टैंक फुल कराते ही धू-धूकर जलने लगी गाड़ियां

टैंक फुल कराते ही धू-धूकर जलने लगी गाड़ियां

गुरुवार को झारखंड के गोड्डा में बड़ा दुर्घटना हुआ गोड्डा-भागलपुर मुख्य मार्ग स्थित HP पेट्रोल पंप पर भयंकर आग लगने से दो मोटरसाइकिल जलकर खाक हो गए पेट्रोल पंप के कर्मचारियों ने बताया कि एक हीरो स्प्लेंडर और एक बजाज सिटी 100 वाहन में आग लगी थी कर्मचारियों की मानें तो हीरो स्प्लेंडर वाहन में जैसे ही टंकी फुल किया गया और उसने टंकी लॉक किया तो वाहन में आग पकड़ गई शायद इंजन गर्म होने की वजह से ये आग पकड़ी हो

अफरा तफरी में वाहन मालिक वाहन छोड़ फरार हो रहा था तो उसके पैंट में भी आग पकड़ गई शीघ्र में स्वयं को बचा वाहन मालिक भागा पर वाहन में लगी आग की लपटें इतनी तेज थी कि दूसरी गाड़ी में भी आग पकड़ गई दूसरा वाहन पेट्रोल पंप के मशीन के एकदम निकट थी और उस वाहन में आग लगने के वजह से पेट्रोल पंप के नोजल में भी आग पकड़ गई, जिसके बाद आग ने विकराल रूप ले लिया
स्थानीय लोगो ने कुछ देर कोशिश जरूर किया पर आग और काबू पाने में असफल रहे

स्थानीय लोगों ने बताया कि पेट्रोल पम्प के पास आग बुझाने के जितने भी उपकरण थे सभी बेकाम थे और उससे आग पर काबू पाना कठिनाई था आसपास के दुकानदारों ने स्वयं के दुकान से फायर एक्सटिंग्सर ला आग पर काबू पाने का कोशिश किया पर वह कोशिश असफल रहा करीबन आधे घंटे बाद जब फायर ब्रिगेड की टीम आई तो आग पर काबू पाया गया और एक बड़ी हादसा टाली गई पेट्रोल पंप के टंकी में आग पकड़ने से शहर तबाह हो सकता था

स्थानीय प्रशासन ने कुछ देर के लिए गोड्डा-भागलपुर मुख्य मार्ग को रोक दिया था ताकि शहर में अफरा-तफरी ना मचे शहर के बीचों बीच स्थित ये पेट्रोल पंप जिस ढंग से हादसा को आमंत्रित कर रहा था आसपास के दुकानदारों, बाजार के लोगों ने भी पेट्रोल पंप का जगह बदलने को लेकर प्रश्न उठाया आग पर काबू पाने के बाद फायर ऑफिसर विनोद कुमार ने बताया कि कई दफा पेट्रोल पंप को चेतावनी देने के बावजूद पंप मालिक नहीं मानते हैं आग पर काबू पाने को लेकर इनके पास कोई उपकरण है या नहीं यह भी एक चिंतनीय विषय है

पंप के मैनेजर विकास कुमार ने बताया कि समय रहते आग पर काबू पाया गया तो एक बड़ी हादसा टली है आग के दौरान कर्मचारी हड़बड़ा गए थे इसी वजह से स्वयं से आग पर काबू नहीं पा सके, हालांकि उन्होंने बताया कि उनके पास सभी उपकरण हैं और चलते भी हैं आग की वजह से उन्होंने 20-25 लाख रुपए का हानि बताया है


बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

 हेमंत सोरेन गठबंधन गवर्नमेंट के सत्ता में आये ढाई वर्ष पूरे होने को है गवर्नमेंट के लिए चुनावी वादों को पूरा करने के साथ बोर्ड-निगम बंटवारा सबसे अहम मामला है इसको लेकर बीते दिनों जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन की अध्यक्षता में 9 सदस्यीय राज्य समन्वय समिति का गठन किया गया है समिति की पहली बैठक हो चुकी है अगली बैठक के बाद बोर्ड – निगम बंटवारे पर काम प्रारम्भ हो जाएगा बोर्ड निगम की अगली बैठक मांडर उपचुनाव (रविवार 26 जून) मतगणना के बाद कभी भी बुलायी जा सकती है

इससे पहले 17 जून की समन्वय समिति की पहली बैठक में मांडर उपचुनाव के साथ-साथ तीनों दलों के चुनावी घोषणा पत्र पर आधारित न्यूनतम साझा कार्यक्रम, राज्य में खाली बोर्ड – निगम के पदों को भरने और 20 सूत्री, 15 सूत्री के गठन आदि विषयों पर चर्चा हुई थी इसके साथ ही गवर्नमेंट में सभी दलों की बेहतर साझेदारी हो, इस विषय पर भी विमर्श किया गया

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप. ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

राज्य समन्वय समिति में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस पार्टी और आरजेडी के 9 सदस्यों को शामिल किया गया है जेएममम सुप्रीमो शिबू सोरेन समिति के अध्यक्ष हैं अन्य 8 सदस्यों में कांग्रेस पार्टी से आलमगीर आलम, राजेश ठाकुर, बंधु तिर्की, आरजेडी से सत्यानन्द भोक्ता और जेएमएम से विनोद कुमार पांडेय, फागु बेसरा, सरफराज अहमद एवं योगेंद्र प्रसाद लिए गए हैं