तनाव व चिंता के कारण आपके पेट में हो सकती है यह बड़ी समस्याएं, जाने निजात

तनाव व चिंता के कारण आपके पेट में हो सकती है यह बड़ी समस्याएं, जाने निजात

दिमाग व पेट के बीच एक अलग ही कनेक्शन होता है। क्या आपने नोटिस किया है कि जब भी आप तनाव महसूस करते हैं तो आपके पेट में दर्द होने लगता है? तनाव व चिंता के कारण भी अपच व सीने में जलन हो सकती है।

 कोरोना के कारण लोगों में तनाव व चिंता जोरों पर है व यह बहुत से लोगों में पेट संबंधी समस्याओं को पैदा कर रही है। इनमें गैस व कब्ज प्रमुख हैं। तनाव व चिंता गैस्ट्रोइंटेस्टेनियल ट्रेक्ट में दबाव यानी की मरोड़ पैदा करती है जिसके कारण पाचन संबंधी समस्याएं होती हैं। तनाव के चलते उल्टी आना, सीने में जलन, पेट फूलने जैसी समस्याएं भी हो सकती है। हेल्थ की इस तरह की समस्याएं लोगों को परेशान कर देती हैं।

पेट क्यों महसूस करता है तनाव?
एंटरिक नर्वस सिस्टम लोगों के गैस्ट्रोइंटेस्टेनियल ट्रेक्ट (जीआई पथ) के अंदर उपस्थित होता है। यह दिमाग व पेट के बीच एक अलग सा कनेक्शन बनाता है। ऐसे में तनाव के समय दिमाग से निकले वाले इशारा जीआई पथ को अलग तरह से व्यवहार करने के लिए विवश कर सकते हैं। तनाव नसों को भी संवेदनशील बनाता है, जो चिंताजनक स्थितियों में बहुत बड़ा असर डालती हैं। जब हम तनाव में होते हैं, तो हम भोजन में भी आराम तलाशते हैं। जीआई ट्रैक्ट की समस्याओं के लिए स्ट्रेस ईटिंग भी एक प्रमुख कारण है। आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जो तनाव के कारण पेट में होने वाले दर्द को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

मेडिटेरियन डाइट



इस तनाव भरे समय में मेडिटेरियन डाइट आपके लिए सबसे अच्छी रहेगी व आपको इसे अनुसरण करना चाहिए। इस डाइट में सब्जियां, फल, नट्स व साबुत अन्न शामिल होते हैं। हालांकि आप इसमें थोड़ा बहुत चिकन भी शामिल कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें थोड़ा बहुत डेयरी उत्पाद भी शामिल किया जा सकता है।

खाने का शेड्यूल तैयार करें
आपको अपने भोजन का ठीक शेड्यूल बनाना चाहिए ताकि आप बहुत अधिक खाने की आदत को छोड़ सकें। बेहद मात्रा में खाने से आप पहले से उपस्थित गैस्ट्रिक लक्षणों को बढ़ा सकते हैं।

भरपूर नींद
तनाव की स्थिति में भरपूर नींद लेना भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह आपके शरीर को तनाव से उबरने में मदद कर सकती है। तनाव होने पर ठीक से नींद नहीं आती है, जिस कारण आदमी बीमार हो जाता है।

एक्टिव रहें
लॉकडाउन में आपको सोफे पर बैठकर टीवी देखने में बड़ा मजा आ रहा होगा लेकिन ये महत्वपूर्ण है कि आप एक्टिव बने रहें। घर पर थोड़ी सी अभ्यास आपको एक्टिव रखने में मदद करेगी। एक्टिव रहने से आप अच्छा महसूस करते हैं व इस महामारी से निपटने के लिए तैयार हो सकते हैं। इसके अलाव आप तनाव को कम कर सकते हैं व इस तरह तनाव से संबंधित पाचन समस्याओं से भी राहत पा सकते हैं।

डिस्टेंसिंग रखें लेकिन बात करते रहें
लोगों से वार्ता करते रहना खुश रहने का सबसे अच्छा उपाय है व इससे तनाव को दूर रखने में मदद मिलती है। वीडियो कॉल के माध्यम से आप अपने परिवार व दोस्तों से सम्पर्क बनाकर रख सकते हैं। यह आपको बहुत बेहतर महसूस कराता है व आपको याद दिलाता है कि हर कोई इसमें एक साथ है।