लाइफ स्टाइल

बाल आधार कार्ड के लिए ऐसे करें आवेदन

आधार कार्ड एक अहम डॉक्युमेंट है ये नाम, जन्मतिथि और स्थाई पता आदि के लिए एक आइडेंटिटी प्रूफ का काम करता है मोदी गवर्नमेंट 2009 में आधार कार्ड का कांसेप्ट लेकर आयी है बाद में, आधार को प्राथमिक पहचान प्रमाण पत्र के रूप में मान्यता दी गयी अब सरकारी से लेकर प्राइवेट तक हर जरुरी काम में आधार कार्ड का आइडेंटिटी प्रूफ के रूप में इस्तेमाल किया जाता है

शुरुआत में, आधार को बड़े लोगों के लिए जारी किया जाता है लेकिन 2018 में UIDAI ने छोटे बच्चों के लिए भी आधार कार्ड जारी करना प्रारम्भ कर दिया, जिसे बाल आधार के नाम से जाना जाता है बाल आधार पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए जारी किया जाता है ये आम आधार के सफेद रंग की बजाय नीले रंग में जारी किया जाता है इसलिए इसे नीला आधार कार्ड भी बोला जाता है बड़े लोगों के आधार की तरह इसमें भी 12 अंकों की विशिष्ट पहचान संख्या शामिल है चलिए इसके बारे विस्तार से जानते हैं-

बाल आधार कार्ड के लिए आवेदन 

– UIDAI की वेबसाइट uidai.gov.in पर जाएं

– आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन ऑप्शन को चुनें

– इसके बाद, बच्चे का नाम, माता-पिता/अभिभावक का टेलीफोन नंबर डालें साथ ही अन्य जरूरी जानकारी भी दर्ज करें

– ब्लू आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन के लिए अपॉइंटमेंट स्लॉट सिलेक्ट कर लें

– अपने निकटतम नामांकन केंद्र पर ही अपॉइंटमेंट बुक करें

– बच्चे के साथ आधार नामांकन केंद्र पर बुक की गई तारीख के दिन जाएं साथ ही अपने साथ अपना आधार कार्ड, अपना पता प्रमाण और बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र जैसे महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स ले जाना एकदम न भूलें

– बच्चे के UID के साथ लिंक करने के लिए अपने आधार कार्ड की डिटेल्स दें बता दें कि इसके लिए सिर्फ़ बच्चे की तस्वीर देनी होगी इसके अतिरिक्त कोई बायोमेट्रिक डेटा नहीं देना होगा

– फोटोग्राफी के बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की प्रक्रिया प्रारम्भ होगी यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आएगा

60 दिनों के भीतर आपके बच्चे के नाम पर बाल आधार कार्ड जारी कर दिया जाएगा ध्यान रहे कि बाल आधार कार्ड के लिए आपको कोई चार्ज नहीं देना

प्रारंभिक नामांकन के लिए बायोमेट्रिक जरुरी नहीं

बड़ों के लिए आधार नामांकन प्रक्रिया के उल्टा प्रारंभिक नामांकन प्रक्रिया के दौरान पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए फिंगरप्रिंट और आईरिस स्कैन जैसे बायोमेट्रिक डेटा की जरूरत नहीं होती है बाल आधार कार्ड पूरी तरह से जनसांख्यिकीय जानकारी और बच्चों के माता-पिता के यूआईडी से जुड़े चेहरे की तस्वीर के आधार संसाधित किया जाता है

वैधता और अपडेट

बाल आधार कार्ड बच्चे के पांच साल की उम्र तक वैध होता है इसके बाद इसे बायोमेट्रिक जानकारी के साथ अपडेट करना होता है कार्ड को बच्चे के 15 वर्ष के होने के बाद नयी बायोमेट्रिक जानकारी के साथ फिर से अपडेट कराना होता है

Related Articles

Back to top button