चैत्र नवरात्र व्रत में साबूदाना पुलाव बनाने के लिए जाने रेसपी

चैत्र नवरात्र व्रत में साबूदाना पुलाव बनाने के लिए जाने रेसपी

चैत्र नवरात्र में अक्सर महिलाए बिना अनाज के व्रत रखती है व सात्विक भोजन ही खाती है ऐसे में आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है एक ऐसी डिश जो खाने में टेस्टी भी है व आपके व्रत में आपको सम्पूर्ण पोषण भी देगी , हम बात कर रहे है साबूदाने के पुलाव की रेसिपी की बारे में, तो देर किस बात की है आइये जानते है इसकी रेसिपी. ।

आवश्यक सामग्री :

3/4 कप साबूदाना
2 छोटे आलू
आधा कप मूंगफली
3 हरी मिर्च बारीक कटी हुई
सेंधा नमक स्वादानुसार
2 बड़े चम्मच घी
1 छोटा चम्मच नींबू रस
1 बड़ा चम्मच बारीक कटा हरा धनिया
डेढ़ कप पानी

बनाने की विधि:साबूदाना पुलाव बनाने से पहले आप एक बात जरुर ध्यान में रखें कि आपको जब भी इसे बनाना हो आप उससे 2-3 घंटे पहले साबूदाना को पानी में भिगों दें. पानी में भिगोने पहले 5-7 बार आप साबूदाना को अच्छे से पानी से धोकर साफ भी कर लें इससे पुलाव का स्वाद अच्छा आता है. इस बीच का पुलाव बनाने के लिए आलू के छोटे-छोटे टुकड़े काटकर एक प्लेट में रख लें. अब आप कढ़ाई लें व उसे गैस पर रख कर गर्म होने दें. कढ़ाई में 1 चम्मच घी डालें व इसमें मूंगफली को फ्राई कर लें. इसी कढ़ाई में मूंगफली को फ्राई करने के बाद आप कटी हुई हरी मिर्ची के साथ आलू को भी फ्राई कर लें. जब आलू अच्छे से फ्राई होने लगे तब आप इसमें थोड़ा सा सेंधा नमक डालकर मिक्स कर लें व इसे ढककर 2-4 मिनट के लिए रख दें इससे आलू अच्छे से गल जाएंगें. पानी में भिगा साबूदाना अब तक बहुत ज्यादा फूल चुका होगा इसका सारा पानी निकालकर आप चाहें तो इसे 1-2 बार व अच्छे से धो लें. साबूदाना का पानी निकालकर आप इसे इसी कढ़ाई में डालें व आलू, मूंगफली व हरी मिर्ची के साथ अच्छे से मिक्स कर लें. साबूदाने पकाने के लिए आप वापस कढ़ाई को 4-5 मिनट के लिए ढक दें पानी में अच्छे से भीग चुके साबूदाना को पकने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. साबूदान पुलाव जब पक जाए तो आप गैस बंद कर दें. साबूदाना का पुलाव तैयार है आप इसे किसी प्लेट में निकालकर अच्छे से धनिये की हरी पत्तियों से गार्निश कर सकती हैं.