लाइफ स्टाइल

कब्ज, डायबिटीज के लिए रामबाण है ये पौधा, ऐसे करें इस्तेमाल

आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियां और पेड़-पौधे हैं, जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभ वाला मानी जाती हैं इन्हीं में से एक है कीकर का पेड़ ये पेड़ स्वास्थ्य के लिहाज से खास उपयोगी माना जाता है बता दें कि कीकर राजस्थान का एक जंगली पेड़ है जो रेतीले धोरों में भी सरलता से उग जाता है यह राजस्थान का देशी पेड़ भी कहलाता है यही नहीं कीकर की लकड़ी जलाने के लिए भी बहुत अच्छी होती है यह राजस्थान में जलाऊ लकड़ी का एक प्रमुख साधन है

ग्रामीण रामकुमार बिस्सा ने कहा कि कीकर की फली का पाउडर बनाकर दवाई बनाने के काम आता है यदि पेट दर्द होता है इसका पाउडर लेने से पेट दर्द ठीक होता है कीकर की पत्तियां, फली और छाल का प्रयोग पशुओं के चारे के तौर पर किया जाता है प्रोटीन, फाइबर और अन्य पोषक तत्व होने के कारण ये पशुओं के लिए बहुत फायदेमंद है इसके सेवन से पशुओं का दुग्ध उत्पादन बढ़ता है लकड़ियों का प्रयोग फर्नीचर बनाने और ईंधन के रूप में किया जाता है इसकी लकड़ी पर दीमक का असर नहीं देखने को मिलता है दीमक प्रतिरोधी होने के कारण ये लकड़ी बाजार में अच्छे रेट पर बिकती है

इसमें होते है कई सारे औषधीय गुण
नोबल आयुर्वेद क्लिनिक के डाक्टर अमित कुमार गहलोत ने कहा कि कीकर के पेड़ के कई सारे औषधीय गुण हैं इसका प्रयोग कई तरह की रोंगों से बचाव में किया जाता है यह एंटीऑक्सिडेंट्स, एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिकों और एंटीमाइक्रोबियल होता है इसकी छाल और पत्तियां कई रोंगों से बचाव में काम आती हैं डायबिटीज, लूज मोशन, बुखार आना, इम्यून सिस्टम बढ़ाने में कीकर का पेड़ काम आता है

Related Articles

Back to top button