राहुल ने “आदिवासी” तीर से साधा PM मोदी, RSS, BJP पर निशाना

राहुल ने “आदिवासी” तीर से साधा PM मोदी, RSS, BJP पर निशाना

विपिन श्रीवास्तव, भोपाल: राहुल गांधी की हिंदुस्तान जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में एंट्री के दूसरे दिन गुरुवार को आदिवासियों पर फोकस रही. वह आदिवासी जननायक टंट्या मामा की जन्मस्थली बड़ौदा अहीर पहुंचे और टंट्या मामा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नमन किया. इसके बाद वह आदिवासी सभा पहुंचे जहां उनको आदिवासी पारंपरिक वेशभूषा वाला जैकेट, टोपी पहनाई, तीर धनुष भी दिया गया.

राहुल गांधी ने आदिवासी सभा को संबोधन जय जोहार के नारे से करते हुए बोला कि टंट्या मामा आदमी ही नहीं बल्कि एक सोच एक विचारधारा हैं. इसी सोच और विचारधारा के कारण आज मैं यहां आया हूं, टंट्या मामा निडरता, संघर्ष , क्रांतिकारी के तौर पर जाने जाते हैं. आदिवासी इस राष्ट्र के वास्तविक मालिक हैं, उन्होंने बोला कि भाजपा ने आदिवासियों को वनवासी कहा, इसके पीछे उनकी दूसरी सोच है. इसके लिए भाजपा आदिवासियों से माफी मांगे.

RSS की विचारधारा पर साधा निशाना

राहुल गांधी ने बोला कि टंट्या मामा को फांसी पर अंग्रेजों ने चढ़ाया और RSS की विचारधारा ने अंग्रेजों की सहायता की, ये दुनिया, पूरा भारत जानता है , जबकि कांग्रेस पार्टी ने अंग्रेजों को भगाया और RSS अंग्रेजों के साथ खड़ी थी‌.

‘वनवासी’ शब्द कहने पर बीजेपी आदिवासियों से मांगें माफी

राहुल गांधी ने बोला कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण में नया शब्द प्रयोग किया वनवासी, जबकि आदिवासी के पीछे सोच ये हैं कि आप राष्ट्र के पहले मालिक हो, आपका जल, जंगल, जमीन पर अधिकार है, लेकिन आपको और आपके बच्चों को और अधिकार मिलना चाहिए , जबकि वनवासी मतलब केवल जंगल और वन तक सीमित रखना, वन के बाहर आपका कोई अधिकार नहीं, भाजपा जंगल उद्योगपति को दे रही है, जंगल काटे जा रहे हैं.

अगर आपका बेटी डॉक्टर-इंजीनियर बनना चाहे तो उसकी पूरी सहायता मिलनी चाहिए. क्योंकि आप उसके हकदार हो. सबसे पहले आपका काम होना चाहिए. मतलब जंगल तो आपका है, लेकिन जंगल के बाहर भी अधिकार मिलना चाहिए.

उन्होंने आगे बोला कि जब भाजपा की सरकारें विद्यालय और कॉलेज को प्रायवेटाइज कर देती है. उद्वोगपतियों के हवाले कर देती हैं तो आपके बच्चे शिक्षा नहीं पा पाते. आपके परिवारों को जब हॉस्पिटल की आवश्यकता होती है तो वहां नहीं जा पाते.

बीजेपी पब्लिक सेक्टर को बंद करती है. रेलवे, बीएचईएल को प्रायवेटाइज करने का काम करती है तो सीधा आदिवासियों को चोट बांटती है.सबसे पहले बीजेपी वनवासी शब्द के लिए माफी मांगे. वनवासी शब्द आपको समाप्त करने का और आदिवासी आपको भारत का वास्तविक मालिक बनाने का शब्द है.

एमपी में आदिवासियों पर सबसे अधिक अत्याचार

राहुल गांधी ने बोला कि यदि हमारी गवर्नमेंट आई तो आपको आपके अधिकार देंगे. राहुल गांधी ने ये भी बोला कि आदिवासियों पर सबसे अधिक अत्याचार मध्यप्रदेश में हो रहे हैं. ऐसा प्रदेश हमें नहीं चाहिए, हमें आदिवासियों को इज्जत और रक्षा देने वाला प्रदेश चाहिए.

मध्यप्रदेश में राहुल गांधी की हिंदुस्तान जोड़ो यात्रा आज दूसरे दिन खंडवा के बोरगांव से प्रारम्भ हुई, राहुल गांधी के साथ यात्रा में पहली बार प्रियंका गांधी वाड्रा और पति राबर्ट वाड्रा भी रहे. इस दौरान पूर्व डिप्टी मुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस पार्टी के नेता भी राहुल गांधी के साथ चलते रहे.