अंतर्राष्ट्रीय

पुतिन ने भारत आने के अपने प्लान को किया रद्द ,G20 Summit में नहीं होंगे शामिल

रूस के राष्ट्रपति पुतिन को लेकर क्रेमलिन की ओर से बड़ी समाचार सामने आई है रायटर ने शुक्रवार को क्रेमलिन के हवाले से कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर की हिंदुस्तान में चल रहे जी20 शिखर सम्मेलन में पर्सनल रूप से भाग लेने की कोई योजना नहीं है यानि वह पर्सनल रूप से इस सम्मेलन में भाग लेने के लिए सितंबर में दिल्ली नहीं आएंगे हिंदुस्तान जी-20 की अध्यक्षता कर रहा है नयी दिल्ली में 8 से 10 सितंबर तक जी-20 सम्मेलन का आयोजन किया गया है इस दौरान जी-20 के लगभग सभी राष्ट्र इसमें भाग लेने के लिए दिल्ली आ रहे हैं मगर पुतिन ने हिंदुस्तान आने के अपने प्लान को रद्द कर दिया है

अंतरराष्ट्रीय मीडियो रिपोर्टों में बोला गया है कि पुतिन पर यूक्रेन में युद्ध अपराधों का इल्जाम लगाते हुए अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक कोर्ट (आईसीसी) ने  गिरफ्तारी वारंट जारी किया है इसका मतलब यह है कि विदेश यात्रा करते समय उन्हें अरैस्ट किए जाने का खतरा है इस हफ्ते उन्होंने दक्षिण अफ़्रीका में उभरती अर्थव्यवस्थाओं वाले समूह ब्रिक्स के नेताओं की एक सभा में भी पर्सनल रूप से नहीं, बल्कि वीडियो लिंक के ज़रिए भाग लिया था ऐसे में आसार जताई जा रही है कि हिंदुस्तान में चल रहे जी-20 सम्मेलन में भी वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये ही हिस्सा ले सकते हैं अभी क्रेमलिन ने पर्सनल रूप से जी-20 में शामिल होने के लिए पुतिन के हिंदुस्तान आने की आसार को लेकर दृढ़ता से इनकार किया है

वैगनर ग्रुप का भी हो सकता है डर

वैसे तो बताया जा रहा था कि पुतिन जी-20 में भाग लेने जरूर आएंगे वह दक्षिण अफ्रीका के ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भी शामिल होने के लिए जाने वाले थे मगर दक्षिण अफ्रीका आईसी का सदस्य है इसलिए पुतिन के वहां जाने पर, उस पर उनकी गिरफ्तारी का दबाव बनता जबकि बारत आइईसी का सदस्य नहीं है इसलिए पुतिन को हिंदुस्तान में जी-20 सम्मेलन में शरीक होने के आने के लिए कोई खतरा नहीं था इसीलिए पुतिन ने हिंदुस्तान आने से अब तक इनकार नहीं किया था मगर अभी दो दिन पहले ही पुतिन से बगावत करने वाले रूस की निजी सेना वैगनर ग्रुप के चीफ येवगिनी प्रिगोझिन की विमान हादसे में मृत्यु हो गई है वैगनर ग्रुप इसे षड्यंत्र बता रहा है उसने प्रिगोझिन की मृत्यु का बदला लेने की धमकी भी दी है बोला जा रहा है कि एक वजह ये भी हो सकती है कि पुतिन सुरक्षा की दृष्टि से ऐसे हालात में विदेश यात्रा करने से बचना चाह रहे हैं

Related Articles

Back to top button