रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...

रेडिएशन लीकेज से चीन का इनकार, कहा...

हांगकांग के निकट चीन के न्यूक्लियर प्लांट की सुरक्षा पर उठाए गए सवालों के बीच देश की सरकार ने बुधवार को जानकारी दी कि रिएक्टर में पांच टूटे हुए ईंधन के रॉड हैं, लेकिन रेडियोएक्टिविटी लीकेज नहीं है। गुआंगदोंग प्रांत के टाइशन न्यूक्लियर पावर प्लांट के नंबर 1 रिएक्टर के भीतर रेडिएशन हुआ, लेकिन इसे सुनियोजित तौर पर काम करने वाले बैरियर के जरिए रोक लिया गया। यह जानकारी यहां के पर्यावरण मंत्रालय ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी।

हांगकांग सरकार ने कहा कि यह प्लांट की निगरानी कर रहा था। साथ ही गुआंगदोंग में अधिकारियों से इस मामले में पूछताछ की। दरअसल इसके फ्रांसीसी सहयोगी ने सोमवार को रिएक्टर में नोबल गैसों के बढ़े स्तर के बारे में बताया था। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, अब अमेरिका इस रिसाव का हिसाब ले रहा है, क्योंकि रेडियोएक्टिव तत्वों के कारण भारी तबाही हो सकती है और हवा के विषैले होने पर पड़ोसी देशों तक असर हो सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि फ्यूल रॉड टूट गई और रेडियोएक्टिव गैस लीक होने लगी।


पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग क्षेत्र में उन्मादी भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की घटना के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसे देखते हुए इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी गई है। रहीम यार खान जिला पुलिस के प्रवक्ता अहमद नवाज ने बताया कि पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना के वीडियो साझा किए। इन वीडियोज में भीड़ मंदिर के बुनियादी ढांचे को नष्ट करती नजर आ रही है। इतना ही नहीं मंदिर की मूर्तियों के साथ भी तोड़-फोड़ मचाई गई है। एक अन्य वीडियो में उन्मादी भीड़ मंदिर से सटी सड़क पर लाठी-डंडे लेकर दौड़ती दिख रही है। रमेश कुमार ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट की और कहा कि शुरुआत में पुलिस की धीमी प्रतिक्रिया के कारण स्थिति और मंदिर को नुकसान पहुंचा है। बता दें कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के पूजा स्थल पर हमलों में वृद्धि हुई है। अपने अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करने में असफल पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा बार-बार फटकार भी लग चुकी है।