लाइफ स्टाइल

पुरुष में किशारोवस्‍था के समय होने वाले बदलाव में इस हार्मोन के कारण उगते है दाढ़ी

Interesting Facts: आपके मन में क्‍या कभी ये प्रश्न उठा है कि दाढ़ी-मूंछ मर्दों के ही क्‍यों होती हैं, स्त्रियों के क्‍यों नहीं? आपमें कुछ लोगों को इस प्रश्न का सामान्‍य उत्तर पता होगा कि ये हार्मोंस की वजह से होता है लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि स्त्रियों और मर्दों में ये अंतर किस हार्मोंन की वजह से होता है वैसे तो ये सामान्‍य सी बात लगती है, लेकिन इसके पीछे वैज्ञानिक कारण होते हैं बता दें कि आदमी के शरीर में सबसे अधिक विकास किशोरावस्था में होता है आदमी में 11 से 13 वर्ष की उम्र में यौन ग्रंथियों का भी विकास होता है

किशोरावस्‍था में मर्दों की यौन ग्रंथियां एंड्रोजन हार्मोन पैदा करती हैं यही वो हार्मोन है, जो मर्दों के चेहरे पर दाढ़ी और मूंछें उगने के लिए जिम्‍मेदार होता है स्त्रियों की यौन ग्रंथियां एंड्रोजन के बजाय एस्ट्रोजन हार्मोन पैदा करती हैं इस हार्मोन का दाढ़ी और मूंछों से कोई लेनादेना नहीं होता है इसी कारण स्त्रियों के चेहरे पर दाढ़ी और मूंछें नहीं आती हैं एस्ट्रोजन हार्मोन की वजह से ही लड़कियों के शरीर में भी परिवर्तन आते हैं एस्ट्रोजन के कारण ही बच्चियों किशोरावस्था में प्रवेश करती हैं

ये भी पढ़ें – व्हिस्‍की, वोदका, रम, वाइन, बीयर में क्‍या है अंतर, किसमें होता है सबसे ज्‍यादा नशा

एंड्रोजन हार्मोन के कारण बनते हैं किशोर
लड़कों के शरीर में किशारोवस्‍था के समय होने वाले परिवर्तन एंड्रोजन हार्मोन के कारण ही होते हैं इसी हार्मोन के कारण उनको दाढ़ी-मूंछ आने के साथ ही आवाज में भारीपन भी आता है इसी हार्मोन की वजह से लड़के अपनी किशोरावस्था में पहुंचते हैं यही वो हार्मोन है, जिसकी वजह से मर्दों के शरीर में भिन्न-भिन्न जगहों पर अनचाहे बाल निकलते हैं अब प्रश्न ये उठता है कि कैसे कुछ लड़कों के बहुत ज्‍यादा उम्र तक दाढ़ी-मूंछ नहीं आती हैं वहीं, लड़कियों के चेहरे पर बाल कैसे निकलने लगते हैं?

ये भी पढ़ें – पराली से दौड़ती हैं BMW-मर्सिडीज कारें, चेहरे पर ला देती है रौनक, गजब के हैं इसके फायदे

कुछ लड़कों को देर से क्‍यों आती है दाढ़ी?
आपने देखा होगा कि कुछ लड़कों को किशोरावस्‍था में पहुंचने के बाद और कुछ को युवा होने के बाद तक दाढ़ी-मूंछें नहीं आती हैं ऐसे किशोरों की आवाज भी लंबे समय तक पतली ही रहती है दरअसल, इनकी यौन ग्रंथियां एंड्रोजन हार्मोन बनाना देरी से प्रारम्भ करती हैं हालांकि, इसके लिए यही एक कारण जिम्‍मेदार नहीं होता है कुछ किशोरों को आनुवांशिक कारणों या बचपन में किसी रोग या किसी दवा के असर के कारण भी दाढ़ी-मूंछ आने में देरी होती है

कुछ लड़कियों को क्‍यों आती हैं दाढ़ी-मूंछ
कभी-कभार कुछ स्त्रियों के चेहरे पर मर्दों की तरह बाल आने लगते हैं स्त्रियों में इस परेशानी को ‘हिर्सुटिज्‍म’ बोला जाता है हिर्सुटिज्‍म के पीछे अनुवांशिक कारण भी उत्तरदायी हो सकते हैं कई बार कुछ दवाइयों के कारण बॉडी में एंड्रोजन हॉर्मोन का तेजी से निर्माण होने लगता है जब हार्मोन का असंतुलन पैदा होता है तो स्त्रियों में अनचाहे बालों की परेशानी होती है गर्भवती स्त्री और मेनोपॉज के समय स्त्रियों के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं इनमें एक हार्मोन का असंतुलन भी हो सकता है स्त्रियों में इस परेशानी के पीछे एंड्रोजन हॉर्मोन उत्तरदायी हो सकता है इसे मेल हार्मोन भी बोला जाता है एंड्रोजन हॉर्मोन के बढ़ने से चेहेरे के पोर्स खुल जाते हैं, जिससे स्त्रियों को इस परेशानी का सामना करना पड़ता है

 

Related Articles

Back to top button