कबड्डी के ट्रायल में दो सौ खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा

कबड्डी के ट्रायल में दो सौ खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा

मनोज पांडेय की रिपोर्ट
झारखंड/कोडरमा
रविवार को सीएच स्कूल मैदान में कबड्डी का ट्रायल संपन्न हुआ। इसमें जिले भर से 200 से अधिक बच्चों ने अपनी प्रतिभा को दिखाया। यह ट्रायल सब जूनियर, सीनियर बालक व बालिका वर्ग के लिए था।  बच्चों का चयन उनके उम्र, वजन, खेलने की योग्यता के आधार पर किया गया। चयनित बच्चों को 10 दिन का प्रैक्टिस कैंप में उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। और उनके खेल व खेलने को तरीके को निखारा जाएगा।

 सभी वर्गों में 20, 20 खिलाड़ियों को चयनित किया गया। जिसमें प्रशिक्षण कैंप के बाद क्यों 12-12 खिलाड़ियों का हर वर्ग का एक टीम बनाया जाएगा।कैंप में बच्चे काफी  संतुष्ट दिखे। मौके पर मौजूद संघ के उपाध्यक्ष तौफिक हुसैन ने बताया कि बच्चों को संघ द्वारा अच्छा से अच्छा व्यवस्था देने का प्रयास किया जा रहा, और भविष्य में वो अच्छा करें इसके लिए हर ब्लॉक में प्रैक्टिस शुरु करवाया जाएगा। हर ब्लॉक से अच्छे-अच्छे खिलाड़ी उभर कर निकल सके ऐसा प्रयास किया जाएगा। यह ट्रायल चीफ कोच सुनील कुमार, कोच प्रवीण कुमार, श्रवण कुमार द्वारा लिया गया। मौके पर संघ के सचिव धर्मेंद्र सिंह, उपाध्यक्ष तौफिक हुसैन, सह सचिव विजय कुमार, कोषाध्यक्ष विशाल सिंह व कई अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।
------- 


सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा: रायपुर से 80 लाख की आभूषण चोरी केस में बड़ा खुलासा, बांसजोर के तालाब से मिले गहने

सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा: रायपुर से 80 लाख की आभूषण चोरी केस में बड़ा खुलासा, बांसजोर के तालाब से मिले गहने

सिमडेगा पुलिस की कलंक कथा का पन्ना खुल गया है सूत्र बता रहे हैं कि छत्तीसगढ़ के रायपुर से चोरी हुए गहने पुलिस जवानों की निशानदेही पर तालाब से बरामद कर लिए गए हैं बता दें कि इस मुद्दे में पहले ही बांसजोर थाना प्रभारी निलंबित किये जा चुके हैं केस रायपुर से 80 लाख के गहनों की डकैती का है इस मुद्दे की पुलिस मुख्यालय के आदेश पर जाँच हुई है जो जानकारी सामने आ रही है इसके मुताबिक इस काण्ड में पुलिसकर्मियों ने रिकवर्ड किए गए जेवरातों के बारे में आधी-अधूरी जानकारी शेयर की थी और बरामद हुए गहनों की पूरी रिकवरी नहीं दिखाई गई थी पुलिसवालों से हुई पूछताछ के बाद ही ये गहने बरामद किए गए हैं हालांकि, एसपी सिमडेगा ने केवल इतनी ही पुष्टि की है कि कुछ गहने मिले हैं, पर कैसे मिले इसके खुलासे के लिए थोड़ा इन्तजार करें

बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के रायपुर में ज्वेलरी शोरूम से 80 लाख के गहनों की चोरी हुई थी मुद्दे में सिमडेगा पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान आरोपियों को हिरासत में लिया था इसके बाद सिमडेगा पुलिस ने आरोपियों के पास से चोरी के गहने बरामद किए थे हालांकि 2 दिनों तक आरोपियों को पकड़ने के बाद इसकी सूचना छत्तीसगढ़ पुलिस से छिपाई गई थी इसके बाद 2 आरोपियों की गिरफ्तारी और 25 लाख के जेवरों की रिकवरी की ही जानकारी  दी गई थी

मामले को लेकर रायपुर पुलिस ने सिमडेगा के बांसजोर ओपी के पुलिसवालों की कार्यशैली पर संभावना जाहिर की थी छत्तीसगढ़ पुलिस ने झारखंड पुलिस के वरीय ऑफिसरों के साथ सबूत शेयर किए थे
मुद्दे की गंभीरता को देखते हुए बांसजोर ओपी प्रभारी को तब सस्पेंड कर दिया गया था वहीं मुद्दे की उच्चस्तरीय जाँच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था