लेटैस्ट न्यूज़

अफसर-ठेकेदार की आपसी विवाद में 22 वार्डों के लोगों को सरकारी टैंकरों से पानी की नहीं हुई आपूर्ति

अलवर न्यूज़ डेस्क !!! जलदाय विभाग के सिटी एक्सईएन और ठेकेदार के बीच सोमवार रात टकराव हो गया. जिसके कारण मंगलवार को शहर के 22 वार्डों के लोगों को सरकारी टैंकरों से पानी की आपूर्ति नहीं की जा सकी भयंकर गर्मी में लोग पानी के लिए तरस गए. ठेकेदार ने जिला कलक्टर और जलदाय विभाग के उच्च ऑफिसरों से लिखित कम्पलेन कर एक्सईएन पर संबंधियों के यहां टैंकर नहीं लगाने पर दुर्व्यवहार और परेशान करने का इल्जाम लगाया है. विभाग के एईएन ने ठेकेदार को नोटिस दिया है. वहीं, एक्सईएन का बोलना है कि बुधवार से उक्त ठेकेदार से संबंधित वार्डों में नयी व्यवस्थाएं की जाएंगी.

शहर के दिल्ली दरवाजा बाहर मीना पाड़ी निवासी ठेकेदार दुर्गेश कुमार शर्मा ने बुधवार को जिला कलक्टर, एसडीएम अलवर, जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता और अधीक्षण अभियंता को कम्पलेन दी कि उनकी ओर से वार्ड 1 से 14 तक टैंकरों शहर के 58 से 65 तक पानी की आपूर्ति की जा रही है इन 22 वार्डों में वह बिना किसी कम्पलेन या कठिनाई के जनता तक टैंकर पहुंचा रहे हैं पिछले 15 दिनों से कार्यपालन यंत्री संजय नक्श अपने कार्य क्षेत्र के बाहर 5 से 10 टैंकरों के साथ नियम खिलाफ जाकर उनके दोस्तों और संबंधियों के घर जाकर धमका रहे थे. 27 मई की रात करीब साढ़े आठ बजे अधिशाषी अभियंता संजय राठ नगर के बोंगशार्ग आये और उन्हें वहां बुलाया जब वह पहुंचा तो संजय ने ङ्क्षसह से बोला कि ट्रांसपोर्ट नगर में उसकी बहन और स्कीम-2 में उसका दोस्त समेत उन 5 जगहों पर पानी क्यों नहीं डाला गया, जहां प्रतिदिन टैंकर भेजने के लिए बोला गया था. उन्होंने शहर में पानी की परेशानी का हवाला देते हुए अपने आगंतुकों से कल पानी डालने को कहा जिससे एक्सईएन तत्व में आग लग गई. एक्सईएन ने उनके और चालकों के साथ गाली-गलौज और हाथापाई की.

मोबाइल पर गाली-गलौज का ऑडियो वायरल

वहीं, शहर के वार्ड नंबर-13 के पार्षद घनश्याम सोनी से जलदाय विभाग के अधिकारी द्वारा पानी मांगने और आंदोलन की चेतावनी देने का ऑडियो सामने आया है पार्षद सोनी का इल्जाम है कि उनके वार्ड में पिछले कई दिनों से भयंकर पेयजल संकट बना हुआ है परेशानी को लेकर उन्होंने जलदाय विभाग के सिटी एक्सईएन संजय नक्शा को टेलीफोन किया. जिस पर एक्सईएन ङ्क्षसह ने मोबाइल पर उनसे अभद्रता की. हालांकि, मीडिया इस वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है.

Related Articles

Back to top button