कुंडली या पितृ दोष से मिलेगी मुक्ति, अगर आज करेंगे ये काम

कुंडली या पितृ दोष से मिलेगी मुक्ति, अगर आज करेंगे ये काम

हिंदू धर्म में अमावस्या और पूर्णिमा जैसी तिथियों का बहुत महत्व है। इस दिन किया गया दान-पुण्य का सौ गुणा फल मिलता है।  आज यानि 13 जनवरी को पौष अमावस्या है।  पौष अमावस्या पौष माह कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को होती है। धार्मिक और ज्योतिष की नजर ये तिथि महत्वपूर्ण मानी जाती है।

मान्यता है कि अमावस्या तिथि को व्यक्ति को बुरे कर्म और नकारात्मक विचारों से भी दूर रहना चाहिए। खासकर पौष अमावस्या सर्वसिद्धिदायक, सफलतादायक और पितरों को शांति करने वाली है। जानते हैं पौष अमावस्या के शुभ मुहूर्त, पूजा-विधि और इससे होने वाले लाभ के बारे में।

शुभ मुहूर्त
अमावस्या तिथि का प्रारंभ 12 जनवरी 2021, दोपहर 12:22 बजे, अमावस्या तिथि समाप्त 13 जनवरी 2021, सुबह 10:29 बजे।

 महत्व
धर्म शास्त्रों में इस दिन का महत्व बहुत ज्यादा है।इस दिन धार्मिक कार्य, स्नान, दान, पूजा-पाठ और मंत्र जप करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। इस दिन कई शुभ अनुष्ठान किए जाते हैं।

अमावस्या तिथि पर कई लोग अपने पितरों को प्रसन्न करने के लिए श्राद्ध कर्म करते हैं। इस दिन पितृ तर्पण, नदी स्नान और दान-पुण्य आदि करना ज्यादा फलदायी माना जाता है। यह तिथि पितृ दोष से मुक्ति दिलाने में सहायक मानी गई है।

पूजा विधि
पौष अमावस्या के दिन किसी नदी या तालाब में स्नान करना चाहिए। स्नान करने के बाद सबसे पहले तांबे के पात्र में शुद्ध जल से सूर्यदेव को अर्घ्य देना चाहिए। अर्घ्य में लाल पुष्य या लाल चंदन डालना उत्तम माना जाता है।

सूर्य देव को अर्घ्य देने के बाद पितरों को तर्पण देना चाहिए। मान्यता है कि पितृ दोष से पीड़ित लोगों को पौष अमावस्या के दिन पितरों के मोक्ष प्राप्ति के लिए व्रत रखना चाहिए। पौष अमावस्या के दिन गरीबों को भोजन कराने से भाग्य खुलता है।

माह का श्रेष्ठ दिन
विद्वानों के  अनुसार, अमावस्या तिथि को धार्मिक और आध्यात्मिक चिंतन-मनन के लिए यह माह श्रेष्ठ माना गया है। इस दिन सूर्य और चंद्रमा एक ही राशि में होते हैं।

कुंडली में चंद्र दोष
जिस तरह से अमावस्या तिथि को चंद्रमा किसी को दिखाई नहीं देता है और उसका प्रभाव क्षीण होता है। इसी तरह का प्रभाव इंसान के जीवन में भी रहता है। अमावस्या को जन्म लेने वाले की कुंडली में चंद्र दोष रहता है और उस व्यक्ति का चंद्रमा प्रभावशाली नहीं रहता है।

पितृ दोष की शांति  और लाभ 
पौष अमावस्या पर पितृ दोष की शांति कराने से भाग्योदय में आने वाली रूकावट दूर हो जाती है और भाग्योदय शीघ्र होता है। पितृ दोष के दूर होने से संतान की उत्पत्ति में आने वाली बाधा भी दूर हो जाती है। पितृ दोष दूर होने से व्यवसाय और नौकरी में आने वाली बाधा भी दूर हो जाती है।


कुंडली में सबसे खास ये ग्रह, कमजोर हुआ तो बनेंगे कंगाल

कुंडली में सबसे खास ये ग्रह, कमजोर हुआ तो बनेंगे कंगाल

हमारी कुडंली में ग्रहों की मजबूत स्थिति हमारा सुखद भविष्य तय करती है।अगर नवग्रह कुंडली में अच्छी स्थिति में रहते हैं तो उनकी स्थिति अच्छी रहती है। खासकर बृहस्पति को गुरु और मंत्रणा का कारक मानते है। पीला रंग, स्वर्ण, वित्त और कोष, कानून, धर्म, ज्ञान, मंत्र और संस्कारों को नियंत्रित करता है।

