अमेरिका में स्कूलों को खोलने पर जानलेवा महामारी के कहर से इतने लोग हुए प्रभावित

अमेरिका में स्कूलों को खोलने पर जानलेवा महामारी के कहर से इतने लोग हुए प्रभावित

कोविड-19 के बाद से हिंदुस्तान में शैक्षणिक संस्थाएं बंद हैं, यहां तक कि वार्षिक परीक्षाएं नहीं रद्द कर दी गई हैं। लम्बे वक़्त से स्कूलों के बंद होने से स्कूल प्रबंधन परेशान हैं वहीं उच्चतर कक्षाओं के विद्यार्थी भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हो रहे है। 

हिंदुस्तान सरकार भी स्कूलों को धीरे-धीरे खोलने की बात कह रहे है। वहीं अमेरिका से स्कूलों को खोले जाले की समाचार सुनने को मिली है। कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले राष्ट्रों में अमेरिका भी उपस्थित है।

अब वहां स्कूल के बच्चों पर भी इस जानलेवा महामारी के कहर का प्रभाव देखने को मिल रहा है। अमेरिका के जॉर्जिया जिले में स्कूल खुलने के महज 1 सप्ताह के अंदर 250 से अधिक विद्यार्थी व शिक्षक कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। एटलांटा के चेरोकी काउंटी स्कूल ने अपनी वेबसाइट पर कोविड-19 के इन केस की जानकारी दी है। शुक्रवार तक पहली से 12वीं कक्षा तक के 11 विद्यार्थी कोविड के संक्रमण की चपेट में आ गए है। संक्रमितों की संख्या स्कूल में बढ़कर 250 तक पहुंच गई। जिसके उपरान्त सावधानी न स्कूल के ऐसे छात्रों, शिक्षकों व कर्मचारियों को 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जा रहा है। विद्यार्थियों को इस दौरान औनलाइन आदेश दिए जाने वाले है।

जंहा इस बात का पता चला है कि बच्चे ने सोमवार को स्कूल जाना शुरुआत किया था व संक्रमित पाए जाने के उपरांत बुधवार को ही उसे घर भेजा जा चुका है। इस जिले में 40 स्कूलों में 4,800 से ज्यादा कर्मचारी व 42 हजार से ज्यादा विद्यार्थी हैं। यह घटना हिंदुस्तान सरकार के लिए सबक देने वाली है, अगर स्कूलों को खोलने का निर्णय किया जा रहा है तो विशेष सतर्कता की जरूरत होगी।