अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) पर किया यह हमला

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) पर किया यह हमला

 दिनों दिन बढ़ता जा रहा कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है, हर दिन बढ़ते जा रहे इस वायरस के कहर के आगे कई मासूम अपनी जिंदगी की जंग पराजय रहे है। 

वहीं अब तो इस वायरस का कहर इस कदर बढ़ चुका है कि पूरा मानवीय ज़िंदगी बर्बादी की कगार आप आ गया है, हर दिन बढ़ते जा रहे संक्रमण के मुद्दे व मृत्यु के आंकड़ों में बढती होती जा रही है, वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को एक बार फिर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) पर हमला करते हुए बोला कि संयुक्त देश का स्वास्थ्य संगठन चाइना के हाथों की 'कठपुतली' है। डोनाल्‍ड ट्रंप ने दावा किया कि देश में कोरोना वायरस से अधिक लोगों की मृत्यु हुई होती, अगर उन्होंने चाइना से यात्रा पर प्रतिबंध नहीं लगाया होता, जिसका स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा विरोध किया गया था।

मिली जानकारी के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने WHO के डीजी टेड्रोस घेब्रेयेसस को लेटर में बोला है कि अगर अगले 30 दिनों के भीतर संस्‍था ने महत्वपूर्ण सुधारों के लिए प्रतिबद्ध नहीं हुआ, तो मैं WHO को दी जाने वाली फंडिंग को अस्थायी रूप से फ्रीज़ कर दूंगा व संगठन में हमारी सदस्यता पर भी पुनर्विचार करूंगा।

जंहा यह भी बोला जा रहा है कि ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, 'वे (WHO) चाइना के हाथों की एक कठपुतली है। वे चीन-केंद्रित हैं व उन्‍हें अच्छा दिखाने की लगातार कोरिश करने में जुटे हुए हैं। वे चाइना के हाथों की कठपुतली हैं। मुझे लगता है कि उन्होंने बहुत दुखद कार्य किया है। संयुक्त प्रदेश अमेरिका उन्हें प्रति साल 450 मिलियन अमेरिकी डालर का भुगतान करता है। चाइना उन्हें एक वर्ष में 38 मिलियन अमेरिकी डालर का भुगतान करता है।