गुलाबी और मुलायम होंठ पाने के अपनाएं ये देसी उपाय

गुलाबी और मुलायम होंठ पाने के अपनाएं ये देसी उपाय

सर्दियों का मौसम बस शुरू होने वाला है। इस दौरान त्वचा का रूखापन बढ़ने की परेशानी का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है। बात अगर होंठों की करें तो ये भी रूखे व बेजान होने के साथ फटने लगते हैं। कभी- कभी तो होंठों में खून आने की भी परेशानी होने लगती है। ऐसे में चेहरे की मुस्कान खोने लगती है। ऐसे में अगर आपको भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है तो आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में बताते हैं, जिस अपनाकर आप अपनी इस परेशानी से राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं उन देसी उपायों के बारे में...

हल्दी और दूध
एक कटोरी में 1-2 बूंदें दूध और चुटकीभर हल्दी पाउडर डालकर मिलाएं। तैयार पेस्ट को होंठों पर हल्के हाथों से मसाज करते हुए लगाएं। इससे होंठों को नमी मिलने के साथ सुंदर व गुलाबी होने में मदद मिलेगी। रोजाना इस मिश्रण को लगाने से फर्क नजर आने लगेगा। ‌

देसी घी 
सोने से पहले होंठों पर देसी घी लगाने से नमी मिलती है। इससे होंठों का रुखापन व फटने की समस्या दूर होंठ मुलायम व गुलाबी होते हैं।

शहद और चीनी 
होंठों का रुखापन दूर करने के लिए स्क्रब का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए एक कटोरी में 3-4 बूंदें शहद और 1/2 चम्मच चीनी मिलाएं। तैयार मिश्रण को अंगुली या ब्रश की मदद से होंठों पर रगड़ें। बाद पानी से धोएं। इससे होंठों का फटना दूर हो कोमल व गुलाबी होने में मदद मिलेगी। इस स्क्रब को हफ्ते में 2 बार जरूर लगाएं।

बादाम तेल
विटामिन-ई से भरपूर बादाम तेल की कुछ बूंदों को होंठों पर मसाज करने से भी ड्राई लिप की परेशानी से राहत मिलती है। इससे होंठों के फटने की समस्या दूर हो मुलायम व गुलाबी होने में मदद मिलती है।

सरसों का तेल 
होंठों के फटने व रूखेपन की परेशानी से निजात पाने के लिए सरसों का तेल भी फायदेमंद होता है। इसके लिए रोजाना सोने से पहले नाभि में सरसों के तेल की कुछ बूंदें डालें। इससे होंठों को नमी मिलेगी। ऐसे में होंठ कोमल व मुलायम और गुलाबी होते हैं। 


जल्द से जल्द घर में ही बनाएं इमरती

जल्द से जल्द घर में ही बनाएं इमरती

आप चाहे कितनी ही चाइनीज या इटेलियन रेसिपीज बना लें लेकिन कोई भी फेस्टिवल भारतीय पकवानों की खुशबू और स्वाद के बिना अधूरा है।आज हम आपको रक्षाबंधन की ऐसी ही स्पेशल रेसिपी बताने जा रहे हैं।इमरती एक ऐसी रेसिपी है जो खाने में तो लाजवाब होती ही है, साथ ही इसमें जलेबी की तुलना में पोषण भी होता है क्योंकि इमरती दाल से बनाई जाती है।आइए, जानते हैं रेसिपी- 


सामग्री :
2 कप (पूरी रात पानी में भिगी हुई धुली उड़द दाल
3 कप चीनी
1 1/2 कप पानी
केसर कलर
1/2 टी स्पून इलाइची पाउडर
500 ग्राम (फ्राई करने के लिए) घी

विधि :
दाल को धोकर और पीसकर इसमे रंग मिलाएं।
दाल को अच्छे से फेंट लें और कुछ बूंदे पानी में डालकर देखें।
दाल को गर्मियों में 3 से 4 घंटे होने देनें।
पानी में चीनी को डालकर धीमी आंच पर घुलने दें इस लगातार चलाते रहे जब तक चीनी पूरी तरह घुल न जाए।
इसे तब तक पकाएं जब तक इसका तार न बन जाए। (एक बूंद उंगली के पर रखें फिर दोनों को अलग करे तो आपको तार बनती हुई दिखाई देगी। 
इसमें इलाइची पाउडर डालें। इसे बैटर को नोजल वाले पाइप या एक कपड़े में छेद करके डालें, इसके बाद गर्म घी में इमरती बनाएं।
आंच को धीमा करें ताकि यह क्रिस्पी और क्रंची हो जाए।
इन्हें अब घी में से निकालकर चाशनी में में 3 से 4 मिनट के लिए रखें, इसके बाद इसे छानकर सर्व करें।


बाथरूम में लम्बे समय तक बैठने से भी हो सकता है यूरीन इंफैक्शन       अगर खर्राटों से परेशान तो आज ही कर लें ये उपाय       क्या आप भी जान बूझकर रोकते हैं छींक, बढ़ सकती है दिल की समस्याएं       बच्चों में बार-बार उल्टी होने पर करें ये उपाय, जल्दी मिलेगी राहत       शरीर पर चोट लगने पर तुरंत करें ये काम, जल्दी भरेंगे घाव       लड़कियों को मासिक धर्म के दर्द से छुटकारा दिला सकते है ये उपाय       अपने घर को कोरोना से बचाव के लिए इस तरह बनाएं स्वच्छ       अगर शरीर में दिखाई दें ये लक्षण तो हो जाएं सावधान!       जहरीले सांप के काटने पर तुरंत करें ये उपाय, नहीं तो...       पेट की समस्या और कब्ज से छुटकारा पाने के लिए करें इस चीज का सेवन       अगर आप भी है अपने स्तनों के दर्द से परेशान तो छुटकारा पाने के लिए करें ये...       लगातार चल रही हिचकियों को रोकने के लिए करें ये घरेलू उपाय       आखिर किन महिलाओं को होता है ब्रेस्‍ट कैंसर का ज्यादा खतरा       महिलाओं के ज्यादा कोल्ड ड्रिंक्स के सेवन से हो सकती है ये बड़ी बीमारी       पेट की बिमारियों के लिए बहुत फायदेमंद है फल और सब्जियों के बीज       नाभि में तेल डालने से दूर हो जाती है महिलाओं की ये समस्या       महिलाओं में उन दिनों की समस्या में फायदेमंद है चुकंदर की चाय       चोट लगने पर क्यों लगाया जाता है टिटनेस का इंजेक्‍शन, जानें       भारत में वायु प्रदूषण से 2019 में 1.16 लाख से ज्यादा शिशुओं की हुई मौत       ज्यादा अंडे खाने से बढ़ सकता है हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा