना प्रारम्भ कर सकता है ये सभी ध्यान देने वाले मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के संकेत हैं

भावनात्मक मुखौटा- पुरुष अपनी परेशानियों को जाहिर होने के रोकने के लिए अक्सर हँसते हुए नजर आ सकते हैं जरुरत से अधिक हंसकर कठिनाई को छुपाया जा सकता है हँसते हुए आदमी सभी को खुश नजर आते हैं और कोई उनसे कठिनाई नहीं पूछता, इसलिए पुरुष भी अपनी परेशानियों को छिपाने के लिए हंसने का सहारा लेते हैं

 

Related Articles

Back to top button