लेटैस्ट न्यूज़

बेरोजगारों के पास स्टार्टअप शुरू करने का सुनहरा अवसर

शिक्षित बेरोजगार युवाओं को अपना स्टार्टअप प्रारम्भ करने के लिए सुनहरा अवसर आया है जो भी युवा स्टार्टअप प्रारम्भ करने जा रहे हैं या प्रारम्भ करने के बारे में कोई योजना बना रहे हैं तो उनके लिए गवर्नमेंट की आत्मनिर्भर हिंदुस्तान योजना वरदान साबित हो सकती है इस योजना के अनुसार फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने पर 10 लाख तक की राशि का आर्थिक सहायता मिल सकता है या फिर यूनिट में खर्च कुल लागत का 35% आर्थिक सहायता मिलेगा इसमें उद्यमी दाल मिल, राइस मिल, ऑयल मिल, बेकरी उधोग, पहाड़ उद्योग बरी, उद्योग अचार, केचप प्लांट या कोई भी खाने से संबंधित प्रोसेसिंग यूनिट को आप स्थापित कर सकते हैं

सागर बुंदेलखंड सहित पूरे मध्य प्रदेश के जिलों में इसके भिन्न-भिन्न लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं सागर में पिछले वर्ष इस योजना में 60 यूनिट स्थापित करने का लक्ष्य रखा गया था जिसमें 50% यूनिट पूरी तरह से संचालित हो रही है बाकी में काम चल रहा है इसी रिस्पांस को देखते हुए सागर को इस बार 2024-25 वित्त साल में 204 यूनिट लगाने का टारगेट दिया गया है

यूनिट लगाने से ऐसे मिलेगा फायदा
सागर में उद्यानिकी विभाग के उपसंचालक आर डी चौबे बताते हैं कि जो भी बेरोजगार युवा अपनी यूनिट स्थापित करना चाहता है सबसे पहले उसे एक प्रोजेक्ट तैयार करना होगा कि वह किस तरह का खाद्य से जुड़ा उद्योग प्रारम्भ करना चाह रहा है उसमें कितना इंफ्रास्ट्रक्चर आएगा, क्या लागत होगी किस तरह से काम करेगा इस तरह का एक प्रकरण तैयार कर उद्यानिकी विभाग के डीआरपी नियुक्त किए गए हैं उनसे संपर्क करने के बाद बैंक में इसको प्रस्तुत कर सकते हैं इसमें लाभ यह होगा कि गवर्नमेंट 10 लाख तक का या फिर लागत का 35% आर्थिक सहायता देगी

साथ ही तीन फीसदी एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड से दिया जाएगा, जिससे उसका ब्याज 3% कम हो जाएगा लहसुन पाउडर, प्याज पाउडर ,मुरब्बा, अचार पापड़, सब्जियां या अनाज से तैयार होने वाली खाद्य से संबंधित किसी भी तरह की प्रोसेसिंग यूनिट को स्थापित कर सकते हैं मानव जीवन में उसका खाद्य के लिए इस्तेमाल होना चाहिए

इस योजना में शामिल होने की योग्यता
जो भी पुरुष या किसान इस तरह की यूनिट को स्थापित करना चाहता है वह पढ़ा लिखा होना चाहिए ताकि वह जो काम प्रारम्भ करने जा रहा है उसकी अच्छे से समझ हो या समझ सके उम्र भी 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए और जिस यूनिट को वह स्थापित करना चाह रहा हो वह सिर्फ़ औपचारिकता ना हो उसका इंटरेस्ट होना चाहिए वहीं जिनके पास जमीन है वह तो इसे कर ही सकते हैं जिनके पास जमीन नहीं है, वह भी इसे करने के लिए योग्यता रखते हैं

Related Articles

Back to top button