यूपी के मंत्री के बेटे की बारात 5 दिन बाद आगरा में दुल्हन के घर पहुंची,जाने पूरा मामला

यूपी के मंत्री के बेटे की बारात 5 दिन बाद आगरा में दुल्हन के घर पहुंची,जाने पूरा मामला

मयूर शुक्ला/लखनऊ : उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट में जेल एवं होमगार्ड मंत्री धर्मवीर प्रजापति के बेटे की कुछ दिन पहले विवाह थी मंत्री के बेटे दिलीप प्रजापति को डेंगू होने के कारण एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ गया था ऐसे में मंत्री पुत्र की बारात दुल्‍हन के घर नहीं पहुंच सकी थी इसी बीच समाचार आई कि मंत्रीजी बेटे दिलीप की विवाह के विरूद्ध हैं, इसीलिए रोग का बहाना बनाकर वह इस विवाह को रोकना चाह रहे हैं इन अफवाहों पर आज यानी गुरुवार को विराम लग गया जब मंत्री ने स्वयं अपने बेटे दिलीप का शादी संपन्‍न कराया इतना ही नहीं बेटे की विवाह में मंत्री भावुक दिखे 

2 दिसंबर को होनी थी शादी 
दरअसल, उत्तर प्रदेश के जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति के बेटे दिलीप की विवाह 2 दिसंबर को होनी थी दिलीप को डेंगू होने के चलते विवाह में एक भी बाराती नहीं पहुंचा था ऐसे में अटकलें लगाई गईं कि दूल्‍हा और दुल्‍हन प्रेम शादी करना चाहते हैं, जिसका मंत्री विरोध कर रहे हैं इतना ही नहीं विरोधियों ने इतना तक कह डाला कि मंत्री बेटे की रोग का बहाना बना रहे हैं असल में वह इस विवाह के विरूद्ध हैं 

शादी में भावुक हो उठे कारागार मंत्री 
अफवाहों से बाजार गर्म था कि आज मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने इनपर विराम लगा दिया बेटे दिलीप के विवाहोपरांत मिलते समय मंत्री धर्मवीर प्रजापति भावुक हो उठे उनकी आंखों में आंसू अपने पुत्र और बहू के लिए उनका सहज स्नेह साफ तौर पर देखा जा सकता था ये आंसू मानों किसी अग्नि परीक्षा से सकुशल गुजरने के भी प्रतीक लग रहे थे, क्योंकि उनके सार्वजनिक जीवन को जिस तरह से दागदार बनाने के कोशिश किये गए थे 

गुरुवार को पूरी कराई गईं विवाह की रस्‍में  
मूलरूप से खंदौली के गांव खेड़ा हाजीपुर के रहने वाले जेल एवं होमगार्ड मंत्री धर्मवीर प्रजापति वर्तमान में आवास विकास कॉलोनी में रहते हैं उनके तीसरे नंबर के बेटे दिलीप की विवाह मुड़ी जहांगीर निवासी जयराम ठेकेदार की बेटी ज्योति से होनी थी कस्‍बा स्थित माया देवी वाटिका में कार्यक्रम होना था हॉस्पिटल से छुट्टी मिलने के बाद गुरुवार को विवाह की रस्में पूरी कराई गईं