ये शरीर में पाचन तंत्र, मैदा और आयु की अवधि को निर्धारित करता है। पांच तत्वों में आकाश तत्त्व का अधिपति होने के कारण इसका प्रभाव बहुत ही व्यापक और विराट होता है। महिलाओं के जीवन में विवाह की सम्पूर्ण जिम्मेदारी बृहस्पति से ही तय होती है।
 

अशुभ बृहस्पति से संतान पक्ष की समस्याएं भी परेशान करती हैं। व्यक्ति  निम्न कर्म की ओर झुकाव रखता है और बड़ों का सम्मान नहीं करता है। कमजोर बृहस्पति के होने से व्यक्ति के संस्कार कमजोर होते हैं। विद्या और धन प्राप्ति में बाधा के साथ साथ व्यक्ति को बड़ों का सहयोग पाने में मुश्किलें आती हैं। पाचन तंत्र के साथ त बृहस्पति और भी कई गंभीर समस्याएं देता है।
 

कुंडली में बृहस्पति के शुभ हो तो व्यक्ति विद्वान और ज्ञानी होता है,अपार मान सम्मान पाता है। व्यक्ति के ऊपर दैवीय कृपा होती है और व्यक्ति जीवन में तमाम समस्याओं से बच जाता है। ऐसे लोग आम तौर पर धर्म , कानून या कोष (बैंक) के कार्यों में देखे जाते हैं। अगर बृहस्पति केंद्र में हो और पाप प्रभावों से मुक्त हो तो व्यक्ति की सारी समस्याएं गायब हो जाती हैं।
 

बड़े बुजुर्गों का खूब सम्मान करें। हर बृहस्पतिवार को किसी धर्मस्थान पर जरूर जाएं। इससे कुंडली का बृहस्पति मजबूत होगा। नित्य प्रातः हल्दी मिलाकर सूर्य को जल अर्पित करें। शिव की यथाशक्ति उपासना करें। महीने में एक दिन शिव का पंचामृत अभिषेक करें। बरगद के वृक्ष में नियमित रूप से जल अर्पित करें।


Bigg Boss 14: शो से निकलते ही दुखी हुए एजाज खान के फैंस       फिल्मों में हीरो बनने आए थे जाकिर हुसैन, विलेन बनकर बनाई अपनी खास पहचान       The Family Man 2, आर्या 2 और दिल्ली क्राइम 2 समेत ओटीटी पर रिलीज़ होंगे इन सीरीज़ के सीक्वल       Aamir Ali ने ‘मिस्ट्री गर्ल’ पर तोड़ी चुप्पी, बोले...       Kapil Sharma ने जया प्रदा से जाहिर की दिल की बात, कहा...       Bigg Boss 14: घरवालों की नज़रों के सामने से ‘बिग बॉस’ ने छीन लिया उनका राशन       Bigg Boss 14 : SHOCKING! विकास गुप्ता के बाद अब एजाज़ ख़ान घर से बाहर       Bigg Boss 14: देवोलीना भट्टाचार्य सलमान खान से सहमत नहीं       सियासत की गहराई छूने से चूकी सितारों की भव्यता में डूबी प्राइम की वेब सीरीज़ 'तांडव', पढ़ें पूरा रिव्यू       Tandav Web Series से सियासत में उबाल, एमपी सरकार के मंत्री ने अमेज़न CEO को ख़त लिखकर दी यह चेतावनी       इस एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया पर शेयर कीं तस्वीरें, पति अनस को लेकर कही ये बात       'धाकड़' बनकर कंगना रनोट मचा रहीं क़त्ले-आम, इस तारीख़ को सिनेमाघरों में होगी रिलीज़       लाइगर बन दहाड़े 'अर्जुन रेड्डी' विजय देवरकोंडा, करण जौहर ने जारी किया फ़र्स्ट लुक       Tandav Web Series से जुड़े 96 लोगों के ख़िलाफ़ बिहार की अदालत में शिकायत       सूचना प्रसारण मंत्रालय से विमर्श के बाद निर्देशक अली अब्बास ज़फ़र ने बिना शर्त मांगी माफ़ी       तीसरे दिन का खेल समाप्त, ऑस्ट्रेलिया के मिली 54 रन की बढ़त       पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने श्रीलंका को रौंदा, जो रूट ने ठोका दोहरा शतक       जानिए किस टूर्नामेंट का आयोजन पहले कराना चाहते हैं BCCI बॉस सौरव गांगुली       सातवें विकेट के लिए सुंदर और शार्दुल ने की दमदार साझेदारी, सातवें आसमान पर टीम के हौसले       सुरेश रैना को IPL 2021 के लिए CSK रीटेन करेगी या नहीं इस पर बना सस्पेंस