पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष पूर्णिमा 2021: इस दिन शुरू होगा कल्पवास, करें ये उपाय

पौष माह  हिंदुओं के लिए पवित्र माह है। इस माह हर तिथि खास है। लेकिन में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा का अलग महत्व है। इसको पौष पूर्णिमा कहते हैं। पौष पूर्णिमा को ही भगवती दुर्गा के शाकम्भरी स्वरूप को जन्म हुआ था। इसलिए इसे शाकम्भरी पूर्णिमा भी कहते हैं। इस साल यह पूर्णिमा 28 जनवरी 2021 को है। पूर्णिमा 28 जनवरी गुरुवार को 1.18 मिनट पर रात को लगेगी।

जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति
पूर्णिमा तिथि 29 जनवरी को शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक रहेगी। इस प्रकार पूर्णिमा के दिन स्नान-दान और सूर्य देव को जल देने से बहुत अधिक लाभ होता है। कहते हैं पौष पूर्णिमा पर स्नान-दान से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन से कल्पवास भी शुरू हो जाता है। कल्पवासी पौष पूर्णिमा से एक-दो दिन पहले आ जाते हैं और संगम किनारे की तपस्या शुरू करते हैं। माघ मेले का दूसरा स्नान पौष पूर्णिमा पर होगा। कल्पवासी माघ मेले के सभी प्रमुख स्नानों पर स्नान-दान करते हैं। माघी पूर्णिमा के दिन कल्पवास का समापन होता है। ऐसा कहा जाता है कि कल्पवासी यहां जीवन-मृत्यु के बंधनों से मुक्ति की कामना लेकर यहां आते हैं।

तिथि व मुहूर्त-
पूर्णिमा तिथि आरंभ- 28 जनवरी 2021 गुरुवार को 01 बजकर 18 मिनट से पूर्णिमा तिथि समाप्त- 29 जनवरी 2021 शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक।

मंत्र जाप

पौष पूर्णिमा पर स्नान के बाद कुछ विशेष मंत्रों के जाप से कष्टों से मुक्ति पाई जा सकती है। इसके लिए निम्न मंत्रों का जाप किया जा सकता है ओउम आदित्याय नमः, ओउम सोम सोमाय नमः, ओउम नमो नीलकंठाय, ओउम नमो नारायणाय

इस तरह का उपाय,चमकेगा भाग्य
पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है। यह दिन माँ लक्ष्मी को भी अत्यंत प्रिय है। पूर्णिमा के दिन ये खास उपाय करने से भाग्य चमकेगा।

चन्द्रमा मां का सूचक है और मन का कारक है। चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है। स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है। घर में पानी की कमी आ जाती है। मानसिक तनाव, मन में घबराहट, मन में तरह-तरह की शंका और सर्दी बनी रहती है। व्यक्ति के मन में आत्महत्या करने के विचार भी बार-बार आते रहते हैं। चन्द्रमा जैसे-जैसे कृष्ण पक्ष में छोटा व शुक्ल पक्ष में पूर्ण होता है वैसे-वैसे मनुष्य के मन पर भी चन्द्र का प्रभाव पड़ता है।

शास्त्रों में कहा गया है कि हर पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष पर मां लक्ष्मी का आगमन होता है।आप सुबह उठकर पीपल के पेड़ के सामने कुछ मीठा चढ़ाकर जल अर्पित करें।

मधुरता बनेगी
सफल दाम्पत्य जीवन के लिए प्रत्येक पूर्णिमा को पति-पत्नी में कोई भी चन्द्रमा को दूध का अर्ध्य अवश्य ही दें, इससे दाम्पत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है।

जब चन्द्र से कोई भी शुभ ग्रह जैसे शुक्र, बृहस्पति और बुध दसवें भाव में हो तो व्यक्ति दीर्घायु, धनवान और परिवार सहित हर प्रकार से सुखी होता है। चन्द्र  से कोई भी ग्रह जब दूसरे या बारहवें भाव में न हो तो वह अशुभ होता है। 

जिस भी व्यक्ति को जीवन में धन सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ता है उन्हें पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर “ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: चन्द्रमासे नम:” अथवा ” ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:. ” मन्त्र का जप करते हुए अर्ध्य देना चाहिए। इससे धीरे धीरे उसकी आर्थिक समस्या खत्म होती है।

इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती चढ़ाएं
हर पूर्णिमा के दिन मंदिर में जाकर लक्ष्मी को इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती अर्पण करनी चाहिए। धन, सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की देवी मां लक्ष्मी से अपने घर में स्थाई रूप से निवास करने की प्रार्थना करें।

