बैडरूम में सेक्स करते समय भारतीय कपल्स सोचते ये बात

बैडरूम में सेक्स करते समय भारतीय कपल्स सोचते ये बात

सेक्स एक ऐसी चीज है जिसमे हर कोई अपना तनाव भूल जाता है और उसे खुलकर एन्जॉय करना चाहता है, जंहा कई बार सेक्स के दौरान पति पत्नी की बिच कि ान्वन भी ख़त्म होती जाती है वहीं फिर चाहे परिवार में जितना मर्जी तनाव चल रहा हो, मगर बैडरूम में कपल्स अक्सर अपने प्यार में खो जाते है और सारी चिंताए भूल जाते है. लेकिन हाल ही में हुए एक शोध के अनुसार भारतीय कपल्स बैडरूम में शारीरिक संबंध बनाते वक्त भी बहुत ज्यादा प्रेशर में होते है. भारतीय कपल्स अपने दिमाग में बहुत-सी चिंताए लेकर बार-बार सोचते रहते है. जो सिर्फ उन्हें मानसिक तौर पर ही नहीं बल्कि शारीरिक तौर पर भी बहुत ज्यादा थका हुआ महसूस करवाने लगता है. जिसके कारण वो अपने शारीरिक रिश्ते से संतुष्ट नहीं होते है.

सूत्रों से मिली जानकारी के से इस बात का पता चला है कि भारत की मेट्रो सिटीज के वर्किंग कपल्स (लव मैरिज या अरेंज मैरिज) के बीच भी सेक्स न के बराबर होता है. कुछ लोग अपनी बिजी लाइफस्टाइल और स्ट्रेस पर इसका दोष मढ़ते हैं वहीं कुछ लोगों का यह मानना है कि एक-दूसरे से जुड़ाव महसूस करने का रास्ता सिर्फ संभोग नहीं होता है दरअसल यह बात है कि यदि आप किसी बात को लेकर बेहद चिंतित हो या फिर आप अपनी लाइफ में कुछ नया चाहते हो तो इसके लिए सेक्स से अच्छा रास्ता और कुछ नहीं है.

वहीं यदि हम बात करें साइकियाट्रिस्ट की तो वह बताते हैं कि प्रेग्नेंसी से सेक्स की इच्छा पर फर्क पड़ता है. वह कहते हैं, प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत से कपल सेक्स नहीं करते हैं ताकि बच्चे को नुकसान न पहुंचे. डिलीवरी के बाद या तो बहुत खुश या बहुत थकान में होते हैं फिर उनकी प्राथमिकता बच्चे पर शिफ्ट हो जाती है. इसलिए सेक्स की इच्छा कम होने लगती है.