जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...

जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...

इजरायल ने गाजा पर हवाई हमले की बात को स्वीकार लिया है। फलीस्तीनी सुरक्षा सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि इस्राइल द्वारा गाजा में हवाई हमला किया गया है। इसको स्वीकारते हुए इजरायली सेना ने कहा कि उसके विमान ने बुधवार तड़के गाजा पट्टी में हमास के सशस्त्र परिसरों पर हमला किया। बताया गया कि ये हमला फिलिस्तीनी क्षेत्र से आए आग लगाने वाले गुब्बारों के जवाब में था, जिसे वहां पनाह लिए आतंकवादियों ने भेजा था। सेना के मुताबिक, इन गुब्बारे बमों के कारण दक्षिणी इजरायल में कई जगहों पर आग लग गई।

एक बयान में, सेना ने कहा, 'वह सभी परिदृश्यों के लिए तैयार है, जिसमें गाजा से जारी आतंकवादी कृत्यों का सामना करने के लिए नए सिरे से लड़ाई शामिल है।' बता दें कि 21 मई के बाद अब एक बार दोबारा हवाई हमले और गुब्बारों बम इजरायल और गाजा के बीच अब दोबारा चिंगारी भड़क उठी है। 21 मई को युद्धविराम हो गया था, जो 11 दिनों के भीषण युद्ध के बाद समाप्त हुआ, जिसमें 260 फिलिस्तीनी मारे गए थे और 13 इजरायल के लोग मारे गए थे।

जिस यरूशलम की आग कई दिनों तक इजरायल और गाजा के बीच लगी रही, वहीं से अब दोबारा हिंसा भड़कने का खतरा पैदा हो गया। बता दें कि सैकड़ों की संख्या में इजरायल के धुर राष्ट्रवादियों ने ताकत का प्रदर्शन करने के लिए मंगलवार को पूर्वी यरूशलम में परेड की। इस घटनाक्रम से गाजा पट्टी में हमास आतंकवादियों के साथ युद्ध के महज कुछ ही सप्ताह बाद नहीं परेशानी खड़ी हो गई है। इसके बाद गाजा में फलस्तीनियों ने गुब्बारे छोड़ कर इसका जवाब दिया था और कहा था कि यह मार्च उकसावे वाली हरकत है। सनद रहे दो दिन पहले ही इस्रायल में नेफ्टाली बेनेट के नेतृत्व में गठबंधन सरकार का गठन हुआ है। 


पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग क्षेत्र में उन्मादी भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की घटना के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसे देखते हुए इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी गई है। रहीम यार खान जिला पुलिस के प्रवक्ता अहमद नवाज ने बताया कि पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना के वीडियो साझा किए। इन वीडियोज में भीड़ मंदिर के बुनियादी ढांचे को नष्ट करती नजर आ रही है। इतना ही नहीं मंदिर की मूर्तियों के साथ भी तोड़-फोड़ मचाई गई है। एक अन्य वीडियो में उन्मादी भीड़ मंदिर से सटी सड़क पर लाठी-डंडे लेकर दौड़ती दिख रही है। रमेश कुमार ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट की और कहा कि शुरुआत में पुलिस की धीमी प्रतिक्रिया के कारण स्थिति और मंदिर को नुकसान पहुंचा है। बता दें कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के पूजा स्थल पर हमलों में वृद्धि हुई है। अपने अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करने में असफल पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा बार-बार फटकार भी लग चुकी है।