अपने घर के मंदिर में धन लाभ के लिए श्री यंत्र, व्यापार वृद्धि यंत्र, कुबेर यंत्र, एकाक्षी नारियल, दक्षिणवर्ती शंख रखें। इनको साबुत अक्षत के ऊपर स्थापित करना चाहिए। पूर्णिमा की रात में 15 से 20 मिनट तक चन्द्रमा को लगातार देखें इससे नेत्रों की ज्योति तेज होती है।


मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न

मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न

आज मंगलवार है और आज के दिन हनुमान जी की पूजा की जाती है। हनुमान जी के लिए कहा जाता है कि वे बहुत ही जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं। मान्यता है कि अगर हनुमान जी की पूजा निरंतर की जाए तो व्यक्ति की हर मनोकामना पूरी होती है। इसके लिए व्यक्ति का मन, वचन और कर्म से पवित्र होना बेहद जरूरी है। कहा जाता है कि अगर मंगलवार के दिन या फिर प्रतिदिन श्री हनुमान चालीसा या श्री हनुमान वडवानल स्तोत्र का पाठ किया जाए तो व्यक्ति हर तरह के दुखों से मुक्त हो जाता है। साथ ही मंगलवार के दिन हनुमान जी को चोला भी चढ़ाना चाहिए। कहा जाता है कि आज के दिन एक खास उपाय किया जाए तो व्यक्ति पर हनुमान जी की कृपा जल्दी होती है। मंगलवार के दिन करें ये उपाय:

मंगलवार के दिन करें ये खास उपाय:

मंगलवार के दिन सुबह जल्दी उठ जाना चाहिए और स्नान कर लेना चाहिए। फिर एक साफ लोटा लें और हनुमान जी के मंदिर में जाए और इसी जल से हनुमानजी की मूर्ति को स्नान कराएं। पहले दिन हनुमान जी के सिर पर एक दाना साबुत उड़द रखकर उनकी 11 बार परिक्रमा करें। फिर मन ही मन अपनी मनोकामना हनुमानजी को जरूर कहें। यह उड़द का दाना घर वापस ले आएं और उसे अलग रख दें।


फिर अगले दिन से एक-एक कर उड़द का दाना बढ़ाते जाएं और लगातार इसी प्रक्रिया को दोहराएं और दाना बढ़ाते रहें। 41 दिन 41 दाने रखने के बाद, 42वें दिन से एक-एक कर दाना कम करते रहें। उदाहरण के तौर पर: 42वें दिन 40, 43वें दिन 39 और 81वें दिन 1 दाना। मान्यता है कि 81वें दिन का जब यह अनुष्ठान पूरा हो जाता है तब उसी दिन रात में श्री हनुमानजी सपने में साधक को दर्शन देते हैं। साथ ही मनोकामना की पूर्ति भी करते हैं। इस विधि के दौरान जितने भी दानें उड़द के चढ़ाए गए हैं उन्हें नदी में प्रवाहित कर दें।


सहवाग ने इग्लैंड के बल्लेबाजों को किया ट्रोल, राहुल गांधी का ये वीडियो किया शेयर       सपा पर बरसे CM योगी, यहां गर्मी दिखाने की जरूरत नहीं       सावधान सोशल मीडिया पर, फेसबुक-ट्विटर हो या नेटफ्लिक्स-अमेजन       अब महँगा होगा दूध, सरकार नहीं किसानों ने किया बड़ा ऐलान!       धरती पर दिखा स्वर्ग, ऐसा नजारा कभी नहीं देखा होगा       सबसे महंगी Biryani: नाम है इसका रॉयल गोल्ड       दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम       खेल दी 152 रन की पारी और लगाए 5 छक्के 14 चौके, विराट की टीम के ओपनर बल्लेबाज ने मचाया हड़कंप       क्या है India vs England के बीच खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट की टाइमिंग       नेशनल ड्यूटी के लिए IPL को भी छोड़ सकता है ये खिलाड़ी       रॉबिन उथप्पा व विष्णु विनोद के शतक से सचिन बेबी की टीम को मिली जीत       Happy Birthday Divya Bharti: एक्टिंग के लिए इस एक्ट्रेस ने 16 साल की उम्र में छोड़ दी थी पढ़ाई       Shilpa Shetty In Maldives: इस एक्ट्रेस ने पति संग मालदीव्स में की Pawri       OMG! Aamir Khan के भांजे इमरान ने कजिन जाएन मेरी की कराई शादी       टीज़र देख क्या बोले अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा और करण जौहर       जॉन अब्राहम और इमरान हाशमी के बीच कांटे की टक्कर       क्या आपको भी सपने में दिखती हैं ये चीजें तो...       मंगलवार के दिन हनुमानजी को इस उपाय से करें प्रसन्न       रवि योग में जया एकादशी आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल       आज है प्रदोष व्रत, जानें किस मुहूर्त में करें पूजा और इसका धार्मिक मान्यता