अंतर्राष्ट्रीय

इजराइल ने बदले के लिए जो रुख अपनाया हैव यह क्रूर है:रुस

Vladimir Putin and Joe Biden On Israel-Palestine Conflict: इजराइल और हमास के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है दोनों के तरफ से एक-दूसरे पर हमले किए जा रहे है करीब सात दिन से चल रहे इस युद्ध में इजराइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने बोला है कि हमास का कुछ भी नहीं बचेगा हमास को पूरी तरह से समाप्त करने की जो प्रयास इजराइल के तरफ से की जा रही है वहीं, हमास भी लगातार हमलावर रुख अपनाए हुए है जहां एक ओर अमेरिका ने इजराइल का खुलकर समर्थन किया है वहीं, रूस इजराइल की कार्रवाई की आलोचना कर रहा है

इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को बोला है कि फलस्तीनी आतंकी समूह हमास आतंकी संगठन अलकायदा से भी बदतर है जो बाइडन ने फिलाडेल्फिया में ‘हाइड्रोजन हब्स’ में अपने संबोधन में कहा, ‘‘हमें जितना अधिक इस हमले के बारे में पता चलता है वह उतना और अधिक भयावह प्रतीत होता है एक हजार से अधिक बेगुनाह लोग मारे जा चुके हैं, जिनमें 27 अमेरिकी भी शामिल हैं’’ उन्होंने कहा,‘‘ इनके मुकाबले तो अलकायदा भी कुछ ठीक लगता है ये शैतान हैं जैसा मैं आरंभ से कहता आ रहा हूं कि अमेरिका इसे लेकर गलती नहीं कर रहा, वह इजराइल के साथ है’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि इजराइल को अपनी रक्षा के लिए जो कुछ भी चाहिए वह उसके पास हो और वह हमलों का उत्तर दे मेरी अहमियत यह भी है कि गाजा में मानवीय संकट से निपटा जाए’’ जो बाइडन ने बोला कि उनके निर्देश पर उनकी टीम इस क्षेत्र में काम कर रही हैं और इजराइल की सहायता के लिए मिस्र, जॉर्डन और अन्य अरब राष्ट्रों की सरकारों और संयुक्त देश के साथ सीधे संवाद कर रही हैं उन्होंने कहा,‘‘ हम इस बात की अनदेखी नहीं कर सकते कि फलस्तीन की अच्छी खासी जनसंख्या का हमास से और उसके हमलों से कोई लेना नहीं है | आज मैंने उन सभी अमेरिकी परिवारों से जूम कॉल पर एक घंटे से अधिक समय तक बात की जिनके परिवार के सदस्य लापता हैं’’

वहीं, रूस ने इस मुद्दे पर बोला है कि इजराइल ने बदले के लिए जो रुख अपनाया हैव यह क्रूर है साथ ही उन्होंने इसकी आलोचना की है रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने बोला है कि गाजा में रहने वाले सारे लोग हमास के समर्थक नहीं हैं पुतिन ने आगे कहा, बेशक, इजरायल को एक घातक हमले का सामना करना पड़ा, जो इतिहास में कभी नहीं हुआ, ना केवल इसके पैमाने में, बल्कि इसकी प्रकृति, इसकी क्रूरता में भी हमें चीजों को वैसे ही नाम देना चाहिए, जैसे वे हैं इजरायल बड़े पैमाने पर उत्तर दे रहा है

Related Articles

Back to top button