प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की होनेवाली बहाली में शामिल किये जाने की मांग

प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की होनेवाली बहाली में शामिल किये जाने की मांग

 झारखंड के प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की होनेवाली बहाली में शामिल किये जाने की मांग को लेकर बुधवार को राजभवन के सामने झारखंड राजनीति विभाग संघ के बैनर तले राजनीति विज्ञान के विद्यार्थियों ने धरना दिया इनकी मांग है कि इनकी बहाली के लिए भी झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) की ओर से वैकेंसी निकाला जाये

11 विषयों के लिए ही शिक्षक बहाल होने हैं

मालूम हो कि झारखंड गवर्नमेंट द्वारा प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति की जा रही है अभी झारखंड के प्लस टू विद्यालयों में 11 विषयों के लिए शिक्षक बहाल होने हैं इसके लिए झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) को अधियाचना भेज दी गयी है इसमें राजनीति विज्ञान, समाज शास्त्र, क्षेत्रीय भाषा, उर्दू, दर्शनशास्त्र और कंप्यूटर साइंस जैसे विषयों को शामिल नहीं किया गया है इसी के विरोध में धरना दिया जा रहा है धरना दे रहे अभ्यर्थियों ने बताया कि हमलोग इस सिलसिले में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो, आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो से मिल कर अपनी बात रख चुके हैं शिक्षा सचिव के नाम आवेदन भी दिया है बताया गया कि इसके लिए जनहित याचिका भी पंजीकृत की गयी है

किन विषयों में कितनी बहाली, कौन से विषय शामिल नहीं

प्लस टू विद्यालयों में शिक्षकों की अभी इतिहास के 243, भूगोल के 218, अर्थशास्त्र के 222, भौतिकी के 395, जीवविज्ञान के 291, कॉमर्स के 289, गणित के 343, संस्कृत के 249, अंग्रेजी के 311 , हिंदी के 217  और रसायन विज्ञान के 342 पदों पर बहाली होनी है वहीं नियुक्ति प्रक्रिया में राजनीति विज्ञान, समाज शास्त्र, क्षेत्रीय भाषा, उर्दू, दर्शनशास्त्र और कंप्यूटर साइंस जैसे विषयों के अभ्यर्थियों को बहाली में शामिल नहीं किया गया है


बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

 हेमंत सोरेन गठबंधन गवर्नमेंट के सत्ता में आये ढाई वर्ष पूरे होने को है गवर्नमेंट के लिए चुनावी वादों को पूरा करने के साथ बोर्ड-निगम बंटवारा सबसे अहम मामला है इसको लेकर बीते दिनों जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन की अध्यक्षता में 9 सदस्यीय राज्य समन्वय समिति का गठन किया गया है समिति की पहली बैठक हो चुकी है अगली बैठक के बाद बोर्ड – निगम बंटवारे पर काम प्रारम्भ हो जाएगा बोर्ड निगम की अगली बैठक मांडर उपचुनाव (रविवार 26 जून) मतगणना के बाद कभी भी बुलायी जा सकती है

इससे पहले 17 जून की समन्वय समिति की पहली बैठक में मांडर उपचुनाव के साथ-साथ तीनों दलों के चुनावी घोषणा पत्र पर आधारित न्यूनतम साझा कार्यक्रम, राज्य में खाली बोर्ड – निगम के पदों को भरने और 20 सूत्री, 15 सूत्री के गठन आदि विषयों पर चर्चा हुई थी इसके साथ ही गवर्नमेंट में सभी दलों की बेहतर साझेदारी हो, इस विषय पर भी विमर्श किया गया

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप. ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

राज्य समन्वय समिति में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस पार्टी और आरजेडी के 9 सदस्यों को शामिल किया गया है जेएममम सुप्रीमो शिबू सोरेन समिति के अध्यक्ष हैं अन्य 8 सदस्यों में कांग्रेस पार्टी से आलमगीर आलम, राजेश ठाकुर, बंधु तिर्की, आरजेडी से सत्यानन्द भोक्ता और जेएमएम से विनोद कुमार पांडेय, फागु बेसरा, सरफराज अहमद एवं योगेंद्र प्रसाद लिए गए हैं