लेटैस्ट न्यूज़

बिलासपुर में भीषण गर्मी और तपती गर्म हवाओं ने लोगों को कर रखा परेशान

बिलासपुर में भयंकर गर्मी कम नहीं हो रही है. बारिश के बाद तापमान तीन डिग्री सेल्सियस कम हुआ है. इसके बाद भी गर्मी और उमस से लोगों का हाल बेहाल है. हालांकि, शाम को बदली और अंधड़ से थोड़ी राहत महसूस हुई, लेकिन उमस और चिपचिपी गर्मी ने हलाकान कर दिया.

एक दिन पहले बुधवार को तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो 24 घंटों में गिरकर 41 डिग्री पर आ गया. तापमान में गिरावट दर्ज की गई है, लेकिन गर्मी में कोई कमी नहीं आई है. भयंकर गर्मी और तपती गर्म हवाओं ने लोगों को परेशान कर रखा है. गुरुवार को दोपहर भयंकर गर्मी का अहसास हुआ.

तेज गर्म हवाओं के साथ लू जैसी स्थिति बनी रही

तेज गर्म हवाओं के साथ लू जैसी स्थिति बनी रही. मौसम विभाग के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण मध्य बिहार के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है. इसके असर से अभी गर्मी का असर बना हुआ है. इधर मानसून दक्षिण छत्तीसगढ़ में प्रवेश कर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है. बताया जा रहा है कि यह एक-दो दिनों में अपना असर दिखाएगा.

अंधड़ से गिरा बाउंड्रीवाल, पांच आंदोलनकारी घायल

गुरुवार की शाम बदली के साथ जोरदार आंधी-तूफान प्रारम्भ हो गया. इस दौरान कोटा क्षेत्र के ग्राम पथर्रा में महावीर कोल वासरी के विरोध में धरने पर बैठे आंदोलनकारियों का पंडाल उड़ गया. वहीं, आंदोलनकारियों के ऊपर बाउंड्रीवाल गिर गया, जिसके चलते पांच लोग घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए पुलिस ने हॉस्पिटल भेजा, जहां प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है.

17 जून के बाद झमाझम बारिश के आसार

मौसम जानकारों ने 17 जून के बाद झमाझम बारिश होने की आसार जताई है. जून के पहले हफ्ते से अब तक दो बार जोरदार बारिश हो चुकी है. फिर भी गर्मी से राहत नहीं मिली है. गर्मी के इस प्रचंड दौर के बीच मानसून के करीब होने की समाचार से कुछ राहत की आशा है.

मौसम जानकार अब्दुल सिराज खान के अनुसार, 17 जून के बाद तेज वर्षा की आसार है. बता दें कि आठ जून को शहर में 32 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी, और एक दिन पहले भी 16 मिलीमीटर पानी गिरा था. हालांकि बारिश ने गर्मी कम करने के बजाय उमस बढ़ा दिया है.

Related Articles

Back to top button