लेटैस्ट न्यूज़

विधानसभा चुनाव को लेकर उदयपुर में जिला निर्वाचन विभाग पूरी तरह से एक्शन मोड़ में…

 Udaipur News: आनें वाले विधानसभा चुनाव को लेकर उदयपुर में जिला निर्वाचन विभाग पूरी तरह से एक्शन मोड़ में नजर आ रहा है इसी कड़ी में हिंदुस्तान निर्वाचन आयोग की ओर से आनें वाले विधानसभा चुनाव 2023 के मद्देनजर चलाए गए द्वितीय विशेष मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के बाद बुधवार को मतदाता सूचियों का आखिरी प्रकाशन किया गया जिला निर्वाचन अधिकारी अरविन्द पोसवाल और उप जिला निर्वाचन अधिकारी शैलेश सुराणा ने सियासी दलों के प्रतिनिधियों और मीडियाकर्मियों की बैठक लेकर पुनरीक्षण कार्यक्रम की प्रगति को साझा किया जिला निर्वाचन अधिकारी पोसवाल ने कहा कि निर्वाचन की अधिसूचना जारी होने के बाद नामांकन की आखिरी तिथि से 10 दिन पूर्व तक मतदाता सूची के लिए आवेदन स्वीकार कर उन्हें निस्तारित किया जाएगा इसके पश्चात द्वितीय पूरक सूची जारी की जाएगी

प्रकाशित की गई सूची के आकंड़े

उन्होंने कहा कि बुधवार को प्रकाशित की गई सूची के अनुसार उदयपुर जिले में कुल 21 लाख 76 हजार 701 मतदाता दर्ज़ हैं इसमें 1107186 पुरूष, 1069491 स्त्री तथा 24 ट्रांसजेण्डर मतदाता शामिल हैं पुनरीक्षण कार्यक्रम के अनुसार 21 अगस्त से अब तक कुल 33293 मतदाताओं के नाम नए जोड़े गए, वहीं 16345 नाम हटाए गए हैं

चार तिथियां  थी मेन
उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुराणा ने कहा कि हिंदुस्तान निर्वाचन आयोग की ओर से इस बार मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए पूरे साल में चार तिथियां 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई तथा 1 अक्टूबर निर्धारित की गई थी चौथे चरण के लिए 21 अगस्त को मतदाता सूची प्रारूप प्रकाशन किया गया दावे एवं आपत्तियों की प्राप्ति और उनके नियमानुसार निस्तारण के पश्चात 4 अक्टूबर को आखिरी प्रकाशन किया गया बैठक में हिंदुस्तान राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से फतहसिंह राठौड़, पंकज पालीवाल, डॉ संजीव पुरोहित, महेंद्र डामोर, अरूण टांक, बीजेपी से दीपक कुमार, शांतिलाल जैन, आम आदमी पार्टी से मोहम्मद हनीफ, सीपीआई से सुभाष श्रीमाली, जनता दल सेक्युलर से रामचंद्र सालवी सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित रहे

सबसे अधिक खेरवाड़ा में, सबसे कम उदयपुर शहर में

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि उदयपुर जिले में सर्वाधिक 296518 मतदाता खेरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में पंजीयत हैं, वहीं सबसे कम 244879 मतदाता उदयपुर शहर विधानसभा क्षेत्र में हैं इसके अतिरिक्त गोगुन्दा में 264409, झाड़ोल में 272535, उदयपुर ग्रामीण में 282836, मावली में 257360, वल्लभनगर में 264049 तथा सलूम्बर में 294115 मतदाता पंजीयत हैं

2209 बूथों पर होगा मतदान

उदयपुर जिले में कुल 1579 लोकेशन पर 2209 मतदान केंद्र स्थापित किए जाएंगे इसमें गोगुन्दा में 286, झाडोल में 290, खेरवाड़ा में 314, उदयपुर ग्रामीण में 262, उदयपुर शहर में 216, मावली में 264, वल्लभनगर में 281 और सलूम्बर में 296 बूथ रहेंगे

85 हजार से अधिक युवा करेंगे पहली बार मतदान

प्रथम पूरक मतदाता सूची में 18 से 19 साल उम्र वर्ग के 85242 मतदाता शामिल हैं, जो पहली बार मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे सूची में 20-29 उम्र वर्ग में 503252, 30-39 उम्र वर्ग में 510834, 40-49 उम्र वर्ग में 329927, 50-59 उम्र वर्ग में 331532, 60-69 उम्र वर्ग में 231422, 70-79 उम्र वर्ग में 124035 तथा 80 साल से अधिक उम्र के 60457 मतदाता शामिल हैं

पीबी मार्क होने के बाद बूथ पर मतदान नहीं

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन आयोग की ओर से 80 साल से अधिक उम्र के मतदाता तथा 40 फीसदी से अधिक दिव्यांग विशेष योग्यजन के लिए घर बैठे मतदान सुविधा के संबंध में भी जानकारी सांझा की उन्होंने कहा कि चुनाव की अधिसूचना जारी होने के 5 दिन के भीतर बूथ लेवल ऑफिसरों के माध्यम से ऐसे मतदाताओं को फॉर्म 12 डी जारी किया जाएगा उसे भर कर वापस जमा कराना होगा उस आधार पर रिटर्निंग अधिकारी पोस्टल बैलेट जारी करेंगे तथा मतदाता सूची में उन मतदाताओं के नाम के आगे पीबी अंकित कर दिया जाएगा मतदान दल संबंधित मतदाता से बात करके समय निर्धारित कर उनके घर जाकर मतदान कराएंगे एक बार मतदाता सूची में पीबी मार्क हो जाने के बाद उन मतदाताओं को बूथ पर जाकर मतदान नहीं करने मिलेगा

सी-विजिल एप से करें शिकायत
इस दोरान निर्वाचन आयोग की ओर से लांच किए गए सी-विजिल एप की भी जानकारी दी उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाए रखने तथा आचार संहिता के उल्लंघन को रोकने के लिए यह एप जारी किया गया है इसे प्रत्येक नागरिक को अपने मोबाइल में डाउनलोड करना चाहिए कोई भी नागरिक आचार संहिता के उल्लंघन की लाइव कम्पलेन एप पर कर सकेगा निर्वाचन से जुड़ी टीम को 100 मिनिट के अंदर-अंदर उस कम्पलेन पर एक्शन लेना जरूरी है

 

Related Articles

Back to top button