लेटैस्ट न्यूज़

केंद्र सरकार ने भारत आटा ब्रांड नाम से देशभर में 27.50 रुपये प्रति किलोग्राम की दर पर गेहूं के आटे की…

दिवाली पर गवर्नमेंट करोड़ों देशवासियों को महंगाई से राहत देने में जुटी हुई है इस कड़ी में काम करते हुए केंद्र गवर्नमेंट ने राष्ट्र की जनता को त्योहारों के मौसम में खास सौगात दी है केंद्र गवर्नमेंट अब जनता को सस्ते मूल्य पर आटा उपलब्ध कराएगी इस कड़ी में केंद्र गवर्नमेंट ने सोमवार को ‘भारत आटा’ ब्रांड नाम से देशभर में 27.50 रुपये प्रति किलोग्राम की रेट पर गेहूं के आटे की बिक्री औपचारिक रूप से प्रारम्भ कर दी है

केंद्र गवर्नमेंट के इस कदम से दीपावली से पहले ही राष्ट्र की जनता को बड़ी राहत मिली है गवर्नमेंट का उद्देश्य है कि महंगाई से जनता को आराम दिलाया जा सके महंगाई के कारण जनता के घर का बजट ना बिगड़े और त्योहारों की रौनक फीकी ना पड़े इसी कड़ी में केंद्र गवर्नमेंट ने ‘भारत आटा’ जनता के लिए लॉन्च किया है आमतौर पर बाजार में सबसे सस्ता आटा 32 रुपये प्रति किलो की रेट से मौजूद है इस आटे की स्थान अब गवर्नमेंट द्वारा लॉन्च किया गया आटा खरीद सकते है

बता दें कि ‘भारत आटा’ सहकारी समितियों नेफेड, एनसीसीएफ और केंद्रीय भंडार के माध्यम से देशभर में 800 मोबाइल वैन और 2,000 से अधिक दुकानों के माध्यम से बेचा जाएगा गुणवत्ता और जगह के आधार पर सब्सिडी वाली रेट मौजूदा बाजार रेट 36-70 रुपये प्रति किलोग्राम से कम है फरवरी में, गवर्नमेंट ने मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना के अनुसार कुछ दुकानों में इन सहकारी समितियों के माध्यम से 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम पर 18,000 टन ‘भारत आटा’ की प्रायोगिक बिक्री की थी

केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने यहां कर्तव्य पथ पर ‘भारत आटा’ की 100 मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते हुए कहा, “अब जब हमने परीक्षण कर लिया है और सफल रहे हैं, तो हमने एक औपचारिकता पूरी करने का निर्णय किया है ताकि राष्ट्र में हर स्थान आटा 27.50 रुपये प्रति किलो की रेट पर मौजूद हो” उन्होंने बोला कि परीक्षण के दौरान गेहूं के आटे की बिक्री कम थी क्योंकि इसे सिर्फ़ कुछ दुकानों के माध्यम से खुदरा बेचा गया था हालांकि, इस बार बेहतर उठान होगा क्योंकि उत्पाद देशभर में इन तीन एजेंसियों की 800 मोबाइल वैन और 2,000 दुकानों के माध्यम से बेचा जाएगा

Related Articles

Back to top button