पोलिंग पार्टियों का डिस्पैच किया गया

पोलिंग पार्टियों का डिस्पैच किया गया

Ranchi : मांडर विधानसभा उपचुनाव की वोटिंग 23 जून को होनी है जिसको लेकर बुधवार को पोलिंग पार्टियों का डिस्पैच किया गया डिस्पैच से पहले रांची डीसी छवि रंजन और एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने मतदान कर्मियों को ब्रीफिंग की ब्रीफिंग के दौरान मतदान संबंधित पूरी जानकारी दी गई मतदान कर्मियों को बोला गया कि आज बुधवार को ईवीएम मशीन को चालू नहीं करना है गुरुवार को मॉक पोलिंग के दौरान ही ईवीएम मशीन को चालू करेंगे ब्रीफिंग के दौरान डीसी ने दिव्यांग और 80 प्लस मतदाताओं से अपील की बढ़-चढ़कर मतदान करें मांडर उपचुनाव में कुल 433 मतदान केन्द्रों के लिए1732 मतदान कर्मी और लगभग 3000 पुलिस बल तैनात किये गये है पढ़ें – ़

मतदान केंद्र में एक दिन के मजिस्ट्रेट आप है : डीसी

डीसी अपने ब्रीफिंग के दौरान मतदान कर्मियों को बोला कार्मिक विभाग द्वारा आप लोगों को 1 दिन का मजिस्ट्रेट का पावर दिया है  मतदान केंद्र में क्या करना है और क्या नहीं करना है यह आप पर निर्भर करता है आप सभी ने पहले भी अच्छे से मतदान करवाया है और हमें आशा है कि इस बार भी आप अच्छे से मतदान करवाएंगे मतदान कर्मियों को ईवीएम मशीन लेकर जाने के दौरान कहीं भी रास्ते में रुक कर चाय नाश्ता करने से मना किया है ऐसा करने से निष्पक्ष मतदान पर प्रश्न उठता है इसलिए इस बात की ध्यान रखने के लिए भी बोला गया डीसी ने यह भी बोला कि ईवीएम मशीन में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी उत्पन्न होती है तो सेक्टर मजिस्ट्रेट को और ईवीएम टेक्नीशियन को सूचना दें इसके लिए डरे नहीं

आशंका हो तो स्वयं को सुरक्षित करके पुलिस को सूचना दें : एसएसपी

एसएसपी सुरेंद्र झा ने मतदान कर्मियों से बोला कि आप जिस रास्ते से जा रहे हैं वह सड़क पूरी तरह से अच्छी है और अचानक कहीं पर गड्ढा मिले तो आप सूझबूझ के साथ सबसे पहले अपनी सुरक्षा करें, फिर बिना देर किए पुलिस प्रशासन को सूचित करें पुलिस प्रशासन ने पूरी तरह से सुरक्षित मतदान के लिए पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है संवेदनशील जगहों की जांच परख कर ली गई है उन्होंने यह भी बोला कि यदि जंगल में कहीं तार लटकता दिखे लाल फीता देखे या किसी ऐसी चीज को आप देखें जिससे आपके मन में शंका उत्पन्न होती है तो आप पुलिस को सूचना दें

.


बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

बोर्ड-निगम बंटवारे पर जल्‍द शुरू होगा काम

 हेमंत सोरेन गठबंधन गवर्नमेंट के सत्ता में आये ढाई वर्ष पूरे होने को है गवर्नमेंट के लिए चुनावी वादों को पूरा करने के साथ बोर्ड-निगम बंटवारा सबसे अहम मामला है इसको लेकर बीते दिनों जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन की अध्यक्षता में 9 सदस्यीय राज्य समन्वय समिति का गठन किया गया है समिति की पहली बैठक हो चुकी है अगली बैठक के बाद बोर्ड – निगम बंटवारे पर काम प्रारम्भ हो जाएगा बोर्ड निगम की अगली बैठक मांडर उपचुनाव (रविवार 26 जून) मतगणना के बाद कभी भी बुलायी जा सकती है

इससे पहले 17 जून की समन्वय समिति की पहली बैठक में मांडर उपचुनाव के साथ-साथ तीनों दलों के चुनावी घोषणा पत्र पर आधारित न्यूनतम साझा कार्यक्रम, राज्य में खाली बोर्ड – निगम के पदों को भरने और 20 सूत्री, 15 सूत्री के गठन आदि विषयों पर चर्चा हुई थी इसके साथ ही गवर्नमेंट में सभी दलों की बेहतर साझेदारी हो, इस विषय पर भी विमर्श किया गया

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप. ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

राज्य समन्वय समिति में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस पार्टी और आरजेडी के 9 सदस्यों को शामिल किया गया है जेएममम सुप्रीमो शिबू सोरेन समिति के अध्यक्ष हैं अन्य 8 सदस्यों में कांग्रेस पार्टी से आलमगीर आलम, राजेश ठाकुर, बंधु तिर्की, आरजेडी से सत्यानन्द भोक्ता और जेएमएम से विनोद कुमार पांडेय, फागु बेसरा, सरफराज अहमद एवं योगेंद्र प्रसाद लिए गए हैं