लेटैस्ट न्यूज़

चेक साइन करते समय इन गलतियों से रहें सावधान

 से कई लोगों ने चेकबुक का इस्तेमाल किया होगा खाता खोलते समय ज्यादातर बैंक ग्राहक को पासबुक, एटीएम कार्ड के साथ चेकबुक भी देते हैं, ताकि औनलाइन और कैश लेंन-देंन के साथ-साथ इसके जरिए पैसों का लेनदेन भी किया जा सके किसी भी बड़े भुगतान या रिकॉर्ड लेनदेन के लिए चेक बुक का इस्तेमाल किया जाता है यदि आप भी अक्सर चेक का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बहुत सावधान रहने की आवश्यकता है, क्योंकि एक छोटी सी गलती भी बड़ी कठिनाई का कारण बन सकती है आज हम आपको 10 आम गलतियों के बारे में बता रहे हैं जो लोग अक्सर करते हैं

चेक बैंकिंग प्रणाली का एक साधन है जिसके माध्यम से कोई आदमी किसी आदमी विशेष को भुगतान करने के लिए बैंक को चेक जारी करता है चेक में उस आदमी का नाम लिखना होगा जिसे पैसा देना है हालाँकि यह किसी आदमी या कंपनी या संगठन का नाम हो सकता है चेक में धनराशि लिखनी होती है और चेक पर हस्ताक्षर करना भी महत्वपूर्ण होता है अधिक परेशान होने से बेहतर है कि चेक साइन करते समय इन गलतियों से बचें

कृपया राशि के बाद ही लिखें

जब भी आप कोई चेक जारी करें तो हमेशा राशि के साथ सिर्फ़ लिखें दरअसल, चेक पर धनराशि के अंत में सिर्फ़ लिखने का उद्देश्य संभावित फर्जीवाड़ा को रोकना है इसलिए हम राशि को शब्दों में लिखने के बाद अंत में सिर्फ़ लिखते हैं

खाली चेक पर हस्ताक्षर न करें

कभी भी कोरे चेक पर हस्ताक्षर न करें चेक पर हस्ताक्षर करने से पहले हमेशा उस आदमी का नाम, राशि और तारीख लिखें जिसे चेक दिया जा रहा है चेक पर लिखने के लिए हमेशा अपनी कलम का इस्तेमाल करें

हस्ताक्षर में कोई गलती नहीं होनी चाहिए

पैसों के अतिरिक्त यदि चेक देने वाले के हस्ताक्षर बैंक में उपस्थित हस्ताक्षर से मेल नहीं खाते तो चेक भी बाउंस हो जाएगा बैंक ऐसे चेक का भुगतान नहीं करते हैं जिसमें चेक जारी करने वाले आदमी के हस्ताक्षर मेल नहीं खाते हैं इसलिए बेहतर होगा कि चेक जारी करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपका हस्ताक्षर बैंक में मौजूद हस्ताक्षर से मेल खाता हो

दिनांक ठीक लिखें

सुनिश्चित करें कि चेक पर तारीख ठीक है और उस दिन से मेल खाती है जिस दिन आप इसे जारी कर रहे हैं ये सबसे जरूरी है यह आपको बहुत सारे भ्रम से बचाता है और यह सुनिश्चित करता है कि चेक कब भुनाने के लिए वैध होगा

चेक में स्थाई स्याही का प्रयोग करें

चेक के साथ छेड़छाड़ से बचने के लिए स्थाई स्याही का प्रयोग करना चाहिए ताकि बाद में इसे काटा या बदला न जा सके इससे आप फर्जीवाड़ा से भी बच सकते हैं

चेक पर हस्ताक्षर करके किसी को न दें

कभी भी खाली चेक जारी न करें इसका कारण यह है कि इसमें कोई भी राशि भरी जा सकती है ऐसा करना बहुत जोखिम भरा हो सकता है

खाते में पर्याप्त बैलेंस होना महत्वपूर्ण है

चेक बाउंस होने पर आपको जुर्माने के साथ-साथ कारावास भी जाना पड़ सकता है जब कोई बैंक किसी कारण से चेक अस्वीकार कर देता है और भुगतान नहीं किया जाता है, तो इसे बाउंस चेक बोला जाता है ऐसा होने का कारण अधिकांश खाते में बैलेंस न होना होता है चेक जारी करते समय आपके खाते में पर्याप्त बैलेंस होना बहुत महत्वपूर्ण है

पोस्ट-डेटिंग से बचें

चेक को पोस्ट-डेटिंग करने से बचें क्योंकि हो सकता है कि बैंक इसे स्वीकार न करे बैंक को चेक का भुगतान करने में तारीख जरूरी किरदार निभाती है आप वह तारीख दर्ज कर सकते हैं जब आप चाहते हैं कि आपके खाते से रकम काटी जाए यदि आपने गलत तारीख, महीना या साल दर्ज किया है, तो संभवतः आपका चेक वापस आ जाएगा

चेक नंबर रखें

चेक नंबर नोट कर लें और इसे अपने रिकॉर्ड में नोट कर लें यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आप इसे किसी सुरक्षित जगह पर लिखें जब भी कोई टकराव हो तो शक दूर करने के लिए या सत्यापन के लिए बैंक को देने के लिए आप हमेशा इस चेक नंबर का इस्तेमाल कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button