लेटैस्ट न्यूज़

मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर यमुना नदी में केमिकल का छिड़काव करने का आरोप लगाते हुए पूछा…

नई दिल्ली, . बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली की
केजरीवाल गवर्नमेंट पर यमुना नदी में केमिकल का छिड़काव करने का इल्जाम लगाते हुए
पूछा है कि क्या इस केमिकल से यमुना का पानी दूषित नहीं होगा ?

मनोज
तिवारी ने गुरुवार को यमुना नदी में स्प्रे करते हुए एक वीडियो को शेयर कर
एक्स पर पोस्ट कर इल्जाम लगाया, “केजरीवाल गवर्नमेंट के द्वारा कालिंदी कुंज में
यमुना के जल में ज़हरीली झाग को दबाने के लिए केमिकल का छिड़काव ? आज का
वीडियो है.

तिवारी ने आगे कहा, “इस केमिकल से क्या यमुना का पानी
दूषित नहीं होगा ? जीव – जंतुओं और श्रद्धालुओं को हानि नहीं पहुंचाएगा ?
पूरे वर्ष भर अरविंद केजरीवाल गवर्नमेंट को याद नहीं रहता है, जब छठ पूजा आती है
तो अपनी नाकामी छुपाने के लिए केमिकल का छिड़काव करते हैं. यदि यह केमिकल
हानिकारक नहीं है तो पूरे वर्ष इसका छिड़काव क्यों नहीं किया जाता है ?
केंद्र गवर्नमेंट के द्वारा यमुना सफाई हेतु लाखों करोड़ रुपए दिए जाने के बाद
भी यमुना की स्थिति आज भी बदहाल है, जबकि ये दिल्ली की लाइफ लाइन है.

इससे
पहले दिल्ली बीजेपी के उपाध्यक्ष दिनेश प्रताप सिंह ने बोला कि छठ पूजा
उत्सव शुक्रवार दोपहर नहाय खाए पूजा के साथ प्रारम्भ होगा और दिल्ली सरकार
द्वारा सौ छठ घाट भी विकसित नहीं किए गए हैं. छठ निकट आ गया है, पूजा
समितियां मजदूरों को काम पर रखने और अपने आवंटित स्थानों पर पर्सनल रूप
से घाट विकसित करने के लिए विवश हैं. सिंह ने बोला कि दिल्ली में
बसे पूर्वांचली यह देखकर दंग हैं कि अरविंद केजरीवाल गवर्नमेंट ने दुर्गेश
पाठक और संजीव झा जैसे अपने पूर्वांचली नेताओं को आगे करके पूर्वांचलियों
को गुमराह किया है कि दिल्ली गवर्नमेंट प्रबंध कर रही है. यह चौंकाने वाली
बात है कि शुक्रवार को नहाए खाए के साथ छठ पूजा प्रारम्भ होने में बमुश्किल एक
दिन बचा है और आज दुर्गेश पाठक ने तैयारियों के लिए 10 सूत्रीय एजेंडा की
घोषणा की है. पूर्वांचलवासी जानना चाहते हैं कि बमुश्किल एक दिन शेष रह
जाने पर वे इस एजेंडे को कैसे लागू करेंगे. दिल्ली बीजेपी के
प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने बोला कि दिल्ली की मंत्री आतिशी बाजीगरी में
माहिर हैं और उनका राजस्व विभाग दिल्ली में बसे पूर्वांचलियों को छठ घाट और
अन्य पूजा सुविधाएं मौजूद कराने में पूरी तरह विफल रहा है. दिल्ली सरकार
ने आईटीओ पश्चिम में एक नमूना छठ घाट विकसित किया है और मंत्री आतिशी ने
इससे अपना काम दिखाने की प्रयास की है, लेकिन वह पूर्वांचलियों को गुमराह
करने में विफल रही हैं. दिल्ली बीजेपी पूर्वांचल मोर्चा के अध्यक्ष
नीरज तिवारी ने बोला कि 2015 तक पूर्वांचलियों को परंपरा के मुताबिक यमुना तट
पर घाटों पर छठ मनाने की अनुमति थी, लेकिन अरविंद केजरीवाल गवर्नमेंट ने
पूर्वांचलियों को यमुना तट से दूर रहने और कृत्रिम घाटों पर छठ मनाने के
लिए विवश किया है. तिवारी ने बोला है कि दिल्ली गवर्नमेंट का 1,000 छठ
घाट बनाने का दावा पूरी तरह से गलत है और उन्होंने बोला कि वे दिल्ली सरकार
को चुनौती देते हैं कि वह अपने द्वारा बनाये गये 1,000 छठ घाटों की सूची
जारी करे. उन्होंने बोला है कि इस साल गुरुवार शाम 5 बजे तक दिल्ली
सरकार ने लगभग 90 घाट बनाएं हैं बाकी सभी स्थान पूर्वांचली स्वयं घाट तैयार
कर रहे हैं. बीजेपी नेताओं ने बोला कि दिल्ली की मेयर डाक्टर शैली ओबेरॉय द्वारा
प्रति घाट रुपये 40,000 देने का किया वादा भी झूठा वादा निकला. गुरुवार
शाम 5 बजे तक किसी भी छठ पूजा समिति को वादे के अनुसार पैसा नहीं मिला है.

Related Articles

Back to top button