लाइफ स्टाइल

होली के त्योहार को बनाना चाहते हैं रोमांचक, तो इन जगहों को करें एक्सप्लोर

यदि आप इस बार अपने होली के त्योहार को रोमांचक बनाना चाहते हैं तो आपको उन शहरों में जाना चाहिए जहां पर होली और रंगपंचमी की धूम रहती है. यहां फाग उत्सव का अंदाज ही कुछ अलग होता है. यदि आप भी घर से बाहर होली सेलिब्रेट करना चाहते हैं तो इन 6 जगहों पर जरूर जाएं.

1. बरसाना : ब्रज मंडल में मथुरा, बरसाना, गोकुल, वृंदावन, गोवर्धन नंदगांव आदि कई गांव और शहर आते हैं. इसमें से वृंदावन, बरसाना और नंदगांव की होली देखने और उसमें शामिल होना का अपना अलग ही मजा है. यहां रंगों के साथ ही लट्ठमार होली का बहुत बढ़िया आयोजन होता है. बरसाना राधाजी का गांव हैं यहां होली का अंदाज ही कुछ ओर होता है. वैसे ब्रजमंडल में बसंत पंचमी से ही होली प्रारंभ हो जाती है.

 

2. झाबुआ : मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के आदिवासियों में होली की खासी धूम होती है. मध्यप्रदेश में झाबुआ के आदिवासी क्षेत्रों में भगोरिया नाम से होलिकात्वस मनाया जाता है. भगोरिया के समय धार, झाबुआ, खरगोन आदि क्षेत्रों के हाट-बाजार मेले का रूप ले लेते हैं और हर तरफ फागुन और प्यार का रंग बिखरा नजर आता है. राष्ट्र विदेश से लोग यहां की होली को देखने आते हैं.

3. इंदौर : मध्यप्रदेश के इंदौर में भी होली और रंगपंचमी पर होली की ऐसी धूम रहती है जो कि अन्य शहरों में आपको शायद ही देखने को मिलेगी. यहां परंपरागत गेर निकलती है जिसमें शामिल होने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं. गेर में खूब जमकर होली खेली जाती है.

 

4. मुंबई की होली : मायानगरी मुंबई को पहले बॉम्बे बोला जाता था. यहां जिस तरह गणेश उत्सव की धूम रहती है उसी तरह यहां होली की धूम भी रहती है. यहां गोविंदा होली मनाई जाती है. महाराष्ट्र और गुजरात के क्षेत्रों में गोविंदा होली अर्थात मटकी-फोड़ होली खेली जाती है. इस दौरान रंगोत्सव भी चलता रहता है.

5. उदयपुर, जयपुर की होली : राजस्थान के उदयपुर में ‘रॉयल होली उत्सव’ मनाया जाता है. होली से पहले उदयपुर, मेवाड़ राज परिवार के घोड़ों के बहुत बढ़िया जुलूस निकलते हैं जिसके बाद शहर सुंदर रंगों से सराबोर हो जाता है. इसी तरह की होली का आयोजन जयपुर में भी होती है. जयपुर होली उत्सव में हाथी और घोड़ों को वस्त्र और रंगों से सजाया गया है. कार्यक्रम में हाथी प्रतियोगिता और टग-ऑफ-युद्ध शामिल हैं. यहां की होली को देखने के लिए भी देश-विदेश से लोग एकत्रित होते हैं.

6. आनंदपुर साहिब की होली : पंजाब में होली को ‘होला मोहल्ला’ कहते हैं. पंजाब में होली के अगले दिन अनंतपुर साहिब में ‘होला मोहल्ला’ का आयोजन होता है. ऐसा मानते हैं कि इस परंपरा का शुरुआत दसवें और आखिरी सिख गुरु, गुरु गोविंदसिंहजी ने किया था. इस दौरान शारीरिक शक्ति का प्रदर्शन किया जाता है.

 

7. पुष्कर : राजस्थशन के पुस्कर शहर में भी होली का रंग कुछ अलग ही अंदाज में मनाया जाता है. इस होली को देखने के लिए राष्ट्र विदेश से लोग आते हैं. यहां पर रंगों के साथ ही नृत्य का आयोजन होता है. यहां पर होली के समय एक मेला भी लगता है.

8. हम्पी : कर्नाटक के हम्मी में होली पर कई तरह के जुलूस निकाला जाते हैं. लोग नाचते गाते एक दूसरे पर रंग लगाते हैं. इसके बाद शाम के समय सभी तुंगभद्रा नदी और उसकी सहायक नदियों के तटों पर इकट्ठा होकर उत्सव मनाते हैं.

9. बनारस : यहां की होली भी देखने लायक है. यहां गंगा के तट पर शाम को बैठना बहुत ही शाँति भरा होता है.

10. समुद्री तट : यदि आप होली नहीं खेलना चाहते हैं और कहीं पर शाँति का पल बिताना चाहते हैं तो किसी भी समुद्र के किनारे घूमना मार्च माह में बहुत ही सुहाना और रोमांचक है. इसके लिए आप गोवा, मुंबई, पांडिचेरी, जगन्नाथ, द्वारिका, कोवलम, कन्याकुमारी, रामेश्वरम, लक्ष्यद्वीप, दमण और दीव, अंडमान और‍ निकोबार या फिर मांदरमोनी और दीघा में जा सकते हैं. हालांकि आप मुंबई होते हुए गोवा जाएं जो कि सबसे बहुत बढ़िया है. मार्च के दौरान यहां पर आपका वॉटर एक्टिविटी मिलेगी.

<!–googletag.cmd.push(function() {googletag.defineOutOfPageSlot(‘/1031084/Webdunia_Innovations_OOP’, ‘div-gpt-ad-1536932236416-0’)addService(googletag.pubads());});–><!–

googletag.cmd.push(function() { googletag.display(‘div-gpt-ad-1536932236416-0’); });

–>

Related Articles

Back to top button