भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत

भारतीय मूल की सरला विद्या बनीं अमेरिका में संघीय जज, बाइडन ने किया मनोनीत

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारतीय-अमेरिकी नागरिक अधिकार वकील सरला विद्या नगाला को कनेक्टिविटी राज्य का संघीय न्यायाधीश मनोनीत किया है। अभी इस नियुक्ति की सीनेट से मंजूरी ली जाएगी। सरला दक्षिण एशिया की पहली महिला होंगी, जो इस पद पर नियुक्त होंगी। सरला वर्तमान में यूएस अटार्नी आफिस में बड़े अपराधों के मामलों को देख रही हैं। उन्होंने 2008 में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के बर्कले स्कूल आफ ला से स्नातक की उपाधि और ज्यूरिस डाक्टर की डिग्री प्राप्त की थी। सरला को कानूनी संस्थाओं में रहने का लंबा अनुभव है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजरायल और मैक्सिको सहित नौ देशों में नए राजदूतों की नियुक्ति की है। इनमें रिटायर्ड एयरलाइन पायलट सीबी सुलेनबर्गर भी शामिल हैं। सुलेनबर्गर ने एक उड़ान के दौरान तकनीकी खराबी आने के कारण यात्री विमान को हडसन नदी पर सुरक्षित उतारा था, वह इसमें विमान में सवार सभी यात्रियों की जान बचाने में सफल हुए थे। इन सभी राजनयिकों को पहले सीनेट की मंजूरी प्राप्त करनी होगी। इनमें विदेश मंत्री एटोंनी ब्लिंकनकी वरिष्ठ सलाहकार जूली ज्यून चुंग को श्रीलंका का राजदूत नियुक्त किया गया है।


पहले मुस्लिम अमेरिकी को फेडरल जज बनाने की सीनेट में पुष्टि

अमेरिकी सीनेट ने ऐतिहासिक नामांकन को मंजूरी देते हुए पाकिस्तानी-अमेरिकी जाहिद कुरैशी को न्यूजर्सी की जिला अदालत का जज बना दिया है। इसी के साथ अमेरिकी इतिहास में वह पहले मुसलमान हैं जो फेडरल जज बने हैं। 46 वर्षीय कुरैशी के पद की पुष्टि के लिए सीनेट ने 81-16 के लिए वोट किया।अमेरिका के पहले मस्लिम अमेरिकी को फेडरल जज बनाने के लिए 34 रिपब्लिकनों ने भी डेमोक्रेटों का साथ दिया है।

 
मौजूदा समय में न्यूजर्सी की जिला जज के मजिस्ट्रेट कुरैशी जल्द ही बतौर एक फेडरल जज शपथ लेंगे। सीनेट में वोटिंग से पहले सीनेट विदेशी संबंधों की कमेटी के अध्यक्ष व सीनेटर राबर्ट मेनडेज ने अपने भाषण में कहा कि जज कुरैशी ने अपने पूरे कार्यकाल में देश की सेवा की है। उनकी कहनी न्यूजर्सी की विविधता और अमेरिका में कुछ भी संभव होने की विधा को बताती है। मेनडेज ने बताया कि उनके माता-पिता बतौर आव्रजक एक बेहतर जिंदगी की तलाश में पाकिस्तान से यहां आए थे। कुरैशी की बतौर जज नियुक्ति होने से पहले वह रिकर डैनजैंग सफेदपोश क्रिमिनल डिफेंस और जांच समूह के अधिकारी बनेंगे।


पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान में हिंदू धार्मिक स्थल पर हमले से इलाके में तनाव

पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग क्षेत्र में उन्मादी भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की घटना के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसे देखते हुए इलाके में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी गई है। रहीम यार खान जिला पुलिस के प्रवक्ता अहमद नवाज ने बताया कि पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने इस घटना के वीडियो साझा किए। इन वीडियोज में भीड़ मंदिर के बुनियादी ढांचे को नष्ट करती नजर आ रही है। इतना ही नहीं मंदिर की मूर्तियों के साथ भी तोड़-फोड़ मचाई गई है। एक अन्य वीडियो में उन्मादी भीड़ मंदिर से सटी सड़क पर लाठी-डंडे लेकर दौड़ती दिख रही है। रमेश कुमार ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट की और कहा कि शुरुआत में पुलिस की धीमी प्रतिक्रिया के कारण स्थिति और मंदिर को नुकसान पहुंचा है। बता दें कि हाल के वर्षों में, पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के पूजा स्थल पर हमलों में वृद्धि हुई है। अपने अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करने में असफल पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा बार-बार फटकार भी लग चुकी है।