सुखी वैवाहिक ज़िंदगी के लिए जरूर याद रखें ये बातें

सुखी वैवाहिक ज़िंदगी के लिए जरूर याद रखें ये बातें

वैवाहिक ज़िंदगी (Married Life) का सुख हर इंसान लेना चाहता है, क्योंकि दो लोगों के बीच सबसे करीबी रिश्ता यही माना जाता है। इस संबंध को संजोए रखने के लिए कई अनचाही चीजों के भी अनुकूल बनना पड़ता है। वैवाहिक जिंदगी में समस्या आना कोई नयी बात नहीं है। सिर्फ पार्टनर को समझने से ही शादीशुदा जिंदगी में सुख प्राप्त किया जा सकता है। बात करते हैं वैवाहिक ज़िंदगी की समस्या व उनके कुछ कारगार निवारण की।

विवादित माहौल से बचें
यह तो आपने सुना ही होगा जिस घर में दो बर्तन होते हैं तो वो खड़कते ही हैं। वैवाहिक ज़िंदगी में गांठ बांध लें कि पार्टनर से किसी भी तरह की जिरह न करें। छोटी-छोटी बातों पर बहस करने से बचें। अगर आप इस पर अमल करतें हैं तो आपको इसका परिणाम जल्द देखने को मिलेगा।

बात-बात पर हस्तक्षेप न करें
शादी के बाद ज़िंदगी से जुड़ी सभी चीजें तो नहीं बदलतीं लेकिन कुछ चीजों को अगर आप नहीं बदल सकते तो इससे आपका वैवाहिक ज़िंदगी बर्बाद होने कि सम्भावना है। प्रयास करें कि पार्टनर की किसी बात को बिना सोचे-समझे गलत न ठहराएं। चीजों को समझें व उनके कार्य की प्रशंसा करें।

नकारात्मक व्यवहार न अपनाएं
विवाह के बाद लोगों के व्यवहार में बड़ा परिवर्तन आता है। घर व पार्टनर के प्रति आप खुद में कई स्वाभाविक तौर पर व्यवहारिक बदलावों को महसूस करते हैं। प्रयास करें कि पार्टनर के सामने ज्यादा बेकार व निगेटिव बातें करने से बचें। बात-बात पर पार्टनर की आलोचना करना, शिकायते रखना, आरोप लगाना, उन पर गुस्सा करने से रिश्ता डगमगा जाता है।

संवेदनशील बनें
यदि आप जल्द ही गुस्से का शिकार हो जाते हैं व आपको पार्टनर के सामने संवेदनशीलन बनने में बहुत समस्या आती है तो इसके लिए महत्वपूर्ण है कि आप चीजों को पहले अच्छे से समझ लें फिर पार्टनर के सामने विनम्रता के साथ उन्हें पेश करें।

मिलकर ही फैसला लें
शादीशुदा ज़िंदगी में देखा जाता है कि पति को ही ज्यादा से ज्यादा फैसला लेने की आजादी होती है। ऐसे में पत्नी सिर्फ ससुराल में एक चाबी बनकर रह जाती है। इससे पत्नी के मन में हीन भावना घर कर जाती है। पार्टनर को इस समस्या से निकालने के लिए प्रयास करें कोई भी कार्य करने से पहले पत्नी से जरूर सलाह-मशविरा कर लें।

लाइफ से तीन 'A' को निकालें
अफेयर्स (Affairs), बुरी लत (Addictions) व गुस्सा (Anger) ये तीन चीजें वैवाहिक ही नहीं सारे परिवारिक माहौल को बर्बाद कर देती हैं। वैवाहिक ज़िंदगी में किसी समस्या का सामना नहीं करना चाहते हैं तो इन तीन कॉम्पलीकेटिव 'A' से दूर रहें।

पार्टनर की सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाएं
पार्टनर के बीच छोटी-छोटी बातों से उनके संभोग जीवन पर भी बड़ा प्रभाव पड़ता है। याद रहे कि किसी का प्यारा एहसास जिंदगी में कई उमंगें पैदा करता है। तो प्रयास करें कि पार्टनर के सामने मुस्कुराते रहें, उन्हें प्यार दें, उन्हें प्यार से छुएं, अपनेपन का एहसास कराएं। पार्टनर असल में आपसे क्या चाहता है उसकी जरूरतों को प्यार से पूरा करें।

अपने माता-पिता की शादीशुदा जिंदगी का मूल्यांकन करें
वैवाहिक ज़िंदगी में टकराव व छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा आम हो चुका है। आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो प्रयास करें आप अपने माता-पिता की शादीशुदा जिंदगी में झांके। उनके संबंध की कमियों व कमजोरियों पर गौर करें। इनका मूल्यांकन करें। चीजों को समझने के बाद अपने पार्टनर के सामने ऐसी गलती न करें जो आपने अपनी माता-पिता की जिंदगी में परखी हैं।