कोटा में जादूगर सिकंदर ने दी धीरेंद्र शास्त्री को चुनौती, कहा...

कोटा में जादूगर सिकंदर ने दी धीरेंद्र शास्त्री को चुनौती, कहा...

कोटा. कोटा में शोज करने आए उत्तर प्रदेश के जादूगर सिकंदर ने अब बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्रकृष्ण शास्त्री को चुनौती दी है. जादूगर सिकंदर शास्त्री ने बोला कि करिश्मा के नाम पर लोगों को गुमराह न किया जाए. ये सब ट्रिक हैं जो सभी जादूगर अपनी कला में प्रदर्शन करते हैं.

नागपुर की अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति के श्याम मानव द्वारा दी गई चुनौती के बाद कई नेता और धर्म गुरु भी धीरेंद्र शास्त्री को चुनौती दे चुके हैं. वही कोटा में अब जादूगर सिकंदर ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को चुनौती दी है. यह टकराव सामने आने के बाद जादूगर सिकंदर ने दिव्य दरबार पर प्रश्न उठाते हुए बोला कि वहां केवल साइंस की ट्रिक अपनाई जाती है जोकि हर जादूगर जानता है और अपने शोज में दिखाता है. उन्होंने बोला कि धीरेंद्र शास्त्री यदि उन्हें करिश्मा दिखाए तो वे भी उसे पुरस्कार से नवाजेंगे.

जादूगर ने बताया कि यह सब साइंस की ट्रिक होती है जो कोई भी जादूगर जानता है. उन्होंने बोला कि हम कई प्रश्न लेकर चुनौती देते हैं. पूरे विश्व के जादूगर जादू दिखाते हैं ऐसे में कई बार लोगों को लगता है कि वे उनकी समस्याओं का हल कर सकते हैं लेकिन ऐसा होता नहीं है. सब अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं. सनातन का नाम लेकर मुद्दे को दूसरी दिशा देने की प्रयास की जा रही है.जादूगर सिकंदर ने बोला कि जादू दुनिया की प्राचीनतम कला है. जिसकी आज संरक्षण की आवश्यकता है. अब तक अनेक अवार्ड्स और पुरस्कारों से सम्मानित उन्नाव, यूपी के निवासी जादूगर सिकंदर ने बताया कि जादू एक कला है और तंत्र मंत्र भूत प्रेत से इसका दूर दूर तक कोई नाता नहीं है. लोगों को अंधविश्वास से बचाना उनके जादुई मिशन का मुख्य उद्देश्य है‌.